एलर्जी से बचने के लिए ऐसी हो आपकी जीवनशैली

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 18, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • किसी भी उम्र में और किसी भी चीज से एलर्जी हो सकती हैं।
  • पालतू जानवरों को अपने लिविंग रूम से हमेशा दूर ही रखें।
  • एलर्जी से बचने के लिए अपनी रोग प्रतिकार क्षमता को बढ़ाएं।
  • यदि सावधानी बरतें तो इस परेशानी से बचा जा सकता है।

किसी व्यक्ति को किसी भी उम्र में और किसी भी चीज से एलर्जी हो सकती हैं। एलर्जी का अटैक आने पर पीड़ित काफी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। कभी-कभी घर, कॉलेज या ऑफिस में एलर्जी के कारण सरल काम करना भी मुश्किल हो जाता है और साथ ही शर्मिंदगी का एहसास भी होता है। बच्चों को एलर्जी जल्दी अपनी चपेट में ले लेती है, हालांकि अपनी जीवनशैली में कुछ हेल्दी बदलाव कर एलर्जी से बचा जा सकता है। चलिये जानें कैसे -

क्यों होती है एलर्जी

हमारे घरों में बहुत सी ऐसी चीजें होती हैं जिनका ध्यान रख आप अपने बच्चे को एलर्जी से बचा सकती हैं। घर में रहने वाली धूल व मिट्टी एलर्जी का मुख्य कारण होती है। ये कण फर वाले खिलौनों व बिस्तर पर भी मिलते हैं। अपने बच्चे के लिए जितनी भी तरह के प्रसाधन इस्तेमाल कर रही हैं जैसे साबुन, क्रीम व पाउडर उनमें किसी प्रकार के रसायन न हों यह ध्यान रखें। बच्चे की स्किन बहुत सेंसटिव होती है, उसे एलर्जी भी बहुत जल्दी होती है। बच्चे की हाइजीन व सफाई का ध्यान बहुत ज्यादा रखने से भी बच्चे अति संवेदनशील हो एलर्जिक हो जाते हैं। धूल-मिट्टी में पलने वाला बच्चा ज्यादा स्वस्थ रहता है क्योंकि उसे बचपन से मिट्टी के संपर्क में आने वाले बैक्टीरिया से पहचान होती है। उसका इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाता है।

 



एलर्जी से बचने के लिये जीवनशैली में बदलाव

 

  • सबसे पहले तो जो कुछ सामान्य बहलाव आप कर सकते है वो हैं घर में मौजूद पालतू जानवरों से संभव दूरी बनाएं। खासतौर पर तब जबकि आपको उनके बालों से एलर्जी है। पालतू पशुओं को अपने लिविंग रूम से दूर ही रखें। पालतू पशुओं को नियमित रूप से नहलाएं और उनके बाल अधिक बड़े न होने दें।
  • इसके अलावा घर को साफ सुथरा रखने के साथ-साथ जरूरी कीटनाशकों को भी इस्तेमाल करें ताकि मच्छर पैदा न हों।
  • घर में वूलन का कारपेट इस्तेमाल नहीं करें और सॉफ्ट टॉय जैसे टैडी बीयर आदि को साफ रखें।
  • अगर आप वूल के प्रति एलर्जिक हैं तो वूलन के ब्लेंकेट के बजाय बाज़ार में मौजूद ‘एक्रिलिक’ रजाई और सिंथेटिक तकियों का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • घर में प्रोपर वेंटिलेशन की व्यवस्था रखें।


सर्दी के मौसम में एलर्जी से बचने के लिए अपनी रोग प्रतिकार क्षमता को बढ़ाएं। इसके लिये आप रोज़ाना सुबह-शाम एक चमच्च च्यवनप्राश खा सकते हैं और आंवला का सेवन कर सकते हैं। एलर्जी से निपटना मुश्किल तो है लेकिन यदि सावधानी बरतें तो इस परेशानी से बचा जा सकता है।


Image Source - Getty

Write a Review
Is it Helpful Article?YES9 Votes 12939 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर