कोला पीने से कैंसर का खतरा!

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 29, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!


cola peene se cancer ka khatraकोक और पेप्‍सी पीने के शौकीनों के लिए यह खबर चौंकाने वाली हो सकती है। अभी तक कोक और पेप्‍सी को मोटापे की वजह माना जाता था, लेकिन ताजा जानकारी तो और भी ज्‍यादा डराने वाली है। पता चला है कि कोला पीने से कैंसर भी हो सकता है। क्‍योंकि, कोक और पेप्‍सी को बनाते समय ऐसे पदार्थ का इस्‍तेमाल किया जाता है जिसका सेवन करने से कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है।

 

कुछ महीने पहले अमेरिका में कोक और पेप्सी बनाने वाली कंपनियों ने इन पेय पदार्थों को बनाने के तरीके में बदलाव लाने की बात कही थी। लेकिन, लोगों को इसके बावजूद इसके स्‍वाद का फर्क मालूम नहीं पड़ा। कोका कोला और पेप्सी बनाने वाली कंपनियां ऐसा सिर्फ इसलिए करेंगी जिससे कि इनके बोतल पर उन्हें कैंसर से जुड़ी एक चेतावनी ना छापनी पड़े।

 

अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य के मुताबिक कोक और पेप्सी में ऐसे पदार्थ का इस्तेमाल किया जाता है जिससे कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है। राज्य के कानून के मुताबिक या तो कंपनिया अपने पेय में इस पदार्थ की मौजूदगी की चेतावनी बोतल पर छापें या पेय बनाने का तरीका बदलें। इसलिए कंपनियों ने कैलिफर्निया राज्य में अपनी रेसिपी बदल दी है और इसे पूरे अमेरिका में लागू कर दिया गया है। 

 

पेय बनाने के नए तरीके में कोका कोला और पेप्सी का रंग लाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाला पदार्थ (4-मिथाइलीमिडाजोल) की मात्रा कम की जाएगी। एक शोध के मुताबिक इस पदार्थ के सेवन से चूहों में कैंसर का संबंध तो साबित हुआ है लेकिन इससे मनुष्यों के स्वास्थ्य को खतरे की पुष्ट नहीं हुई है। अमेरिका के फूड एन्ड ड्रग ऐडमिनिस्ट्रेशन का दावा है कि शोध में इस पदार्थ को जिस मात्रा में चूहों को दिया गया है, उस स्‍तर तक पहुंचने के लिए एक व्‍यक्ति को कोक या पेप्‍सी के 1 हजार बॉटल पीनीं पड़ेंगी। 

 

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES2 Votes 12368 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर