अरंडी के तेल के लाभ

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 20, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

abc

Hair oilआज के आधुनिक युग में बालों का ख़राब होना आम बात है। धूल, प्रदूषण इत्यादि आपके बालों को ख़राब करने में बहुत हीं महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। तनाव, बीमारियाँ, तरह तरह की दवाइयां, गलत खान पान इत्यादि भी आपके बालों की सुन्दरता बिगाड़ते हैं तथा उन्हें कमजोर करते हैं।  


अगर आपके बाल ख़राब हो रहे हैं या कमजोर हो रहे हैं या आप अपने बालों को मजबूत बनाना चाहती हैं तो रेंडी का तेल बहुत हीं लाभदायक सिद्ध हो सकता है।
यूँ तो कोई भी तेल आपके बालों के लिए फायदेमंद हो सकता है लेकिन रेंडी के तेल की बात हीं कुछ और है।


रेंडी के तेल का उपयोग बालों को मजबूत एवं सुन्दर बनाने के लिए सदियों से होता चला आया है। यूँ तो रेंडी का तेल कई बीमारियों को ठीक करने में , जैसे कब्ज इत्यादि, घरेलू उपचार के तौर पर  रामबाण के रूप में इस्तेमाल किया जाता है लेकिन रेंडी का तेल बालों एवं सर से सम्बंधित तरह तरह के विकारों में भी बहुत हीं प्रभावकारी असर दिखलाता है।


यूँ तो पुरुष भी सुन्दर और घने बाल चाहते हैं लेकिन स्त्रियों या लड़कियों के बाल घने और सुन्दर हों, ऐसा स्वयं लड़की एवं उसे जानने  वाले, सभी चाहते हैं। कई युवतियां अपने बालों की सुन्दरता बढ़ाने के लिए न जाने कितने पैसे खर्च करती हैं तब कहीं जाकर उन्हें मनचाहा फल मिल पाता है। सवाल यह उठता है कि जब कम खर्च में आप आसानी से बालों की मनचाहा सुन्दरता पा सकती हैं तो ज्यादा पैसा खर्च करने की क्या जरूरत है!

 

  • अगर आप कुछ हफ़्तों तक, तकरीबन 6-7  हफ्तों तक नियमित रूप से रेंडी के तेल का उपयोग करती हैं तो आपके बाल सुन्दर और घने हो सकते हैं। 6-7 हफ्तों तक नियमित रूप से सर के उपर अरंडी (रेंडी का तेल लगाने से) आप मजबूत, चमकदार और घने बाल पा सकती हैं।  
  • रेंडी का तेल रेंडी के बीज से निकाला जाता है जो कि  हल्के पीले रंग का होता है। यह तेल बालों को बढ़ने में एवं नए बाल उगने में बहुत मदद करता है। 
  • अगर आप पुरुष हैं और आपके बाल झड़ने लगे हैं और आपको डर है कि कही आप गंजे न हो जायें तो आप भी यह तेल लगा सकते हैं । आपको चाहिए कि आप सप्ताह में कम से कम दो दिन अपने सर में रेंडी का तेल लगायें। सिर्फ  बालों में तेल लगाने से आपको ज्यादा फायदा नहीं मिलने वाल।
  • ऐसा करने से आपके बालों के जड़ को पोषण मिलता है और रक्त संचार सुचारू रूप से होता है जिससे कि आपके बालों की जडें मजबूत होती हैं और फलस्वरूप आपके बाल मजबूत होते हैं। यह सर्वविदित है कि  पुरुषों को गंजेपन से बचाने में रेंडी का तेल बहुत हीं महत्वपूर्ण भूमिका निभाता  है।

अगर आपके बाल हानिकारक रसायन या तेज धूप वगैरह की वजह से ख़राब हो रहे हैं तो उनकी  सुन्दरता वापस लाने में रेंडी का तेल घरेलू उपचार के रूप में लाया जाता है क्योंकि यह बहुत हीं कारगर घरेलू उपाय है।


रेंडी के तेल का इस्तेमाल कैसे करें

 

  • रेंडी के तेल को तो यूँ भी लगा सकते हैं लेकिन थोडा गर्म कर लें तो बेहतर लाभ मिलेगा.
  • अगर तेल ज्यादा गर्म हो जाये तो उसे ठंढा होने दें वरना गर्म तेल से आपको सर दर्द हो सकता है।
  • रात को सोने से पहले तेल को रुई में ले लेकर धीरे धीरे अपने सर की त्वचा (खोपड़ी)  में लगायें। फिर हल्के हाथों से अपनी खोपड़ी की मालिश करें।
  • बालों में तेल लगाने की जरूरत नहीं है क्योंकि रात को सोते वक्त तेल खुद ब खुद आपके बालों में लग जायेगा। आपके तकिये न ख़राब हो जायें इससे बचने के लिए आप तकिये पर कोई कपड़ा या तौलिया रख लें।
  • सुबह नहाने से पहले अपने तौलिये को गर्म पानी में डुबोकर निचोडें फिर अपने बालों को जुड़े की तरह बांधकर उसपर तौलिया लपेट लें और कुछ देर रहने दें। 
  • ऐसा माना जाता है कि पानी के संपर्क में आकर रेडी का तेल कुछ इस तरह की प्रतिक्रिया करता है जिससे आपके बालों को लाभ मिलता है।
  • ध्यान रहे कि यह तौलिया वही न हो जिसे आपने सोते वक़्त तकिये पर रखा था। कुछ देर बाद आप तौलिये को हटा लें और नहाते वक़्त शेम्पू से अपने बालों को अच्छी तरह से धो लें।


एक बार में तेल पूरी तरह नहीं छूटेगा इसलिए अच्छी तरह से शेम्पू से कम से कम दो बार धोएं।  दोबारा तेल लगाने के बीच में कम से कम एक दिन का अंतराल रखें।

रेंडी के तेल के अन्य फायदे

 

  • जिन लोगों को रुसी की शिकायत रहती है उनके लिए तो रेंडी का तेल बहुत हीं उपयोगी है क्योंकि यह रुसी को जड़ से दूर कर देता है। रेंडी के तेल में एंटी बैकटेरियल, एंटी फंगल एवं एंटी वायरल गुण होते हैं जो सर की त्वचा से सम्बंधित विकारों जैसे रुसी, खुश्की इत्यादि को ख़त्म करते हैं।
  • रेंडी का तेल मष्तिष्क सम्बन्धी विकारों को भी दूर करता है जैसे अवसाद, स्मरण शक्ति क्षीण होना, थकान इत्यादि क्योंकि यह आपके थाईमस ग्लेंड पर बहुत प्रभाव डालता है।  जोड़ों  के दर्द में भी यह तेल बहुत राहत पहुंचाता है।



रेंडी का तेल आखिर इतना प्रभावकारी क्यों होता है

 

  • रेंडी के तेल में रायसीनोलिक फैटी एसिड होता है जो त्वचा के जख्म को भरने में बहुत हीं प्रभावकारी होता है। ऐसा माना जाता है कि  रेंडी का तेल हीं रायसीनोलिक फैटी एसिड  का एकमात्र स्रोत है।
  • रेंडी के तेल में अनडीसाईंलेनिक एसिड होता है जो आपकी त्वचा पर जमे हुए जीवाणुओं को ख़त्म कर डालता है साथ हीं साथ आपके सर की त्वचा के लिए मोईसचराइजर का भी काम करता है जिससे आपको रुसी की समस्या नहीं रहती।
  • रेंडी का तेल दूसरे तेलों के मुकाबले सस्ता होता है और आसानी से उपलब्ध हो जाता है इसलिए इस तेल का लाभ उठाएं और ओने बाल स्वस्थ, सुंदर एवं मजबूत बनाएं।

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES309 Votes 53693 Views 6 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर