चिकनगुनिया को रोकने के उपाय

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 05, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

चिकनगुनिया का वायरस काफी खतरनाक हो सकता है। और यह बुखार होने के बाद काफी तकलीफ होती है। लेकिन, वो कहते हैं ना, इलाज से सावधानी भली। तो, बीमारी का इलाज करने से अच्‍छा है कि कुछ जरूरी बातों का ध्‍यान रख हम इस बीमारी को दूर रखें।


मच्‍छर मारने के लिए धुआं छिड़कता व्‍यक्तिकोई नहीं चाहता कि उसके घर या आसपास बीमारी का साया हो। हर कोई खुशहाल जीवन व्यतीत करना चाहता है। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि बीमारियों को दूर करने के हर संभव उपाय अपनाये जायें।

मौसम के बदलते ही नई-नई बीमारियां पनपने लगती हैं जिसके बचाव के लिए पहले से ही तैयार रहना चाहिए न कि बीमारी आने के बाद उसका उपचार किया जाए। वर्तमान समय में डेंगू और चिकनगुनिया जैसी महामारियों का बोलबाला है। कोई भी नहीं चाहेगा कि वह इन भयंकर बीमारियों का शिकार हो। चिकनगुनिया वायरल को थोड़ी सी सावधानी बरतकर रोका जा सकता है।

 

चिकनगुनिया वायरस से कैसे बचें

 

  • घरों में पाइरेथ्रम घोल का छिड़काव करना चाहिए। साथ ही आसपास के क्षेञ में मेलाथियॉन का छिड़काव करवाया जाए।
  • मादा एडिस के प्रजनन को रोकने के लिए अपने घर और आसपास सफाई रखनी जरूरी है।
  • पानी की टंकियों और बर्तनों का ढक्कन कस कर बंद रखें। और व्यर्थ के सामान, जैसे बर्तन, टायर, नारियल के छिलके आदि को या तो नष्ट कर दें या इनमें पानी जमा न होने दें।
  • कूलर, पानी के अन्य भण्डारण चीजों को सप्ताह में एक बार जरूर साफ करके सुखाएं। अगर ऐसा सम्‍भव न हो, तो सप्‍ताह में एक बार उसमें मिट्टी का तेल, कीटनाशक दवाई आदि का उपयोग करें।
  • आपके आसपास का माहौल हाइजनिक होना चाहिए। कमरा खुला हवादार हो लेकिन आसपास मच्छर न हों।
  • घर में पालतू पशु है तो उनका पीने का पानी समय-समय पर बदलें।
  • मच्छरों से बचाव के लिए मच्‍छरदानी लगाकर सोएं।
  • एडिस मच्छर ज्यादातर दिन में काटता है, इसलिए शरीर को पूरा ढंक कर रखें। अच्‍छा रहेगा अगर आप पूरी आस्‍तीन वाली शर्ट पहनें।

चिकनगुनिया से ग्रसित रोगी क्या करें

 

  • अपने आसपास और घर में सफाई रखने के अलावा रोगी को अपनी साफ-सफाई पर भी खूब ध्यान देना चाहिए।
  • चिकनगुनिया वायरल के पता लगने के बाद पूरी तरह से बेड रेस्ट करें।
  • डॉक्टर की सलाह को मानें यदि डॉक्टर हल्का–फुल्का व्यायाम करने के लिए कहे तो वह भी करे।
  • हेल्दी डाइट के साथ ही विटामिन 'सी' और प्रोटीन लें और हाई कैलोरी के फूड का इस्तेमाल करें।
  • चिकनगुनिया के दौरान अतिरिक्त देखभाल की जरूरत होती है।
  • ऐसे में सकारात्मसक सोच होनी बहुत जरूरी है जो भी खाएं खुशी-खुशी खाएं।
  • घर का वातावरण खुशनुमा रखें। 
  • चिकनगुनिया से ग्रसित होने पर ज्‍यादा लोगों से न मिलें खासकर उन लोगो से जिन्हें खांसी-जुकाम की शिकायत है।

 

Read More Articles on Chikungunya in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES6 Votes 14205 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर