एरोबिक्स के दौरान चोट लगने पर ये करें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 18, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एरोबिक्स से ठीक होते हैं हृदय रोग, डायबिटीज आदि रोग।
  • हाई इम्पैक्ट एरोबिक्स से कई बार लग जाती गंभीर चोट।
  • द इलिओटीबिअल बैंड सिंड्रोम सबसे सामान्य चोट है।
  • शिन स्प्लिन्ट में पिंडली के भीतर होता है दर्द।

आज हर 5 में से 1 व्यक्ति हृदय रोग, डायबिटीज, उच्च रक्तचाप आदि ऐसी ही कई अन्य जानलेवा बीमारियों से ग्रस्त है। जिन लोगों को ये बीमारी है और जिन लोगों को बीमरी नहीं है वो भी सतर्क होकर एरोबिक को अपनी दिनचर्या में शामिल कर रहे हैं। लेकिन कई बार लोग एरोबिक्स इतना अधिक कर लेते हैं कि कई बार उन्हें चोट भी लग जाती है। कई बार हाई इम्पेक्ट होने के कारण एरोबिक्स के व्यायाम करने के दौरान आकस्मिक चोट लगना एक आम बात है ! सबसे आम चोटों में से कुछ का विवरण नीचे दिया गया है!

1. द इलिओटीबिअल बैंड सिंड्रोम (आई-टी-बी-एस)

द इलिओटीबिअल बैंड उस मोटे और रेशेदार जोड़नेवाले टिस्यू का एक आवरण है, जो कि हिप बोन और टेन्सर फैशीअ लते मसल से जुडा हुआ होता है ! यह नीचे जांघ के बाहरी भाग की ओर जाता है, और पिंडली की हड्डी की बाहरी सतह के भीतर जुड जाता है ! इसका कार्य घुटनों के जोड़ों को सीधा करना और हिप को एक तरफ मोडना है !

आई-टी-बी-एस के लक्षण

    * घुटनों को सीधा और मोड़ने के दौरान दर्द का एहसास होना और जब घुटने के बगल में दबाने से इस दर्द का और अधिक बढ़ जाना !
    * इलिओटीबिअल बैंड में कठोरता आना !
    * एरोबिक्स के व्यायाम करने के दौरान दर्द का अत्यधिक बढ़ जाना !
    * हिप को एक तरफ घुमाने में तकलीफ होना !

बचाव और उपचार

    * आराम कीजिए और कुछ समय के लिए एरोबिक्स व्यायाम करना बंद कर दीजिए !
    * जलन को कम करने के लिए संबंधित स्थान पर बर्फ लगाइए !
    * आई-टी बैंड को क्लास के बाद खींचे !
    * किसी स्पोर्ट्स इन्जरी स्पेशलिस्ट से परामर्श अवश्य लें !

 

2.शिन स्प्लिन्ट

पैर के निचले भाग के सामने (घुटने से नीचे टखनों तक) वाले भाग पर उठनेवाला दर्द शिन स्प्लिन्ट को दर्शा सकता है ! पैर के पिंडली की हड्डी (शिन बोन) में खिंचाव के कारण जलन होती है !

शिन स्प्लिन्ट के लक्षण

    * पिंडली के भीतर दर्द
    * व्यायाम करने के आरम्भ में दर्द का एहसास होना, और बाद में जैसे ही व्यायाम आगे बढ़ता है, दर्द का शांत हो जाना !
    * व्यायाम के बाद होनेवाला दर्द, जो कि अगली सुबह और भी अधिक बढ़ जाता हो !
    * सूजन आना (कभी कभी)
    * पैर के अंगूठे या पैर को नीचे की ओर मोड़ने में दर्द होना !

सेल्फ ट्रीटमेंट

    * अपने आप ठीक होने देने के लिए आराम कीजिए !
    * बर्फ लगाना !
    * पैर के निचले भाग की मांसपेशियों को तानना !
    * जूतों में ‘शाक ऐब्सॉर्बिंग इन्सोल्स’ को लगाएं और पैर के निचले भाग पर होनेवाले शाक को घटाएं !
    * किसी स्पोर्ट्स इन्जरी स्पेशलिस्ट से परामर्श अवश्य लें !

 

 

3.एचिलेस टेन्डओनिटीस

एचिलेस टेन्डओन टखने के पिछले भाग पर स्थित एक बड़ा टेन्डओन है, (एक जोड़नेवाला टिस्यू जो कि मांसपेशियों को हड्डी के साथ जोड़ता है) ! यह पिंडली की मांसपेशियों को एडी की हड्डी के साथ जोड़ता है और एरोबिक्स मूवमेंट के पुश ऑफ फेज के दौरान ताकत देता है !

लक्षण

    * व्यायाम करने के आरम्भ में दर्द का एहसास होना, और बाद में जैसे ही व्यायाम आगे बढ़ता है, दर्द का शांत हो जाना !
    * पीड़ा होना !
    * आराम करने से लाभ पहुँचना !
    * चलने के दौरान टेन्डओन में दर्द होना, खासकर सीढिया चढ़ने या पहाड़ी चढ़ने के दौरान!
    * यदि इसका समय पर उपचार नहीं किया गया, तो यह एक गंभीर चोट में परिवर्तित हो सकती है और इसका तब उपचार करना कठिन हो सकता है !

सेल्फ ट्रीटमेंट

    * आराम और बर्फ लगाना !
    * किसी स्पोर्ट्स इन्जरी स्पेशलिस्ट से परामर्श अवश्य लें !

 

 

4. स्ट्रेस फ्रेक्चर ऑफ द फीमर (जांघ) बोन

एरोबिक्स एक्टिविटी के दौरान जांघ में हल्का दर्द उत्पन्न होना !

लक्षण

    * जांघ के जगह में गहरा और हल्का दर्द !
    * जब जांघ को किसी बेंच या कुर्सी के किनारे पर रखा जाता है, तब जांघ का दर्द बढ़ जाता है !

सेल्फ ट्रीटमेंट

    * हाई इम्पेक्ट एरोबिक्स एक्टिविटी से आराम लें और तैरने या सायकल चलाने जैसे फिटनेस के तरीके को अपनाकर अपना फिटनेस को बरकरार रखें !
    * किसी स्पोर्ट्स इन्जरी स्पेशलिस्ट से परामर्श अवश्य लें !

 

स्नेपिंग हिप

यह एक ऐसी स्थिति है, जिसके कारण हिप के जोड़ के आसपास चटकने की आवाज़ आती है और चटकने जैसा महसूस होता है !

लक्षण

    * हिप के सामने चटकने जैसा एक एहसास होना !
    * कभी कभी चटकने की एक आवाज़ भी सुनाई दी जा सकती है !
    * आम तौर पर यह स्थिति दर्दनाक नहीं होती है !

सेल्फ ट्रीटमेंट

    * आराम करने से मदद मिल सकती है !
    * हिप और जांघ के आसपास की मांसपेशियों को स्ट्रेच करो !
    * किसी स्पोर्ट्स इन्जरी स्पेशलिस्ट से परामर्श अवश्य लें !

 

 

1. प्लान्टर फसकिटीस

प्लान्टर फसकिटीस जुड़े हुए टिस्यू का एक बैंड है, जो कि एडी की हड्डी से पैर के बॉल तक फैला रहता है !

लक्षण

    * जब दबाव डाला जाता है, तब छोटे चीरे विकसित हो जाते हैं और ये अकड जाते हैं, जिससे जलन और सूजन पैदा हो सकती है !
    * ऐसी स्थिति में आपको एडी में या पैर के आर्च में दर्द महसूस हो सकता है क्योंकि यह टिस्यू रात के दौरान कड़े हो जाते हैं !

सेल्फ ट्रीटमेंट

    * आराम कीजिए !
    * अपने पैरों को एक गोल्फ की गेंद या एक पानी से भरी बोतल पर घुमाते हुए स्ट्रेच कीजिए !
    * पैरों के लिए आरामदायक जूते या सेंडल पहने !
    * बर्फ लगाएं !
    * किसी स्पोर्ट्स इन्जरी स्पेशलिस्ट से परामर्श अवश्य लें !

 


2. ब्लिस्टरस

किसी भी एरोबिक्स व्यायाम को शुरू करने के दौरान छाले पढ़ना एक आम समस्या है ! बिना सही नाप के जूते या आपकी त्वचा के बगल में अत्यधिक नमी के कारण ब्लिस्टर की समस्या उत्पन्न हो सकती है ! इसीलिए ऐसे जूते पहने, जो कि सही नाप के हों और जो एरोबिक्स के लिए बने हों ! हमेशा मोज़े पहने, जिससे कि आपका पसीना सोखा जा सके !

सेल्फ ट्रीटमेंट

यदि समय पर छालों की समस्या पर ध्यान नहीं दिया जाता हैं तो यह एक गंभीर समस्या बन सकता है ! छालों को नियंत्रित करने के लिए और छालों से अपना बचाव करने के लिए नीचे लिखे गए सलाहों को अमल में लाएं !

    * एरोबिक्स के व्यायाम तुरंत बंद कर दें !
    * इसे एक बैंड-एड के साथ सुरक्षा दें ! उसे निकालने की कोशिश न करें और उसे पूर्ण रूप से ठीक होने दे !
    * यदि इससे लाभ नहीं मिलता है, तो किसी चिकित्सक से परामर्श लें !

 

 

3. एन्कल स्प्रेन

जब आप किसी भी स्टेप को करते समय अपनी एडी को अचानक घुमाते हो, तब मोच आ सकती है ! हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि आप कहाँ पर पैर रख रहे हो !

लक्षण

    * मोच होने पर बेहद दर्द होता है, और दर्द के साथ सूजन भी हो जाती है !

सेल्फ ट्रीटमेंट

    * आराम कीजिए और अपने पैर को अपने ह्रदय के स्तर के ऊपर उठाइए !
    * बर्फ का इस्तेमाल कीजिए !
    * कम्प्रेशन बैंडेज का उपयोग कीजिए !
    * किसी स्पोर्ट्स इन्जरी स्पेशलिस्ट से परामर्श अवश्य लें !

Write a Review
Is it Helpful Article?YES3 Votes 11993 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर