दांतों में गंदगी से होती है जानलेवा बीमारी, ऐसे करें मुंह की सफाई

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 25, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

मौखिक स्वास्‍थ्‍य अच्छा बनाये रखने का लाभ सिर्फ एक सुंदर मुस्कुराहट और ताजा सांस प्राप्त होना ही नहीं है बल्कि यह हमारे शरीर के सभी अंगों पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। हमारा मुख हमारे शरीर को मिलने वाले आवश्यक भोजन के लिये प्रवेश द्वार की तरह काम करता है। सिर्फ एक या दो नहीं बल्कि अनेक वैज्ञानिक अनुसंधान और रिपोर्ट अस्वस्थ मुंह से होने वाली गंभीर बीमारियों के चलते मानव जीवन को होने वाले खतरे की पुष्टि करते हैं।

इन बीमारियों में हृदय रोग और डायबिटिज जैसी गंभीर बीमारियां भी शामिल हैं। अक्सर 90 प्रतिशत रोगों के पहले लक्षणों का केवल यहीं से पता लगाया जा सकता है। रीजोव क्‍लीनिक की डॉक्‍टर प्रियंका गोयत बता रही हैं कि कुछ तरीकों का नियमित तौर पर पालन कर आप अपने दांतों की स्वच्छता सुनिश्चित कर सकते हैं, जिससे आप कई जानलेवा बीमारियों से बच सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: दांतों में लगे कीड़ों को तुरंत मार देगा घर में बना ये टूथपेस्‍ट

मौखिक स्वच्छता का नियमित ध्यान रखना

मौखिक स्वास्थ्य और दांतों की स्वच्छता बनाये रखने के लिये सबसे महत्वपूर्ण यह है कि आप मुंह और दांतों की स्वच्छता के लिये एक दिनचर्या बनायें और उसका घर पर नियमित तौर पर पालन करें। यह प्रभावी दिनचर्या दांतों से हानिकारक प्लॉक को दूर रखेगा और चिपचिपी बैक्टीरिया की परत को हटा कर दांत और मसूड़ों की सफाई करेगा।

आपकी दिनचर्या में दिन में दो बार ब्रश करना और प्रतिदिन रात में फ्लॉस्किंग करना प्राथमिकता होनी चाहिये। दांतों की अतिरिक्त सुरक्षा और देखभाल के लिये दांत मजबूत बनाने और मुंह की दुर्गंध को रोकने वाले माउथवॉश का प्रयोग किया जा सकता है।

इसे भी पढ़े: मुंह के छालें मिनटों में सही करती है छोटी इलायची

खाने की आदतों को नियंत्रित करना

शरीर में होने वाली किसी भी स्वास्थ संबंधी समस्या को दूर रखने के लिये खाने की आदतों पर नियंत्रण रखना बेहद जरूरी है। जैसा कि पूरे शरीर के स्वास्थ्य के लिये दांतों की उचित देखभाल एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है, हमें निश्चित रूप से ध्यान रखना चाहिए कि मुंह के माध्यम से हमारे शरीर में क्या प्रवेश कर रहा है। यदि कोई बेहद अम्लीय भोजन खाता है तो दांतों के ऊपर मौजूद इनेमल की परत को नुकसान पहुंचता है।

यहां तक की अधिक मीठे का सेवन जैसे डोनट्स, कैंडीज और अन्य मीठी चीजें मौखिक स्वच्छता को नुकसान पहुंचाती हैं, जिससे शरीर की क्रियाएं प्रभावित होती हैं। हानिकारक स्नैक्स और कैंडीज की बजाये हमें फलए दहीए चीज का सेवन करना चाहिये। मीठा स्वाद पाने के लिये बिना शूगर वाली गम को चबाने का प्रयास करें।

शरीर को नुकसान पहुंचाने वाली जीवन शैली से दूर रहें

मौखिक स्वच्छता बनाये रखने के साथ मानव जीवन के लिये खतरनाक ह्दय रोग और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों को दूर रखने के लिये धूम्रपान, अल्कोहल और तंबाकू के सभी तरह के उत्पादों का सेवन छोड़ देना बेहद लाभदायक है। असुरक्षित सेक्स करने से ह्यूमन पेपिलोमा वायरस के कारण आपको मुंह के कैंसर का खतरा हो सकता है। ओरल पियरसिंग कराने से भी परहेज करें।

क्योंकि दांतों में टूटन पैदा करने वाला इसका फैशनेबल चक जीभ के ऊतकों को भी नुकसान पहुंचाता है जिससे आगे चलकर मसूड़ों को नुकसान पहुंचता है। यदि किसी को दांत पीसने या भींचने की बुरी आदत है तो दांतो की सुरक्षा, जबाड़े की जोड़ों की मजबूती और उन्हें अधिक टूट फूट से बचाने के लिये तत्काल दंत चिकित्सक के पास जाना चाहिये।

नियमित अंतराल पर दंत चिकित्सक के पास जायें

बात जब मौखिक स्वास्थ बनाये रखने की आती है तो नियमित तौर पर दंत चिकित्सक के पास जाना आवश्यक हो जाता है। प्रोफेशनल आपको सिर्फ दांतों की सफाई और फ्लोसिंग की पेशेवर मद्द में ही नहीं करेंगे बल्कि आपको दांतों के क्षय और प्लॉक को दूर रखने के लिये विशेषज्ञ जानकारियां भी देंगे। उनके पास नियमित रूप से जाने से आपको दांतों की समस्या को शुरूआती दौर में ही पहचानने में मदद मिलेगी।

याद रखें कि समस्या की पहचान जल्दी होने से उपचार के दौरान होने वाला दर्द कम हो जाता है। इसलिये दर्द होने का इंतजार न करें और डेंटिस्ट के पास जायें। परफेक्ट चमकदार और दर्दरहित मुस्कुराहट के लिये डेंटिस्ट के साथ मासिक बैठक करें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Dental Health

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2052 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर