धूम्रपान करने के क्या कारण है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 23, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

dhomrapaan karne ke kya karan hai

जो  लोग धूम्रपान करते हैं उनके पास इसके कई सारे कारण होते हैं। कुछ लोग कहते हैं कि वे थकान भगाने के लिए धूम्रपान करते है, कुछ कहते हैं कि वे स्टाइल के लिए सिगरेट पीते हैं। आश्चर्य की बात तो यह है कि सिगरेट के पैकेट पर ‘स्वास्थ्य के लिए हानिकारक’ लिखे होने के बाद भी लोग धूम्रपान करते हैं। धूम्रपान शुरु करने से पहले यह याद रखना चाहिए कि इसे शुरु करना तो आसान है लेकिन इसकी आदत होने के बाद इसे छोड़ना बहुत मुश्किल है। लोगों में सिगरेट पीने के कई कारण होते हैं जिसकी वजह से वे स्वस्थ्य चेतावनियों को अनदेखा कर धूम्रपान करते रहते हैं।

 

दोस्तों के कहने पर

 

ज्यादातर युवा अपने दोस्तों की वजह से धूम्रपान करते हैं। उनकी संगति ऐसी होती है जिसमें ज्यादातर धूम्रपान करते हैं और वे उन लोगों पर भी ऐसा करने का दबाव डालते हैं जो इसके आदि नहीं होते हैं।

 

थकान दूर करने के लिए

 

कई बार लोग धूम्रपान का सहारा थकान भगाने के लिए करते हैं। उनका मानना है कि धूम्रपान से आपके दिनभर की मानसिक व शारीरिक थकान दूर हो जाती है। जो लोग धूम्रपान के आदि होते हैं उनके लिए इसको छोड़ना बहुत मुश्किल हो जाता है।

 

मीडिया का प्रभाव

 

 

लोगों के जीवन पर मीडिया का काफी प्रभाव होता है। मीडिया धूम्रपान को इस तरह दिखाता है जिससे लगता है कि इससे लोग स्टाइलिश दिखते हैं। फिल्मों व टी.वी सीरियलों में बिना रोक टोक के धूम्रपान को खुलेआम दिखाया जाता है।


डिप्रेशन से बचने के लिए

 

कुछ लोग धूम्रपान के जरिए तनाव व दर्द को कम करने की कोशिश करते हैं। जो लोग डिप्रेशन व चिंता का शिकार होते हैं वे धूम्रपान के जरिए अपना मूड ठीक करते हैं। सिगरेट में पाए जाने वाले निकोटीन से दिमाग को  थोड़ी देर के लिए आराम जरूर मिलता है लेकिन इसके साथ आपके फेफड़ों पर इसका बुरा असर भी होता है।

 

वजन कम करने के लिए

 

कुछ लोगों का ऐसा मानना है  कि धूम्रपान के जरिए वजन कम किया जा सकता है । धूम्रपान से वे अपनी भूख को शांत करते है जिसकी वजह से वे काफी तैलीय आहार व स्नैक्स खा लेते हैं। लेकिन इस तरह से वजन घटाकर आप कई अन्य बीमारियों को न्यौता देते हैं।

 

अभिभावक के कारण

 

कभी कभी बच्चों के धूम्रपान की वजह उनके अभिभावक होते हैं। बच्चे हमेशा अपने अभिभावक की तरह ही दिखना चाहते हैं। बच्चे अपने माता-पिता को सिगरेट पीते हुए देखते हैं तो वे भी वे भी ऐसा ही करना शुरु कर देते हैं।

 

भावनात्मक सहयोग के लिए

 

जब लोगों के जीवन में किसी तरह की भावनात्मक समस्या होती है वे धूम्रपान के जरिए खुद को मजबूत बनाने की कोशिश करते हैं। किसी भी रिश्ते के टूटने या उसमें धोखा पाने के बाद लोग खुद को असहाय महसूस करते हैं। इससे बाहर निकलने के लिए वे धूम्रपान का सहारा लेने लगते हैं।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES4 Votes 12225 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर