सर्दियों में बच्चों का रखें खास ध्यान

By  ,  दैनिक जागरण
Jan 04, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

सर्दियों के शुरू होते ही बच्चों में नाक बहना, गले में खराश, जुकाम जैसी समस्याएं होने लगती हैं। बच्चों की इन बीमारियों से सबसे ज्यादा उनके अभिभावक परेशान हो उठते हैं।

 

अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा सर्दियों के दौरान स्वस्थ रहे तो छोटी-छोटी बातों का रखें ध्यान :

 

  • बच्चों को तलाभुना या फास्टफूड खिलाने के बजाए सुबह पौष्टिक नाश्ता दें। उन्हें फल, हरी सब्जियां और दालों से परिपूर्ण नाश्ता कराएं।
  • रात में बादाम को भिगो दें। सुबह बादाम घिसकर गुनगुने दूध में डालकर पिलाएं।
  • बच्चों को कमरे में बैठे रहने देने के बजाए धूप में निकलने को कहें। इससे उन्हें विटामिन डी मिलेगा, जो शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाता है।
  • ठंड के दौरान बच्चों को ठंडी चीजें देने से परहेज करें।
  • बच्चों को खाने से पहले और बाद में एंटी बैक्टीरियल साबुन से हाथ धुलाना न भूलें। इससे कीटाणु नहीं फैलेंगे।
  • घर पर कंप्यूटर पर खेलने देने के बजाए रोजाना बीस मिनट मैदान में खेलने के लिए प्रेरित करें। इससे उनका शारीरिक विकास अच्छा होगा।
  • बच्चों को ठंड में जरूरत से ज्यादा गर्म कपड़े न पहनाएं।
  • रोजाना साफ सुथरे स्वेटर पहनाएं। लगातार कई दिन तक एक ही स्वेटर पहनने से उसमें धूल और गंदगी जम जाती है। इससे कीटाणु उसमें जम जाते हैं और कीटाणुओं के कारण बीमारी फैलने की आश्ंाका रहती है।
  • ठंड में रोज नहलाना संभव न हो तो गीले कपड़े से बच्चों का बदन पोंछे।
  • बच्चों को समय पर सोने की आदत डालें। सोने से पहले टीवी देखने देने के बजाए उन्हें कुछ पढ़ने के लिए प्रेरित करें।

 

 

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES16 Votes 13908 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर