बीमारियों से बचना है तो रोज टहलें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 29, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

bimariyon se bachna hai toh roj tahleinटहलना हमारी सेहत के लिए एक अच्छा व्यायाम है साथ ही यह हमें कई गम्भीर बीमारियों से बचाता है। टहलने की आदत को कभी भी शुरु किया जा सकता है। अमेरिका में हुए एक नए शोध के मुताबिक, हल्का व्यायाम भी हमें हार्ट फेल, हृदय सम्बंधी रोग, हृदयाघात, मधुमेह तथा यहां तक कि अल्जाइमर्स जैसी बीमारियों से भी बचाता है और इसे कभी भी शुरू किया जा सकता है।

 

इसे भी पढ़े सुबह की सैर दिलाएगी अवसाद से निजात

 

समाचार पत्र डेली एक्सप्रेस में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, उम्र के 50 साल पूरे करने के बाद यदि योगाभ्यास या व्यायाम के समय में थोड़ी वृद्धि की जाती है तो यह जीवन के लिए कई तरह से लाभदायक होता है।

 

इसे भी पढ़े अपनाइए योग रहिए निरोग 

 

शोध नतीजों के मुताबिक, जिन लोगों ने अधेड़ावस्था में अपनी फिटनेस 20 प्रतिशत तक बढ़ा ली, उनमें कई दशक बाद भी गम्भीर बीमारियों का खतरा 20 प्रतिशत तक कम होता है। अध्ययनकर्ताओं के अनुसार, 50 साल की उम्र से टहलना, घर के काम, बागवानी करने से सेहत बनी रहती है। इसके अलावा अपने काम स्वयं करने से भी 65 साल की उम्र तक इन गम्भीर बीमारियों का खतरा कम किया जा सकता है।

 

वरिष्ठ शोधकर्ता जैरेट बेरी ने कहा, हम इस बात को लेकर प्रतिबद्ध हैं कि फिट होने से जीवन के अंतिम वर्षो में भी गम्भीर बीमारियों का खतरा कम होता है। अमेरिकी शहर डलास में यूटी साउथवेस्टर्न मेडिकल सेंटर के शोधकर्ताओं ने औसतन 49 वर्ष के 14,726 स्वस्थ पुरुषों तथा 3,944 स्वस्थ महिलाओं के अध्ययन के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला।

 

Read More Health News In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES8 Votes 12422 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर