प्रसव पीड़ा का सामना कैसे करें

By  , विशेषज्ञ लेख
Apr 25, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • व्‍यायाम करने वाली महिलाओं को कम होती है प्रसव पीड़ा।
  • प्रसव के दौरान गरम पानी के शॉवर से मिलती है राहत।
  • दर्द का अंदाजा पहले से लगा पाना आसान नहीं होता।
  • कई तकनीक हैं जिनसे कम हो सकती है प्रसव पीड़ा।

प्रसव पीड़ा काफी कष्‍टप्रद होती है। कई महिलायें इस दर्द से इतना डरती हैं कि वे सीजेरिन करवाना अधिक बेहतर समझती हैं।

प्रसव पीड़ा यानी लेबर पेन कम करने के कई तरीके हैं। इनमें भी कुछ तो इस दर्द को इस हद तक कम कर देते हैं कि आपको लेबर पेन की पीड़ा का अहसास ही नहीं होता। इनमें से कुछ उपायों में दवाओं का उपयोग किया जाता है, तो कुछ में दवा की जरूरत नहीं पड़ती।

दर्द के अहसास और दर्द की प्रतिक्रिया काफी हद तक हमारी मानसिक स्थिति पर निर्भर करती है। तो, दर्द कम करने के कई गैर-औषधीय उपाय मानसिक ट्रेनिंग पर निर्भर करते हैं। इनमें से एक तकनीक लमाज (LAMAZE) है। एक अन्‍य तकनीक का नाम ब्रेडली (Bradley) है। ये दोनों तकनीक लेबर की समझ को बढ़ाती हैं जिससे बिना दवाओं के आपके माइंडसेट में बदलाव आता है और दर्द सहने की आपकी क्षमता बढ़ जाती है। ये तकनीक प्रसव के दौरान सांस लेने, रिलेक्‍स होने और सपोर्ट स्‍टाफ द्वारा मसाज करने आदि पर निर्भर होती हैं। ये चीजें प्रसव पीड़ा से आपका ध्‍यान दूर करती हैं। बात जब दर्द सहने की होती है तो सपोर्ट स्‍टाफ और परिवार की भूमिका काफी अहम हो जाती है। ब्रेडली तकनीक में आपका पति अथवा साथी प्रसव के दौरान आपकी सहायता करता है। इससे आप दर्द का कम तकलीफ के साथ सामना कर पाती हैं।


labour pain
वे महिलायें जो नियमित रूप से शारीरिक व्‍यायाम करती हैं, वे प्रसव पीड़ा का उन महिलाओं की अपेक्षा अधिक आसानी से सामना कर लेती हैं, जो व्‍यायाम नहीं करतीं। एंटेनेटल क्‍लास में आपको कई व्‍यायाम कराये जाते हैं, जो आपकी प्रसव पीड़ा को कम करने में मदद करते हैं।

प्रसव के दौरान, सांसों की गति पर ध्‍यान देकर आप प्रसव पीड़ा की अनुभूति को कम कर सकती हैं। सांस लेने का कोई निश्‍चित तरीका नहीं है। प्रसव के दौरान, आप जिस भी प्रकार से सांस लेने में सहज हों, आप उसे कर सकती हैं। ऐसा कोई एक तरीका नहीं है, जो हर किसी को मदद कर सके।

पॉश्‍चर और पोजीशन बदलने, पैदल चलने से भी महिला को प्रसव के दौरान काफी आराम मिलता है। गुरुत्‍वाकर्षण भी कुछ हद तक प्रसव की प्रक्रिया को आसान बनाता है। यदि फ्लूड्स अथवा दर्द को मापने के लिए आपको केबल्‍स लगायी गयी हैं, तो आपके लिए चल-फिर पाना संभव नहीं होगा।

कुछ महिलाओं को प्रसव के दौरान पानी से काफी आराम मिलता है। प्रसव के दौरान गर्म पानी से शॉवर लेने या गर्म पानी के टब में नहाने से पीड़ा को कम करने में काफी हद तक मदद मिलती है।

सम्‍मोहन, योग, ध्‍यान, संगीत सुनना आदि कुछ अन्‍य गैर-औषधीय तरीके हैं, जिनसे प्रसव की पीड़ा कम की जा सकती है।

 

labour pain

बेशक, ये गैर-औषधीय तरीके आपको प्रसव पीड़ा का बेहतर ढंग से सामना करने के लिए तैयार करते हैं, लेकिन दवाओं के मुकाबले ये कम कारगर होते हैं। तो, ऐसी महिलायें जिन्‍हें प्रसव पीड़ा के नाम से ही डर लगता है, वे इन उपायों के बारे में विचार कर सकती हैं। प्रसव के दौरान वे किसी भी समय इन उपायों को अपना सकती हैं।


एन्‍टोनोक्‍स जो निट्रोरस ऑक्‍साइड और ऑक्‍सीजन का मिश्रण है, एक जांची-परखी दवा है। इस दवा से बनने वाली गैस आपको दर्द में राहत देने का काम करेगी। प्रसव के दौरान जब भी आपको यूटेराइन संकुचन होने लगे और आपको दर्द का अहसास शुरू हो, आप इस दवा का सेवन कर सकती हैं। यह प्रसव के दौरान आजमायी जाने वाली सबसे सामान्‍य प्रक्रिया है।

एपिडूरेल लेबर एनाल्‍गेसिया (Epidural labour analgesia) जिसे आमतौर पर पेनलेस लेबर कहा जाता है, भी प्रसव पीड़ा से काफी हद तक आराम दिलाती है। इस प्रक्रिया में केथिएटर (मूत्रशलाका) को आपकी पीठ पर रखा जाता है। इसी केथिएटर के जरिये पूरी प्रसव प्रक्रिया के दौरान दर्द निवारक दवा महिला के शरीर में पहुंचायी जाती है। लेबर पेन को कम करने का यह सबसे प्रभावी तरीका है। इस उपाय को आजमाने वाली लगभग हर महिला इससे संतुष्‍ट नजर आयी।

यहां यह बात याद रखने वाली है कि यह पता लगाना बेहद मुश्किल है कि किस महिला को किस उपाय से प्रसव पीड़ा में राहत मिलेगी। इसके साथ ही दर्द की तीव्रता का अंदाजा भी प्रसव से पहले नहीं लगाया जा सकता। तो, जैसे ही आपको प्रसव पीड़ा शुरू हो आप इसका अंदाजा लगाना शुरू कर दें। यदि आप इसे सह सकती हैं, तो उसी मैथर्ड के साथ टिकी रहें। कई महिलायें गैर-औषधीय तरीकों को अपनाती हैं, लेकिन दर्द सहनशक्ति से बाहर होने पर वे दूसरे तरीके अपनाने से भी नहीं झिझकतीं। अपने डॉक्‍टर से प्रसव पीड़ा के दौरान दर्द से राहत दिलाने वाले विभिन्‍न तरीकों के बारे में बात करें।
तो, हम आपके दर्द रहित और आनंददायक प्रसव की कामना करते हैं।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES168 Votes 11886 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर