गर्भावस्‍था में जरूरी है सांस के व्‍यायाम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 14, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज से बच्‍चे को मिलता है ऑक्‍सीजन।
  • पेट से सांस लेने वाले व्‍यायाम से करें इसकी शुरूआत।
  • सीने से सांस लें और शैलो ब्रीदिंग वाले अभ्‍यास करें।
  • नियमित व्‍यायाम के साथ खानपान पर ध्‍यान दीजिए।

गर्भावस्‍था के दौरान अगर मां फिट रहेगी तो बच्‍चा भी स्‍वस्‍थ रहेगा, इसके लिए जरूरी है गर्भावस्‍था के दौरान व्‍यायाम किया जाये। गर्भावस्‍था के दौरान प्रत्‍येक महिला को सांस संबंधित व्‍यायाम जरूर करना चाहिए। यह बच्‍चे के पूर्ण विकास के लिए बहुत जरूरी है, क्‍योंकि सांस के व्‍यायाम करने से बच्‍चे को पर्याप्‍त मात्रा में आक्‍सीजन मिलती है और सांसों की बीमारियां भी नहीं होती हैं। इस लेख में जानिये कि गर्भावस्‍था के दौरान सांसों के कौन-कौन से व्‍यायाम करने चाहिए।
Breathing Exercises in Hindi

पेट से सांस लेना

पेट से सांस लेने को बैली ब्रीदिंग भी कहते हैं। इसे करने के लिए पैरों को मोड़कर आरामदायक मुद्रा में बैठिये, जबड़ों, कन्धों और नितम्बों समेत अपने पूरे शरीर को ढीला छोड़ दीजिए। एक हाथ अपने पेट पर रखें और दूसरा इसके ऊपर। निचले हिस्से से गहरी सांस लीजिए और पेट को हवा से भरकर 8 या उससे अधिक गिनती गिनें। धीरे-धीरे सांसों को छोड़ें। इस व्‍यायाम को रोज 10 मिनट तक करें। पेट अधिक बढ़ जाने पर घुटनों पर हाथ रखकर भी इसे कर सकती हैं।


सीने से सांस लेना

इसे करने के लिए सीधे खड़े हो जाइये और अपने पैर एक-दूसरे के सामानांतर रखिये। मुह बंद रखें और 10 तक गिनते हुए गहरी सांस लीजिए। हाथों को छाती पर रखें, लेकिन ध्यान रखें इन्‍हें जोर से दबायें नहीं। सांस लेते हुए फेफड़े फूलने के साथ ही अपने हाथों को फैलायें। फिर आराम से सांसों को छोड़ें, जितना समय सांस लेने में लगाया उतना ही सांस छोड़ने में लगायें। इस व्यायाम को 10 बार कीजिए। गर्भावस्‍था के सातवें महीने में इसे करना मुश्किल हो सकता है। इसलिए इस वक्‍त इसे आराम से ही करें।

शैलो ब्रीदिंग

इसे उथले सांस लेना कहते हैं, इसे कुछ मिनटों के लिए ही करना बेहतर है। इसे करने के लिए घुटनों को मोड़ते हुए पीछे की ओर झुकें और पैरों को सामानांतर रखते हुए सीधे खड़े हों जायें। इसके बाद अपना मुह पूरा खोलें और जल्‍दी-जल्‍दी सांसें लीजिए, यह फेफड़ों के लिए अच्‍छा व्‍यायाम है। दिन में कम से कम पांच मिनट के लिए यह व्‍यायाम करें।

Exercises For Pregnant Woman in Hindi

वैकल्पिक रूप से गहरी सांस लेना

इसे करने के लिए आरामयक स्थिति में बैठ जाएं या पैरों को मोड़कर बैठें या फिर पैरों को सीधा रखकर खड़े रहें। जबड़े, हाथ, घुटने, नितम्ब और कन्धों समेत पूरे शरीर को ढीला छोड़ दीजिए। इसके बाद गहरी सांस लें और कुछ सेकण्ड्स के लिए इस स्थिति में रहें। धीरे-धीरे इसे छोड़ें। फिर अपना मुंह चौड़ा खोलें और पांच तक गिनते हुए हवा अंदर खीचें।

गर्भावस्‍था में व्‍यायाम के साथ-साथ खानपान का विशेष ध्‍यान रखें और निय‍मित रूप से चिकित्‍सक के पास जाकर जांच अवश्‍य करायें।

image source - getty images

 

Read More Articles on Pregnancy in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES45 Votes 10557 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर