रणनीतिक खेल और न्‍यूरोबिक एक्‍सरसाइज से बढ़ाएं मानसिक फिटनेस

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 29, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • तर्क शक्ति से बढ़ती है आपकी मेंटल फिटनेस।
  • आंखें बंद कर शॉवर लेने से भी होता है फायदा।
  • पहेलियां हल करने से भी बढ़ती है मानसिक फिटनेस।
  • मानसिक फिटनेस बढ़ाने के लिए मेडिटेशन भी जरूरी।

कसरत यानी सेहत का खजाना। आप अपने शरीर और दिमाग दोनों को फिट रखना चाहते हैं तो इसके लिए व्‍यायाम अच्‍छा विकल्‍प है। कुछ लोगों का मानना है कि शारीरिक रूप से स्‍वस्‍थ्‍य होने पर ही आप दिमागी रूप से फिट रह सकते हैं। जबकि ऐसा नहीं है शारीरिक रूप से अनफिट व्‍यक्ति भी मानसिक रूप से फिट हो सकता है।

tips for mental fitness
यदि आप शारीरिक व्‍यायाम की ही तरह नियमित रूप से दिमागी कसरत करते हैं तो इससे आप मानसिक रूप से फिट रहते हैं। कई अध्‍ययनों से साफ हो चुका है कि दिमागी कसरत करने से आपके तनाव का स्‍तर तो कम होता ही है, साथ ही डिप्रेशन की आशंका भी कम रहती है। इस लेख के जरिए हम आपको बताएंगे कुछ ऐसी एक्‍सरसाइज जो आपको दिमागी रूप से फिट रखेंगी।

 

स्‍ट्रेटजी गेम्‍स या रणनीतिक खेल

स्‍ट्रेटजी गेम्‍स, कार्ड गेम या बोर्ड गेम की तरह ही होते हैं। दिमागी कसरत के द्वारा मस्तिष्‍क को फिट रखने के लिए ये कारगर हैं। इनको लॉजिकल पैटर्न पर खेलना होता है। बदलते जमाने के साथ स्‍ट्रेटजी गेम्‍स कंप्‍यूटर और ऑन लाइन गेम्‍स में बदल गए हैं। इनमें आपको एक टार्गेट दिया जाता है, जिसे पाने के लिए आपको तर्क शक्ति का प्रयोग करना होता है।

तर्क शक्ति के प्रयोग से आपका दिमाग तेज होता है। एक अध्‍ययन से साफ हुआ है कि इस तरह के गेम खेलने वाले लोगों की कई मामलों में निर्णय लेने की क्षमता तेज होती है। यदि आप इन गेम्‍स को खेलते हैं तो यह ध्‍यान रखें कि आपको इन्‍हें लंबे समय तक नहीं खेलना चाहिए। आप कुछ दिनों के अंतर पर अलग-अलग तरह के गेम्‍स खेल सकते हैं।

 

तनाव मुक्ति के लिए तकनीक

आपके साथ भी कई बार ऐसा हुआ होगा कि आप ऑफिस के अंदर या बाहर ज्‍यादा तनाव महसूस करते होंगे। कई एक्‍सरसाइज ऐसी भी हैं जो आपको तनाव से राहत देने में मददगार साबित होती हैं। घंटों तक अच्‍छी नींद लेना ही आपको तनाव से राहत नहीं दे सकता। प्राकृतिक रूप से शरीर को राहत देने के लिए कुछ विशेष तकनीक होती हैं। जिनमें गहरी सांस लेना, मेडिटेशन यानी ध्‍यान, कल्‍पना शीलता, लयबद्ध तरीके से की गई एक्‍सरसाइज और योग करना फायदेमंद साबित होता है। मेडिटेशन और कल्‍पना शीलता आपको मानसिक रूप से फिट बनाती है।

 

न्‍यूरोबिक एक्‍सरसाइज

यदि आप मानसिक फिटनेस बढ़ाने के साथ ही मानसिक रूप से राहत भी पाना चाहते हैं तो न्‍यूरोबिक एक्‍सरसाइज अच्‍छा विकल्‍प हैं। न्‍यूरोबिक एक्‍सरसाइज को आमतौर पर जरूरत पड़ने पर ही किया जाता है। तकनीकी रूप से न्‍यूरोबिक एक्‍सरसाइज का मतलब है, इससे आप एक समय में कई काम निबटा सकते हैं।

न्‍यूरोबिक एक्‍सरसाइज करने के लिए आप अपनी आंखों को बंद कर शॉवर लें, ऐसा करने से आपको राहत मिलेगी और आप अपनी आंखों के सामने विजुअली कई कामों को निबटा सकते हैं। यानी जिन बातों या कामों को लेकर आप तनाव में हैं, उनमें आपको राहत मिलेगी। चाहे तो आप इसे प्रयोग के तौर पर पहले इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। कुछ दिनों के अंतराल पर इसे करना फायदेमंद साबित होगा।

 

पहेलियां हल करना

एक व्‍यक्ति का मस्तिष्‍क उसके पूरे जीवन के दौरान लगातार विकास करता रहता है। एक अध्‍ययन में यह पाया गया है कि पुराने यानि उम्रदराज लोगों का मस्तिष्‍क भी बदलाव के दौर से गुजरता रहता है। मस्तिष्‍क में हमेशा नई कोशिकाएं जन्‍म लेती रहती हैं। यदि किसी व्‍यक्ति की उम्र के साथ याद्दाश्‍त कम हो रही है तो यह मानसिक प्रोत्‍साहन की कमी का नतीजा हो सकता है। क्रॉस वर्ड, सुडुको, दिमागी खेल और अन्‍य प्रकार की दिमागी कसरत आपके दिमाग को फिट रखेंगी। आमतौर पर इस तरह की दिमागी कसरत से मस्तिष्‍क के बायें भाग को ज्‍यादा फायदा होता है।

 

कार्डियोवस्‍कुलर एक्‍सरसाइज

मानसिक फिटनेस को बढ़ाने के लिए कार्डियो ट्रेनिंग बहुत ही फायदेमंद साबित हुई हैं। इनसे आप मानसिक रूप से तो स्‍वस्‍थ्‍य रहते ही हैं, साथ ही बढ़ती उम्र के साथ दिमागी कोशिकाएं भी बढ़ती है। यदि आपकी या आपके किसी परिचित की बढ़ती उम्र के साथ याद्दाश्‍त कमजोर हो रही हैं तो यह अल्‍जाइमर का संकेत भी हो सकता है।

दिमागी रूप से फिट रहने के लिए भरपूर नींद जरूरी है, साथ ही ऊपर बताएं गए मस्तिष्‍क से जुड़े व्‍यायाम आपको और लोगों से अलग बनाते हैं। इन्‍हें हर रोज करना जरूरी नहीं है, हफ्ते में तीन से चार बार करने से भी आपको इनसे फायदा मिलेगा।

 

 

 

 

Read More Article On Mental Health In Hindi


Write a Review
Is it Helpful Article?YES3 Votes 2410 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर