बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसार्डर और सेक्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 07, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Borderline personality disorder aur sex

बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसऑर्डर एक दिमागी बीमारी है, जिसमें दिमाग काम करना बंद कर देता है और व्यक्ति अपनी शख्सियत भूल जाता है। इस बीमारी से ग्रस्त आदमी की दिमागी स्थिति ऐसी हो जाती है कि वह अपने व्यक्तिगत संबंधों को अपने आवेश से जोडने लगता है। अचानक गुस्सा आना, बिना किसी कारण के चिडचिडा होना, आपा खो देना इस बीमारी के प्रमुख लक्षण हैं।  इस बीमारी से ग्रस्त लोग सेक्स को लेकर बहुत ही उहापोह की स्थिति में रहते हैं। कहीं किसी से कोई गहरा रिश्ता न बन जाए या कोई रिश्ता कच्चा‍ न हो। इस स्थिति में अक्सर ऐसे लोग या तो अपने-आप को शारीरिक नुकसान पहुंचाते हैं या फिर अपने से जुडे लोगों को। बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसआर्डर से ग्रस्त लोगों का उनकी सेक्स लाइफ पर बहुत गहरा प्रभाव पडता है क्योंकि इस बीमारी में आदमी की भावनाएं ज्यादा प्रभावी नहीं होती हैं।

[इसे भी पढ़े- विभाज्‍य व्‍यक्तित्‍व विकार]

बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसआर्डर और सेक्स


सेक्स के प्रति नकारात्मक सोच -
बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसआर्डर से पीडित व्यक्ति की सेक्स के प्रति सोच हमेशा ही नकारात्मक होती है। पार्टनर के साथ सेक्स के दौरान भी उनका व्यवहार नकारात्मक ही होता है। बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसआर्डर से ग्रस्त महिलाओं का सेक्स की भावना के प्रति मिली-जुली सोच होती है। उनको हमेशा सेक्स के दौरान यह महसूस होता है कि उनका पार्टनर उन पर दबाव डाल रहा है। इसका प्रमुख कारण यह है कि उनके पारस्परिक संबंधों में हमेशा तनाव रहता है, साथी के साथ अक्सर लडाई होने से उनके अंदर यह विचार आते हैं।


सेक्स के प्रति लापरवाही -  
बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसआर्डर में आदमी सेक्स के दौरान उनका व्यवहार ज्यादा आवेग वाला होता है। सेक्स के दौरान इनका व्यवहार लापरवाह होना एकदम से सामान्य बात है। बीपीडी से ग्रस्त व्यक्ति के मन में सेक्स के दौरान उदासी, पार्टनर के साथ ईर्ष्या की भावना, अपने को दुखी दिखाना, हमेशा डर में रहना और सकारात्मक भावना प्रकट करने जैसी स्थिति दिखती है।


अयोग्य समझना –
बॉर्डरलाइन पसनालिटी डिसार्डर से ग्रस्त आदमी अपने को अयोग्य समझता है। उसको ऐसा लगता है कि लोगों का बर्ताव उसके प्रति अच्छा नहीं है। इनके अंदर भावुक विचार नहीं पनपते हैं। ऐसे लोग हमेशा अपने को सेक्स के प्रति अयोग्य समझते हैं। सेक्स को लेकर उनकी रुचि बहुत कम होती है। इस बीमारी से ग्रस्त लोग अपने पार्टनर के साथ अच्छे से व्‍यवहार नहीं कर पाते हैं।


भावनाओं में बदलाव –
बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसआर्डर से ग्रस्त व्यक्ति में भावनाओं का कोई स्थान नहीं होता है। इनकी भावनाएं हमेशा बदलती रहती हैं। आदमी अपने एहसासों को पहचान नहीं पाता है। सेक्स के दौरान अपने पार्टनर की भावनाओं को बिलकुल नहीं समझते हैं। सेक्स के प्रति इनकी सोच एकदम से संकीर्ण होती है।

[इसे भी पढ़े- आपकी जीवनशैली और सेक्स लाइफ]

जंगली तरीके से सेक्स करना -
बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसआर्डर से ग्रस्त वयक्ति अक्सर अपने पार्टनर के साथ जंगली तरीके से सेक्स करता है। इस प्रकार के सेक्स करने का कारण यह होता कि वह अपनी और पार्टनर की भावनाओं को बिलकुल नजरअंदाज करता है। इसकी वजह से  सेक्स के दौरान अक्सर पार्टनर को चोट भी लग जाती है। इसमें सेक्स के नियम का पालन नहीं हो पाता है ।  


बार्डरलाइन पर्सनालिटी डिसआर्डर से ग्रस्त आदमी हमेशा अपने-आपको नुकसान पहुंचाने की कोशिश करता है। शराब पीना, मादक पादार्थों का सेवन करना, लापरवाही से गाडी चलाने जैसी हरकतें सामान्य हो जाती हैं। व्यक्ति हमेशा अपने आप को खाली-खाली महसूस करता है और गुस्से पर नियंत्रण नहीं कर पाता है।

 

 


 

Read More Article On- Sex relationship in hindi

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES10 Votes 46819 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।