कोलाइटिस के कारण, लक्षण और बचाव

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 17, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कोलाइटिस पेट की एक आम बीमारी है।
  • इससे बड़ी आंत के अंदर सूजन आ जाती है।
  • पेट में ऐंठन, दर्द, दस्‍त आदि लक्षण हैं।
  • इससे बचाव के लिए सफाई का ध्‍यान रखें।

कोलाइटिस पेट की एक आम बीमारी है, इसमें बड़ी आंत के अंदर सूजन आ जाती है। कोलाइटिस होने पर रोगी के पेट में जोर की ऐंठन, दस्‍त, डायरिया, बुखार, वजन घटना और अनिद्रा जैसी बीमारी हो जाती है। यह एक सामान्‍य बीमारी है लेकिन, इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए, क्‍योंकि यह बाद में घातक बन सकती है। इस लेख में विस्‍तार से जानें इस बीमारी के कारण, लक्षण और बचाव के बारे में।
Colitis causes in Hindi

कोलाइटिस के कारण

कोलाइटिस को अल्सरेटिव कोलाइटिस भी कहते हैं। यह बीमारी जल्‍दी भी हो सकती है और इसमें कई साल भी लग सकते हैं। यह बीमारी ज्‍यादातर बैक्‍टीरिया, वायरस या परजीवी के अतिक्रमण से होती है। यह एब्टामीवा नामक कीटाणु के संक्रमण से होती है। इस बीमारी में आपको केवल घर का बना साफ खाना ही खाना चाहिये। धुली और अच्‍छी तरह से पकी हुई सब्‍जी का सेवन करने से इसपर रोक लगाई जा सकती है। इस बीमारी में सैलेड और हाई फाइबर वेजटेबल न खाएं।

कोलाइटिस के लक्षण

इस बीमारी में रोगी को बार-बार दस्‍त आने की समस्‍या हो सकती है, रोगी को दिन में अधिक से अधिक 5 बार गंभीर दस्‍त हो सकते हैं। इसमें पानी या खून की दस्‍त आती है। इसके अलावा बुखार के साथ रोगी को तेजी से गर्मी का एहसास होता है। बुखार 38.5 से अधिक डिग्री सेल्‍सियस हो सकता है।

इसके कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है, पानी की कमी ज्‍यादातर बूढे और बच्‍चों में होता है। इसमें लगातर वजन में कमी, एनीमिया, पोषण संबंधी बीमारी, कमजोरी आदि इसके प्रमुख लक्षणों में से एक हैं। इसके कारण मल में रक्‍त आने की समस्‍या भी हो सकती है।
Symptoms of colitis in Hindi

कोलाइटिस से बचाव

कोलाइटिस एक संक्रमणकारी बीमारी है, इससे बचने के लिए साफ-सफाई पर ध्‍यान देना बहुत जरूरी है। अगर कोलाइटिस का निदान पहले हो चुका है तो चिकित्‍सक से सलाह लेकर इसका उपचार कर सकते हैं। इसमें डायरिया की शिकायत होती है, इसलिए खूब सारा पानी पीने की सलाह भी दी जाती है, घर का बना खाना ही खायें, बाहर के खाने से बचें। समस्‍या गंभीर होने पर सर्जरी की भी आवश्‍यकता होती है।

खानपान में अनियमितता के कारण यह समस्‍या होती है, इसलिए हेल्‍दी आहार के साथ साफ-सफाई का विशेष ध्‍यान रखें।

 

Image Source - Getty Images

Read More Articles on Healthy Living in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES81 Votes 7052 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर