चिकनपाक्स से हुई मौतों की संख्या में कमी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 03, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Chickenpox childयूएस में चिकनपोक्स की वजह से  हुई मौतों की संख्या में १९९५ से ८८ % गिरावट आई है  जैसा की एक नया अध्ययन बताता है जो की सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल द्वारा किया गया था ।इस साल वेरिसेला टीकाकरण अभ्यान शुरू हुआ था और इसका बड़ी मात्रा में प्रयोग की ही वजह से यह रोग आज सफलतापूर्वक नियंत्रण में है ।बच्चों और किशोरों में १९९५ से चिकनपोक्स के द्वारा मौत का निवारण ९७ % तक हो चुका है । यह अध्ययन यूएस के राष्ट्रीय आंकडो का मूल्यांकन पर आधारित है  जिसमे की बिमारी के कारण हुई मौत के आंकड़े लिए गए थे जो की साल २००२ से २००७ तक के बीच के हैं।


पहले के अध्ययन जो की इन आंकड़े पर किये गए हैं जिसमे की टीकाकरण के पहले ६ साल के आंकड़े लिए गए थे ( १९९५ से २००१ तक) बताते हैं की चिकनपोक्स के द्वारा हुई मौतों की संख्या में ६६ % तक की कमी आई है  ।शोधक यह कहते हैं की टीकाकरण अभियान ने पिछले दशक में बहुत ही बड़े  इलाके को प्राभावित किया है  ।पहले १२ साल में वेरिसेला टीकाकरण अभियान में टीके की एक मात्रा दी जाती थी। जिसकी वजह से इस रोग की वजह से हो रही मौतों की वार्षिक म्रत्यु दर  ८८ % गिर गयी है ।


शोधक यह भी कहते हैं की एक खुराक वेरिसेला टीकाकरण अभियान की किफायती कीमत शोधको की अपेक्षा से कई गुना आगे निकल गयी हैं ।इस टीके के आने से पहले १०० मौते और हर साल ११००० मरीजों के अस्पताल में बरती होने की खबर यूएस में आती थी ।एक टीका वेरिसेला टीकाकरण कार्यक्रम में एक और वेरिसेला का टीका जोड़ने का सुझाव २००६ में मान लिया गया ।पहला टीका तब दिया जाता है जब बच्चा १२ से १८ महीने का होता है जबकी दूसरा टीका तब दिया जाता है  जब बच्चा ४ से ६ साल की उम्र का होता है ।इस सुझाव के साथ  अधिकारियों को इस बात का भरोसा हो गया है की वे इस रोग को भविष्य में मिटा सकेंगे ।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES9 Votes 12428 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर