बेहतरीन फोरप्ले कैसे करें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 31, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

behatareen foreplay kaise karein

सेक्‍स के लिए महिलाओं और पुरुषों दोनो की जरूरतें अलग-अलग होती हैं। दोनों का स्‍वभाव और जीन भी अलग होते हैं। अगर दोनों के बीच सही तालमेल न हो, तो वे अपने सेक्‍स जीवन का पूरा आनंद नहीं उठा पाएंगे। अच्‍छे सेक्स के लिए अच्छा फोरप्ले अत्‍यंत आवश्यक है। और इसके लिए जरूरी है कि कपल्‍स की आपसी समझ अच्‍छी हो। आइए हम आपको बताते है कि सेक्‍स का पूरा आनंद उठाने के लिए कैसे करे बेहतरीन फोरप्ले।

 [इसे भी पढ़ें : सेक्‍स में जरूरी है फोरप्‍ले]

बॅस्‍ट कुछ नहीं

फोरप्ले का कोई सर्वाधिक उपयुक्त तरीका नहीं हो सकता। सेक्स में बॅस्‍ट जैसा कुछ होता भी नहीं। वक्‍त, माहौल और रूचि के हिसाब से सब बदलता रहता है। और यह बदलाव बेहद जरूरी भी है। इसलिए क्‍या और कैसे किया जाए इसे हर पर‍िस्थिति के अनुसार सही नहीं ठहराया जा सकता। बस इस बात का ध्‍यान रहे कि सब कुछ नेचुरल ही हो। गलतियों से सीखें और अपने बर्ताव में उसके अनुसार बदलाव लाने की कोशिश करें। यह जानने की कोशिश करें कि आपके सा‍थी को क्‍या और कैसे भाता है और कैसे नहीं। 

 

होश में रहें

जोश में भी अपने होश नहीं खोने चाहिए। बेशक पुरुष सेक्स के प्रति अधिक उत्साहित होते हैं, लेकिन उनके लिए स्‍वयं के स्‍वभाव पर नियंत्रण रखना जरूरी होता है। यह बात उन्‍हें ध्‍यान रखनी चाहिए कि वे अपनी महिला मित्र से उचित व्यवहार करें। फोरफ्ले को सेक्स का एक अंग मानें ना कि सेक्स से पहले की आवश्यक क्रिया। अपनी पत्नी या महिला मित्र के सम्मान को ठेस न पहुंचाएं। उन्‍हें इस बात का अहसास कराएं कि उनके साथ बिताए जा रहे आपके ये पल बेहद यादगार हैं। 

 

कैसे भी ले सकते हैं फोरप्‍ले का आनंद

फोरप्ले में कोई बंधा-बंधाया नियम नहीं होता। आप कई तरीकों से इसका आनंद ले सकते हैं। हल्की फुल्की छेड़छाड़ भी इसका ही एक हिस्‍सा है। लेकिन अपने साथी के कम्‍फर्ट का पूरा ध्‍यान रखें । 

[इसे भी पढ़ें : सेक्‍स के दौरान बचें इन गलतियों से]

एक दूसरे की रूचि को समझें 

अच्छे सेक्स के लिए यह भी जरूरी है कि आप एक दूसरे की पसंद को न सिर्फ समझें बल्कि उसे पूरा महत्त्‍व भी दें। कोई भी ऐसी हरकत ना करें जो मित्र या पत्नी को नागवार गुजरे। 

 

कितना वक्‍त

सेक्स में वक्‍त नहीं संतुष्टि मायने रखती है। इसलिए फोरप्ले को किसी समय सीमा में बांधना सही नहीं। यह एक शारीरिक और मानसिक संतुलन और मिलन की क्रिया है। इसलिए घड़ी-घड़ी, घड़ी को न देखते हुए इसका भरपूर लुत्‍फ उठाना चाहिए।

 

Read More Articles on Sex And Relationship in Hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES477 Votes 82395 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर