कार्बाइड से पका आम कर सकता है आपको बीमार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 20, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कार्बाइड केमिकल से पके हुए आम का सेवन न करें।
  • कैल्शियम कार्बाइड और सोडवाटर से होता है नुकसान।
  • डायरिया, दस्‍त, पेट दर्द, आदि बीमारियां हो सकती है।
  • कैंसर और नर्वस सिस्‍टम से जुड़ी बीमारी हो सकती है।

आम का मौसम हो और आप इस रसीले और स्‍वादिष्‍ट आम का मजा न लें, ऐसा कैसे हो सकता है। पके और रंगीन आम देखकर आप खुद-ब-खुद उसकी तरफ खिंचे चले जाते हो। फलों का राजा आम में कई तरह के स्‍वास्‍थ्‍यवर्द्धक गुण भरे होते हैं। लेकिन आजकल बाजार में प्राकृतिक रूप से पके हुए आम नहीं बल्कि केमिकल से पके हुए आम अधिक मौजूद हैं। इनके खाने से फायदा नहीं होता बल्कि सेहत को नुकसान भी होता है। तो अगर आप कार्बाइड से पके हुए आम खा रहे हैं तो सावधान हो जाइए।
chemicaled mango in Hindi

क्‍यों है यह नुकसानदेह

स्‍वाद और पोषक तत्‍वों से भरपूर आम को अगर केमिकल से पकाया गया हो, तो वह फायदे के बजाए नुकसान पहुंचा सकता है। बाजारों में कैल्शियम कार्बाइड व सोडावाटर के प्रयोग से पकाये गये आम मौजूद हैं। इस तरह से पकाये गये आम से बीमार होने की संभावना बढ़ जाती है। दरअसल कार्बाइड केमिकल पॉइजनिंग की श्रेणी में आता है, इसलिए लोगों को कार्बाइड से पके फलों के उपयोग से बचना चाहिए।


क्‍या हैं नुकसान

कार्बाइड केमिकल से पके आम खाने से नर्वस सिस्टम खराब हो सकते हैं, इसके साथ यह कैंसर जैसी बीमारी का भी कारण बन सकता है। कार्बाइड से पके आम खाने से लकवा भी मार सकता है। कार्बाइड के असर से डायरिया और दस्त आम बीमारी है। इससे पेट दर्द भी हो सकता है। इसे हाथ से बार-बार छूने से हाथों में खुजली, आंखों में जलन आदि हो सकती है। इससे निकलने वाली गैस में अधिक देर तक सम्पर्क में रहने वाले के फेफड़े को नुकसान पहुंचता है। यानी यह आम फायदे की बजाय जानलेवा हो सकता है।
Carbonated Mango in Hindi

ऐसे करें इसकी पहचान

कार्बाइड से पकाए गया आम पूरी तरह से पक नहीं पाते हैं। इसकी पहचान गौर करने से हो सकती है। यह फल ऊपर से पके और अंदर से कच्चे होते हैं। इनका रंग भी प्राकृतिक रूप से पके फलों की अपेक्षा तेज होता है। फलों को हाथ में लेकर तेज रंगों को देखकर इनकी पहचान की जा सकती है। ऐसे आम स्‍वादिष्‍ट नहीं बल्कि बेस्‍वाद होते हैं।

अगर आप आम के शौकीन हैं तो मार्केट से कच्चा आम लाकर उसे पुराने न्यूज पेपर से ढक कर बंद कमरे में रख दीजिए, लगभग एक सप्ताह या 10 दिन में आम प्राकृतिक तरीके से पक जायेगा। फिर इसका सेवन करें और स्‍वस्‍थ रहें।

 

Image Source - Getty

Read More Articles on Healthy Eating in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES3 Votes 4382 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर