गर्भावस्था में आराम करने से नहीं होता मानसिक विकार और रक्‍तचाप रहता है सामान्‍य

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 28, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्भावस्था में कई तरह के बदलाव होते हैं जिसके लिए जरूरी है आराम।
  • प्रेगनेंसी के समय डॉक्टर ज्यादा से ज्यादा आराम की सलाह देते हैं।
  • इससे महिलाएं तनाव व किसी अन्य तरह की चिंता से बच सकती हैं।
  • इस दौरान भरपूर आराम मां व बच्चे दोनों के लिए काफी जरूरी होता है।

गर्भावस्था के दौरान डाक्टर्स गर्भवती को आराम करने की सलाह देते हैं। ऐसा जरूरी भी है सेहतमंद शिशु के लिए। क्या आप जानते हैं डाक्टर्स द्वारा दी जाने वाली इस सलाह के विपरीत भी गर्भावस्था में आराम के बहुत फायदे हैं।

garbhavastha me araam karne ke faaydeआराम के दौरान ना सिर्फ गर्भवती महिला अपने आपको समय दे सकती है बल्कि यह सामान्य डिलीवरी के लिए भी बहुत जरूरी है। आइए जानें गर्भावस्था में आराम करने के फायदे क्या हैं।

 

गर्भावस्‍था में आराम के फायदे

  • बच्चे के होने के बाद आपके पास इतना समय नहीं बचता कि आप खुद की देखभाल कर सकें। तो यदि आप पहली बार गर्भवती हुई हैं तो यह सही अवसर है जब आप अपने लिए कुछ समय निकाल सकती हैं और अपनी अच्छी तरह से देखभाल कर सकती हैं।
  • यदि आप दूसरी-तीसरी बार मां बनने जा रही है। तो आपके पास गर्भावस्था के दौरान समय की बहुत कमी होती है। ऐसे में आपके लिए आराम के फायदे हैं। आप अपने आपको व्यस्त दिनों में से कुछ समय रिलैक्स करने के लिए निकाल सकती हैं और अपने परिवार के साथ आपको समय बिताने का वक्त भी मिलेगा।
  • इनके पिरीत आपके आप रिलैक्सेशन के अन्य टिप्स भी मौजूद हैं लेकिन इसके लिए आपके पास भरपूर समय होना चाहिए। गर्भावस्था के बाद और गर्भावस्था के दौरान आराम के कई फायदे है। ऐसे में रिलेक्सेशन भी कई तरह का हो सकता है और उनसे मिलने वाले फायदे भी कई तरह के हो सकते हैं।
  • आराम करने का एक ये भी तरीका है कि आप ये सोचे आपमें तनाव से लड़ने की अधिक क्षमता है और आप तनाव से कोसों दूर है। इससे आपको मानसिक तनाव भी नहीं होगा।

  • यह सही समय है जब आप अपनी समस्याओं, जिम्मेदारियों और जीवन की कठिनाइयों से दूर हो सकती हैं और अपने आपको तनावमुक्त रख सकती हैं।
  • तनाव कम होने से आपमें मोटापा कम होगा और आप आपको थकान भी कम होगी।
  • गर्भावस्था के दौरान होने वाली घबराहट, तेजी से चलने वाली सांसे इत्यादि को आराम के दौरान नियंत्रित किया जा सकता है।
  • शरीर को पूरी तरह से आराम के देने लिए और गर्भावस्था की समस्याओं को कम करने के लिए रिलैक्सेशन करना बहुत जरूरी है।
  • यदि आप प्रतिदिन आराम करें और रिलैक्सेशन का अभ्यास करें तो आप अपना रक्तचाप सामान्य रख सकती हैं। आमतौर पर रक्तचाप गर्भावस्था के दौरान बढ़ जाता है।
  • किसी भी तरह के भय से आप आराम के दौरान मुक्त हो सकती हैं इसके साथ ही आपको सकारात्मक सोचने में भी मदद मिलेगी।
  • गर्भावस्था के समय, गर्भावस्था के बाद शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक कई तरह के भय और शंकाएं मन में होती हैं जिससे उबरने के लिए रिलैक्सेशन बहुत फायदेमंद होती है।


    डिलीवरी के दौरान आराम के फायदे

  • रिलैक्सेशन से दर्द और संकुचन की तीव्रता कम हो जाती है।
  • आपकी उर्जा बचाने में मदद करता है जिसका प्रयोग आप डिलीवरी के दौरान कर सकते हैं।
  • डिलीवरी के दौरान जब दर्द होता है तो कहते हैं कि जितना अधिक दर्द होगा डिलीवरी के दौरान उतनी ही आसानी होती है। ऐसे में रिलैक्सेशन से लेबरपेन को बढ़ाने में मदद मिलती है।

 

 

 

Read More Articles on Pregnancy Care in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES24 Votes 47019 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर