कैसा हो कैंसर में आहार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 17, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कैंसर का पड़ता है भूख पर असर।
  • ऐसे में पोषक आहार होता है जरूरी।
  • प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स लें।
  • तरल पदार्थ लेना होता है आसान।

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका मरीज के सामान्य स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर पडता है। इतना ही नहीं, कैंसर के इलाज के चलते मरीज के आहार पर भी बुरा असर पडता है। इलाज पूरी तरह असरदार हो, इसके लिए जरूरी है कि आहार में कुछ सावधानियां बरती जाएं। कैंसर के रोगियों की डाइट उनके स्वास्थ्य के हिसाब से कैसी होनी चाहिए, आइए जानें।

पोषण की कमी

कैंसर कई तरह से मरीज के आहार पर बुरा प्रभाव डालती है। आम तौर पर कैंसर के मरीजों की भूख मिट जाती है। यह सबसे सामान्य समस्या है। इसके परिणामस्वरूप आहार की मात्रा और आवश्यक पोषक पदार्थो जैसे कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, वसा और खनिज लवण आदि की कमी आ जाती है। कैंसर के बहुत से मरीजों का आहार इसलिए भी कम हो जाता है, क्योंकि बीमारी उनके पाचन तंत्र के विभिन्न अंगों जैसे इसोफैगस, पेट, छोटी या बडी आंत, लीवर, गाल ब्लैडर या पैंक्रियाज को प्रभावित कर देती है। कई मरीजों की आंत के अंदर रुकावट उत्पन्न होने से खाने के दौरान दर्द, मरोड और कभी-कभी उल्टी की समस्या हो जाती है। मरीज का वजन घट जाता है।

cancer in hindi

क्या खाएं

ऐसे मरीजों को पोषक आहार लेना चाहिए ताकि पोषण संबंधी जरूरतें पूरी हों। कार्बोहाइड्रेट से भरपूर आहार एक अच्छा उपाय है। हालांकि मधुमेह के रोगियों को इस मामले में सतर्क रहना चाहिए। कार्बोहाइड्रेट युक्त आहार लेने के बाद तुरंत ऊर्जा मिलती है और पाचन सही होता है। हालांकि इनका सीमित मात्रा में सेवन करना चाहिए और डायबिटीज की समस्या से पीडित लोगों को इनसे परहेज करना चाहिए। मांसपेशियों के विकास और काम के लिए ऊर्जा प्राप्त करने के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी है।  अंडा, मीट, मसूर की दाल, मटर, बींस, सोया और नट्स आदि प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं। ऐसे मरीजों में विटामिन और मिनरल्स की कमी आम समस्या है, क्योंकि इन दोनों तत्वों की मांग अधिक और आपूर्ति कम होती है।

तरल पदार्थ

कैंसर के मरीजों को पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ का सेवन करना जरूरी है। इससे डीहाइड्रेशन का डर नहीं रहता है और उनके संपूर्ण स्वास्थ्य की स्थिति बेहतर होती है। अधिक तरल पदार्थ लेने से उचित मात्रा में यूरिन निकलता है और शरीर से विषैले पदार्थ भी निकल जाते हैं। यह भी महत्वपूर्ण है कि आसानी से पचने वाले आहार लें। तली-भुनी, बहुत मसालेदार या फिर अधिक ठोस आहार न लें।

Diet in hindi

 

फीडिंग ट्यूब से आहार

कैंसर के बहुत से मरीजों को फीडिंग ट्यूब से आहार दिया जाता है, क्योंकि वे सामान्य रूप से आहार नहीं ले सकते हैं। यह ट्यूब नाक के जरिये या फिर सीधे पेट में डाला जाता है। ट्यूब से केवल तरल आहार दिया जाता है। ट्यूब के आकार के अनुसार भी आहार तय किए जाते हैं। ट्यूब छोटा हो तो बहुत पतला तरल आहार दिया जाता है और लंबा और उसकी सूराख मोटी हो तो कुछ मोटा तरल आहार भी दे सकते हैं।

कैंसर का इलाज मुश्किल जरूर है लेकिन अगर आप आहार का ध्यान भी रखेंगे तो मरीज को रिकवर होने में कम वक्त लगेगा।

Image Source - Getty Images

Read More Articles on Cancer in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES16 Votes 17428 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर