जानें कैसे समय रहते ब्रेन ट्यूमर का हो सकता है उपचार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 26, 2016
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मस्तिष्क ट्यूमर के कारण का अभी पता नहीं चला।
  • मस्तिष्क में मुख्यत: दो प्रकार के टयूमर होते हैं।
  • इलाज के लिए करते है ओपन व गामा नाइफ सर्जरी
  • कलर ब्लांइडनेस, तेज सिरदर्द आदि होते है लक्षण।

राधिका अचानक काम करते करते तेज सिरदर्द की शिकायत करने लगी तो उसके मां ने सिरदर्द की दवा दे दी। थोड़ी देर के लिए तो आराम मिल गया पर जैसे ही वो दोबारा उठी सिर में बहुत तेज दर्द और आँखों के अंधेरा छा गया। राधिका की ऐसी हालत देखकर उसकी मां उसे लेकर अस्पताल गई, जहां डॉक्टर्स ने टेस्ट कराया जिसके बाद पता चला कि उसे ब्रेन ट्यूमर है। ये सुनकर तो उसके परिवार वालो के होश ही उड़ गए। हालांकि डॉक्टर्स ने उन्हें इस बारे मे विस्तार से समझाया और बताया कि इसका इलाज संभव है:-


  • मस्तिष्क हमारे शरीर का वह महत्वपूर्ण और नाजुक हिस्सा है, जिसका संबंध संपूर्ण शरीर से है। अगर मस्तिष्क के किसी भी हिस्से में कोई तकलीफ हो तो उसका प्रभाव शरीर के दूसरे अंगों की गतिविधियों पर भी पड़ता है। सिर में किसी भी तरह की तकलीफ या मस्तिष्क से जुड़ी किसी समस्या का आभास होने पर तुरंत विशेषज्ञ से संपर्क करें। बीमारी सही समय पर पकड़ में आए तभी निदान आसान हो पाता है।'
  • मस्तिष्क में मुख्यत: दो प्रकार के टयूमर होते हैं- पहला है बिनाइन टयूमर जो धीरे-धीरे बढ़ता है और दूसरा मेलिगेंट टयूमर, जो कैंसर युक्त होता है। पहले तरह के टयूमर कुछ दवाओं से नियंत्रित हो जाते हैं और जो दवाओं से ठीक नहीं हो पाते उन्हें ओपन सर्जरी और गामा नाइफ सर्जरी से ठीक करने की कोशिश की जाती है परंतु कैंसर युक्त टयूमर पूर्णतया ठीक होते हैं। टयूमर दिमाग में किस जगह पर है सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण यही बात है।
  • अभी तक ब्रेन ट्यूमर के कारणों का सही-सही पता नहीं चल पाया है। लेकिन अगर कभी-कभी मिरगी के दौरे के सामान दौरा पड़ता हो या बेहोशी आती हो, सिर में असहनीय दर्द होता हो, हाथ-पैरों में ऐंठन हो,  ज्यादा कमजोरी का एहसास हो,  सुबह के समय सिर में अक्सर दर्द होता हो,  दृष्टि का अचानक कम होना या कलर ब्लांइडनेस आदि की शिकायत को हल्के में ना लेकर डॉक्टर्स से मिले।  
  • मस्तिष्क मानव शरीर का सबसे संवेदनशील भाग है। टयूमर उसमें कहां है किस नस को छू रहा है। किस हिस्से पर उसका कितना प्रभाव है, यह बात अत्यंत महत्वपूर्ण है। इसी पर आधारित होकर मरीज का इलाज किया जाता है।



सबको एक जैसा उपचार नहीं दिया जाता उपचार रोग की जटिलता पर निर्भर करता है। कभी-कभी कुछ टयूमर ऐसे होते हैं जहां तुरंत सर्जरी (शल्य चिकित्सा) कर बाद में गामा नाइफ सर्जरी भी करनी पड़ती है।

 

Image Source-Getty

Read More Article on Brain Tumor in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES91 Votes 24638 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर