बच्‍चे को जल्‍दी खिला रही हैं मांएं

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 03, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

bacche ko jaldi khila rahi hai maaye

जन्‍म के बाद बच्‍चे को केवल मां का दूध ही देना चाहिए। ए‍क निश्‍चित आयु के बाद ही उसे ठोस आहार देना शुरू करना चाहिए। लेकिन, एक ताजा अध्‍ययन में यह बात सामने आई है कि करीब चालीस फीसदी मांएं अपने बच्‍चों को सही समय से पहले ही ठोस आहार देना शुरू कर देती हैं। यह बच्‍चे की सेहत के लिए ठीक नहीं है।


मेडिकल जर्नल पेडियाट्रिक्स में छपे एक अध्ययन में पता चला है कि बड़ी संख्‍या में मांएं अपने बच्‍चों को सही दिशा-निर्देशों के उलट जल्‍द ही ठोस आहार खिलाना शुरू कर देती हैं। मांओं की यह जल्‍दबाजी आगे चलकर बच्‍चों के लिए बड़ी परेशानियां खड़ी कर सकती हैं।


दअसल, शोधकर्ता यह जानना चाहते थे कि आखिर कितने बच्चों को ठोस आहार वक्त से पहले ही दिया जाने लगता है। इस शोध का मुख्‍य उद्देश्‍य स्‍तनपान के महत्‍व को समझना ही था। इसक शोध की शुरुआत साल 25005 में की गयी। तब अमेरिकन एकेडमी ऑफ पेडियाट्रिक्स ने अभिभावकों को यह हिदायत दी थी कि बच्‍चों को कम से कम चार से छह महीने की उम्र में ही ठोस आहार दिया जाए।

इसके बाद पिछले साल यानी 2012 में एकेडमी ने अपनी सलाह में बदलाव किया। इस बार एकेडमी की ओर से कहा गया कि 6 महीने की उम्र से पहले बच्चे को ठोस आहार नहीं दिया जाना चाहिए।

 


Read More Article on Health News in hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES4 Votes 1461 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर