मधुमेह के साथ हो सकती है गुर्दे की समस्या

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 04, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मधुमेह के रोगियो मे डायबिटिक नेफ्रोपैथी का खतरा ज्यादा।
  • डायबिटिक नेफ्रोपैथी से गुर्दे की क्षति की रहती है संभावना।
  • लगातार सिरदर्द, अनावश्यक थकान इसके प्रमुख लक्षण।
  • इसके बचाव मे डायलिसिस व गुर्दा प्रत्यारोपण कारगर।

डायबिटीज़ के मरीज़ों को डायबिटिक नेफ्रोपैथी जैसी स्थिति से भी गुज़रना पड़ सकता है। हालांकि अभी तक इस बात का निश्चित रूप से पता नहीं चल पाया है कि कुछ मरीज़ों में ऐसी समस्याएं क्यों आती है। डायबिटिक नेफ्रोपैथी में डायबिटीज़ होने के साथ-साथ गुर्दे की क्षति होने लगती है।
हमारे गुर्दों में बहुत सी सूक्ष्म रक्त वाहिकाएं होती हैं, जो रक्त को साफ करने का काम करती है। डायबिटीज़ के कारण अधिक शुगर की मात्रा इन रक्तै वाहिकाओं को नुकसान पहुंचाती हैं और धीरे-धीरे गुर्दा काम करना बंद कर देता है।

Diabetes in Hindi


डायबिटिक नेफ्रोपैथी के लक्षण

इस बीमारी से ग्रस्‍त मरीज को अधिकतर समय थकान का अहसास होता रहता है। उसका किसी काम में जी नहीं लगता और न ही किसी काम करने की ऊर्जा ही उसमें रहती है।सिरदर्द की शिकायत डायबिटिक नेफरोपैथी के मरीज को होने वाली एक और आम शिकायत है। अगर आपको डायबिटीज है और आपके सिर में लगातार दर्द रहता है तो आपको डायबिटीज नेफरोपैथी की जांच अवश्‍य करवानी चाहिए।खराब हाजमा भी डायबिटिक का एक लक्षण है। यूं तो हाजमा कई कारणों से खराब हो सकता है, लेकिन डायबिटीज के मरीज की पाच‍न क्रिया अगर सही प्रकार से काम नहीं कर रही हो, और ऐसी समस्‍या लंबे समय तक बनी रहे, तो आपको बिना देर किए अपने डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए।

Diabetes in Hindi


डायबिटिक नेफ्रोपैथी से बचाव

कम कैलोरी वाले आहार लें और व्यायाम करें। हृदय समस्याओं से भी बचें। धूम्रपान और तंबाकू का सेवन बिलकुल ना करें। वज़न नियंत्रित रखें। डायबिटिक नेफ्रोपैथी से बचाव के लिए डायलिसिस जैसी प्रक्रिया या गुर्दा प्रत्यारोपण का सहारा तब लेना पड़ता है, जबकि गुर्दे पूरी तरह से खराब हो जाते हैं। हालांकि यह सुरक्षित प्रक्रिया होती है, लेकिन इनमें सावधानियां बरतनी बेहद आवश्यक हैं। अगर आप डायबि‍टिक हैं, तो इन समस्याओं के विषय में भी जानकारी रखें और संभावित जांच कराते रहें।

डायबिटीज से पीडि़त हर व्‍यक्ति को किडनी संबंधी शिकायत भी नहीं होती। लेकिन, किसी के परिवार में अगर इस बीमारी का इतिहास रहा है, तो व्‍यक्ति को इस बीमारी से ग्रस्‍त होने की आशंका अधिक होती है।

 

ImageCourtesy@gettyimages

Raed More Article on Diabetes in hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES9 Votes 12659 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर