दही से दूर होता है डिप्रेशन

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 31, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

dahi se dur hota hai depression

डिप्रेशन के शिकार लोगों के लिए अच्‍छी खबर है। अगर आप तनाव और अवसाद से बचना चाहते हैं तो दही का इस्‍तेमाल शुरू कर दें। यूसीएलए (यूनविर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, लॉस एंजिलिस) स्‍कूल ऑफ मेडिसीन की ओर से हुए ताजा अध्‍ययन में यह बात सामने आई है कि दही का इस्‍तेमाल तनाव और अवसाद जैसी मानसिक बीमारियों से निपटने में मददगार हो सकता है। इसके मुताबिक दही में मौजूद प्रोबायोटिक मस्तिष्‍क पर असर करता है जिससे बार-बार मूड में बदलाव आने की समस्‍या नही होती।

 

पूर्व में हुए अध्‍ययन में वैज्ञानिकों ने पाया था कि प्रोयबायोटिक वैक्‍टेरिया चूहों के मस्तिष्‍क पर अच्‍छा असर डालते हैं। लेकिन अब तक इनसानों के ऊपर इसके प्रमाण नहीं देखे गए थे। यह पहली बार है जब इनसानों के मस्तिष्‍क पर दही को असरदार पाया गया है।

 

शोधकर्ताओं ने बताया कि रोजाना दो बार दही का सेवन करने से मस्तिष्‍क की गतिविधियों में सुधार आता है, जिससे मानसिक बीमारियां नही सताती। प्रमुख शोधकर्ता डॉ. क्रिकेट तिलिश के मुताबिक, दही में मौजूद बैक्‍टीरिया आस-पास के माहौल के प्रति मस्तिष्‍क की प्रतिक्रिया क्षमता को प्रभावित करते हैं जिससे इनसान अवसाद या तनाव के घेरे में नहीं आता है।

 

पुख्‍ता नतीजे प्राप्‍त करने के लिए शोधकर्ताओं ने 18 से 53 वर्ष की स्‍वस्‍थ महिलाओं पर अध्‍ययन किया। प्रतिभागियों को तीन समूह की महिलाओं को फायदेमंद प्रोबायोटिक बैक्‍‍टीरिया युक्‍त दही का सेवन करने दिया गया। दूसरे समूह को अन्‍य डेयरी उत्‍पाद दिया गया जिसमें प्रोबायोटिक बैक्‍टीरिया नहीं थे। वहीं तीसरे समूह को किसी भी तरह के डेयरी उत्‍पाद से दूर रखा गया।




Read More Articles on Health News in hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES9 Votes 2712 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर