मिसकैरेज का निदान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 29, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्भपात के लक्षणों के जरिए कारणों का पता लगा सकते हैं।
  • धूम्रपान व एल्कोहल का सेवन गर्भपात का कारण हो सकता है।
  • पेल्विक परिक्षण के जरिए गर्भपात के बारे में पता कर सकते हैं।
  • अल्ट्रासाउंड के जरिए भ्रूण की सेहत के बारे में जाना जा सकता है।

गर्भपात का कोई निश्चित कारण नहीं होता है। हर महिला में इसके अलग लक्षण हो सकते हैं। अकसर इन समस्याओं की पहचान नहीं हो पाती है लेकिन कुछ सामान्य कारण होते हैं जो गर्भपात के लिए जिम्मेदार होते हैं।

Diagnosis Of Miscariageआमतौर पर गर्भावस्था के पहले तीन महीनों में क्रोमोसोमल आनुवंशिक असामान्यता होने के कारण होता है। यह एक जटिल समस्या है एक बच्चे का डीएनए के जीन्स में थोड़ी सी त्रुटि के कारण पैदा हो सकती है जीन्स थोडी सी त्रुटि के कारण दोषपूर्ण अंडा या शुक्राणु या विकास और भ्रूण के विभाजन के समय का परिणाम असामान्य अंग आदि परिणाम प्रकट होते हैं ये मृत्यु के गंभीर परिणाम के लिये पर्याप्त हैं।

गर्भपात के होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे धूम्रपान , शराब पीना या फिर गर्भ निरोध दवाएं लेना आदि। गर्भपात में महिला के शरीर से भ्रूण का कुछ हिस्सा, अपरा ( प्लेसेंटा ) और शिशु के आसपास का तरल पदार्थ बाहर निकल जाता है। लगभग 15 से 20 प्रतिशत तक गर्भावस्था का अंत गर्भपात ही होता है। कई बार यह एक औरत के पहचानने से पहले की वो गर्भवती है, उससे पहले ही उसका गर्भपात हो जाता है। जानें गर्भपात का निदान कैसे किया जा सकता है-

  • यदि गर्भपात का संदेह हो तो डॉक्टर पेल्विक का परीक्षण गर्भाशय के आकर कि जांच करेगा ताकि पता लग सके कि ग्रीवा खुला है या बन्द है। यदि गर्भपात होने वाला है तो ग्रीवा आमतौर पर खुला होता है और भ्रूण के ज्यादा समय तक जीवित नहीं रह पाएगा। यदि गर्भपात पहले ही हो चुका है तो ग्रीवा या खुला या बंद हो सकता है, यह इस पर निर्भर करता है कि गर्भावस्था के सभी ऊतक बच्चेदानी से बाहर निष्कासित हो गए हों।
  •  आपके खून की जांच खून के प्रकार को जांचने के लिय कि जाती है और मानव क्रोनिक गोनाएडो ट्रओपीन ( बीटा- एच सी जी ) , जब आप गर्भवती होती हैं तो एक हार्मोन प्लासेन्टा से आपके शरीर में मौजूद होता है। अगर आपके सिस्टम में हार्मोंस कि मात्रा कम है और तो यह संकेत है कि आपका गर्भपात हो सकता है। अल्ट्रा साउंड से हर मामले में भ्रूण के होने की पहचान की जा सकती है , इससे यह पता लगाया जा सकता है कि भ्रूण के दिल कि धड़कन है या भ्रूण की मृत्यु हो चुकी है।
  •  यदि ऊतक आपकी योनी से बाहर चला गया है तो उसे आप किसी ग्लास या प्लास्टिक के कंटेनर में सील करके अपने डॉक्टर के पास ला सकती हैं इससे डॉक्टर को ऊतक का परीक्षण करने में मदद मिलेगी। कई मामलों में ऊतक को माइक्रोस्कोप के द्वारा परीक्षण करने के लिए प्रयोगशाला में भेजा जाता है। इससे गर्भपात के कारणों का पता लगाया जा सकता है।

 

 

Read More Articles On Miscarriage In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES12 Votes 45268 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर