आदत बदलकर घटा सकते हैं मोटापा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 27, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मोटे लोगों की आबादी वाला तीसरी सबसे बड़ा देश है, भारत।
  • छोटी-छोटी लेकिन महत्पपूर्ण आदतें बदलकर हो सकता है लाभ।
  • शुरुआत से पहले जीतने के अनुभव का अभ्यास करते हैं विजेता।
  • भोजन करते समय पानी ना पिएं और इसे ठीक से चबाएं।

मोटापा पूरी दुनिया के लिए एक खतरा बनता जा रहा है। हाल में हुए एक शोध की रिपोर्ट बताती है कि दुनिया में भारत सबसे ज्यादा मोटे लोगों की आबादी वाला तीसरी देश है। मोटापा डायबिटीज़, हृदय रोग के साथ-साथ कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं की जड़ भी है। इस पर काबू पाया जा सकता है, लेकिन जरूरत है दृढ़ संकल्प और अपनी कुछ छोटी-छोटी लेकिन स्वास्थ्य की दृष्टी से महत्वपूर्ण आदतों में बदलाव करने की। जी हां अपनी आदतों में बदलाव कर मोटापे की समस्या को काफी हद तक काबू किया जा सकता है। तो चलिये विस्तार से जानें क्या हैं वे आदतें व इनका प्रभाव।
 


प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक देश भर में लगभग 27 करोड़ से अधिक लोग गरीबी रेखा के नीचे रहते हैं, जिन्हें दो वक्त की रोटी भी मुश्किल से ही नसीब हो पाती है। ऐसे में दुनिया के "मोटे राष्ट्रों' में तीसरे नम्बर पर आना सभी को चौंकाता जरूर है, लेकिन ये वक्त चौंकने का नहीं बल्कि इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए कुछ प्रभावी व कारगर कमद उठआने का है। भला देश में मोटापा इतनी तेजी से क्यों बढ़ रहा है, इस विषय पर हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि इसके लिए अनियंत्रित जीवनशैली, खानपान की आदतों में बदलाव सबसे बड़े कारण हैं। खाने में जंक फूड, अनियमितता, अल्कोहल और मीठे का अधिक सेवन और शारीरिक गतिविधियों में कमी इसके बड़े उदाहरण हैं। तो भला ये कदम क्या हो सकते हैं? इसके लिए सबसे पहले जरूरत है अपनी आदतों में बदलाव करना। और ये बगलाव निम्न प्रकार से हो सकते हैं -

Lose Weight in Hindi

 

सफलता का स्वप्न देखें

ज्यादातर एथिलीड जब दौड़ना शुरू करते हैं तो उससे पहले जीतने के अनुभव का अभ्यास करते हैं। आपको भी ऐसा ही करना सीखना होगा। बशर्ते आप अपने खान-पान पर ध्यान देते हैं, व्यायाम भी करते हैं, लेकिन अगर आप खुद के पतले होने की कल्पना कर स्पष्ट तस्वीर नहीं देख पाते तो आपको आपका मोटापा कम करने का लक्ष्य मुश्किल प्रतीत हो सकता है।

निराशा छोड़ दें

यदि आप निर्धारिक करते हैं कि आपको वजन घटाना है तो आपके इसके अनुरूप काम भी करने पड़ेंगे। आपको अपनी खाने-पीने की आदतों में बदलाव करना पड़ेगा, साथ ही शारीरिक गतिविधियों में भी बढ़ोत्तरी करनी होगी। मोटापे को कम करने की दिशा में आगे बढ़ने के साथ-साथ सकारात्मक सोच का होना भी जरूरी होता है। साथ ही खुद को प्रोत्साहित करने की आदत भी डालें और खुद ही अपने दोस्त बनें। जैसे-जैसे मोटापा कम होता जाए, खुद को बधाइयां दें।


Lose Weight in Hindi


भोजन करते समय पानी ना पिएं

जो लोग भोजन के साथ पानी या कोलड्रिंक पीने की आदत डाले हुए होते हैं, पहला होना है तो वे इसे जल्द छोड़ दें तो ही अच्छा है। ऐसा इसलिए, क्योंकि पानी पीने से पेट में खाना ठीक से हजम नहीं हो पाता और एसिडिटी की भी समस्‍या पैदा हो सकती है। हांलाकि इसका अर्थ ये नहीं कि गले में खाना अटकने पर भी पानी ना पिएं, इस स्‍थति में आप थोड़ा पानी पी सकते हैं। सामान्यतौर पर खाने के आधे घंटे बाद आप पानी पी सकते हैं।

खाना खाते समय बस खाना खाएं

खाते वक्त ना टीवी देखने और पढने जैसा या फिर ऐसा कोई भी काम न करें जिससे भोजन के दौरान आपका ध्‍यान बंटे।  खाने के लिए कम से कम 20 मिनट अपने भोजन को ही देना चाहिये। दरअसल हमारे दिमाग को इस बात पर गौर करने में काफी समय लगता है कि हमारा पेट भर चुका है, इसलिये कई बार हम टीवी देखते या कोई अन्य काम करते समय भूख से अधिक  खा जाते हैं और मोटापा बढ़ने लगता है। इसके अलावा भोजन का हर कौर 30 से 32 बार चबा-चबा कर खाएं। अगर खाना ठीक से चबा कर नहीं खाया जाएगा तो उससे पेट की समस्‍या जैसे, कब्‍ज और गैस हो सकती है और मोटापा भी बढ़ता है।
 

विशेषज्ञों के मुताबिक मारात में तेजी से बढ़ रही मोटापे की समस्या के पीछे एक बड़ा कारण आधुनिकता की होड़ है। इस संदर्भ में एक्सपर्ट बताते हैं कि 1999 के बाद शहरीकरण बढ़ने से यहां मोटे लोगों की संख्या बढ़ी है। मॉडर्न टेक्नोलॉजी और इंटरनेट यूज़ करने के आदी हो चुके भारतीय आलसी और सेहत के प्रति लापरवाह होते जा रहे हैं।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES13 Votes 1851 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर