भिंडी के 10 आश्‍चर्यजनक लाभ

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 19, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • भिंडी में भरपूर मात्रा में होता है फाइबर और मैग्‍नीशियम।
  • भिंडी में मौजूद फॉलिक एसिड भ्रूण के विकास में लाभकारी।
  • पाचन क्रिया को मजबूत बनाने में भिंडी काफी मदद करती है।
  • वजन काबू रखने में मददगार साबित होती है भिंडी।

भिंडी से कई प्रकार की रेसीपी (सब्‍जी, रायता, सूप, कढ़ी) बनायी जा सकती है। इससे निकलने वाला रेशेदार चिकना पदार्थ कई प्रकार के रोगों को ठीक करने में मदद करता है। भिंडी खाने से भूख बढ़ती है। आइए हम आपको भिंडी के गुणों के बारे में जानकारी देते हैं।

benefits of ladyfinger

हरी सब्जियों में भिंडी का महत्‍वपूर्ण स्‍थान है। यह स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें कई प्रकार के पौष्टिक तत्‍व और प्रोटीन मौजूद होते हैं। भिंडी में प्रोटीन, वसा, रेशा, कार्बोहाइट्रेड, कैल्शियम, फास्‍फोरस, लौह मैग्‍नीशियम, पोटैशियम, सोडियम और तांबा पाया जाता है। इसलिए भिंडी को बहुत पौष्टिक सब्‍जी माना जाता है।

 

भिंडी के गुण

कोलन कैंसर

कोलन कैंसर को दूर करने में भिंडी बहुत फायदेमंद होती है। यह आंतों में मौजूद विषैले तत्‍वों को दूर करने का काम करती है। इससे आंतें पहले से बेहतर तरीके से काम करती हैं और उनके काम करने की क्षमता बढ़ जाती है। इससे कोलन कैंसर का खतरा कम हो जाता है।

 

डायबिटीज

भिंडी में मौजूद यूगेनॉल डायबिटीज से बचाने में मदद करता है। यह फाइबर रक्‍त में शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित करने का काम करता है। यह अंडकोशों में शर्करा के अवशोषण की प्रक्रिया को धीमा कर डायबिटीज को दूर रखने अथवा नियंत्रित करने का काम करता है।

 

कब्‍ज

भिंडी कब्‍ज को भी दूर करती है। यह डायटरी फाइबर का सबसे अच्‍छा स्रोत मानी जाती है, जो हमारी पाचन क्रिया के लिए काफी लाभकारी होती है। यह घुलनशील फाइबर शरीर में मौजूद पानी में घुल जाते हैं, जिससे हमारी पाचन क्रिया दुरुस्‍त हो जाती है ।


अनीमिया से बचाये

भिंडी में मौजूद आयरन तत्‍व हमारे शरीर के लिए काफी लाभकारी होते हैं। यह रक्‍त में हीमोग्‍लोबिन का निर्माण करते हैं, जिससे आप अनीमिया से बचे रहते हैं। इसके साथ ही भिंडी में मौजूद विटामिन के रक्‍त स्राव को रोकने में मदद करता है, जिससे किसी विकट परिस्थिति में शरीर से रक्‍तस्राव बहुत कम होता है।

 

वजन रखे काबू

जो लोग वजन कम करना चाहते हैं, उनके लिए भिंडी में मौजूद फाइबर से अच्‍छा और कोई उपाय नहीं है। भिंडी में कैलोरी की मात्रा बिलकुल भी नहीं होती , इसलिए यह वजन कम करने का अच्‍छा उपाय माना जाता है।

 

दिल के लिए लाभकारी

भिंडी में मौजूद घुलनशील फाइबर रक्‍त में कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा को कम करने में मदद करता है। इससे हार्ट अटैक का खतरा काफी कम हो जाता है। भिंडी उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल को काबू करने का कारगर उपाय है। इसमें मौजूद पैक्‍टिन उच्‍च कोलेस्‍ट्रोल को काबू करने में मदद करता है।


बालों के‍ लिए फायदेमंद

अगर आप बालों को लंबे समय तक काला और घना बनाये रखना चाहते हैं, तो भिंडी इसमें आपकी मदद कर सकती है। साथ ही यह बालों की रूसी को भी दूर रखती है। बाउंसी हेयर पाने के लिए भिंडी के छोटे-छोटे टुकड़े काटें और उसमें आधा नींबू निचोड़ लें। इसे सिर धोने में इस्‍तेमाल करें। इससे आपके बालों को काफी फायदा होगा। जानकार तो यह भी मानते हैं कि भिंडी से सिर धोन पर जुएं भी नहीं होतीं।

 

इम्‍यून सिस्‍टम मजबूत बनाये

भिंडी में विटामिन सी काफी अधिक मात्रा में होता है। इससे यह इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाकर खांसी व ठंड से बचाने में मदद करता है। विटामिन सी के अलावा इसमें कई महत्‍वपूर्ण तत्‍व जैसे मैग्‍नीशियम, मैगनीज, कैल्शियम और आयरन भी होते हैं जिससे यह हानिकारक फ्री रेडिकल्‍स से लड़कर एक मजबूत व सक्षम प्रतिरक्षा प्रणाली बनाने में मदद करती है।


नजर बनाये मजबूत

विटामिन ए और बेटा केरोटीन भी भिंडी में पर्याप्‍त मात्रा में होते हैं। जो हमारी नजर के लिए काफी फायदेमंद साबित होते हैं। इसके साथ ही यह जरूरी पोषक तत्‍व आंखों के बड़े विकार जैसे मोतियाबिंद से भी बचाये रखने में सहायक होते हैं। विटामिन ए आंखों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी होता है और उम्र के असर से आंखों को होने वाले नुकसान से बचाये रखने में भी उपयोगी तत्‍व होता है।

 

भ्रूण का विकास

गर्भावस्‍था के दौरान भिंडी का सेवन भ्रूण के समुचित विकास के लिए जरूरी होता है। भिंडी में मौजूद फोलेट एक जरूरी पोषक तत्‍व है जो भ्रूण के मस्तिष्‍क विकास में अहम भूमिका निभाता है। भिंडी में मौजूद फोलिक एसिड की भरपूर मात्रा गर्भावस्‍था के चौथे से बारहवें सप्‍ताह तक, भ्रूण के न्‍यरल ट्यूब के विकास में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है।

 

 

 

Read More Articles on Herbs in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES400 Votes 39000 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • aditi04 Feb 2013

    this is very usefull note for us

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर