गर्भावस्था में फीटल किक के बारे में कुछ रोचक तथ्य

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 09, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • 16 से 22 सप्ताह के बीच का समय होता है फीटल किक्स के अनुभव का।
  • पतली महिलाएं, मोटी महिलाओं की तुलना में जल्दी महसूस करती हैं ये किक्स।
  • 20वें हफ्ते तक ज़्यादातर महिलाओं को फीटल किक्स का हो जाता है अहसास।
  • बच्चे की दिनभर में मारी गई किक्स को आप आराम से कर सकती हैं नोट।

गर्भावस्था का समय हर महिला के जीवन में आता है। ये ऐसा खूबसूरत पल होता है जिसे हर महिला जीना चाहती है। गर्भावस्था के दौरान सबसे रोमांचक समय होता है फीटल किक का अनुभव। आइये जानते हैं कि फीटल किक क्या हैं और गर्भावस्था में फीटल किक्स का अनुभव कब होता है। 

garbhavastha me foetal kicksफीटल किक वह समय होता है जब भ्रूण गर्भवती महिला को लात मारता रहता है। जिसे अनुभव करने के लिए हर महिला बेसब्री से इंतजार करती है। इतना ही नहीं महिलाएं दिनभर में फीटल किक की गिनती तक करती रहती है। गर्भावस्था के दौरान फीटल कि‍क आमतौर पर चौथे महीने में शुरू हो जाती है, लेकिन कुछ महिलाओं में फीटल कि‍क देर से आरंभ होता है। लेकिन इसमें घबराने की कोई बात नहीं। आइए जानें गर्भावस्था में फीटल किक के बारे में कुछ और रोचक तथ्य ।

 

  • जब आपका होने वाला बच्चा आपको पहली बार कि‍क (लात) मारता है तो वह समय 16 से 22 सप्ताह के बीच का होता है। हालांकि सातवें-आठवें सप्ताह बाद वह मूव करने लगता है। आप अल्ट्राआसाउंड के जरिए उसे कलाबाजियां करते देख सकते हैं।
  • जो महिलाएं दूसरी बार मां बन रही होती हैं वे पहली बार बनने वाली मांओं के मुकाबले अपने होने वाले बच्चे की कि‍क को जल्दी पहचान लेती हैं।
  • पतली महिलाएं मोटी महिलाओं के मुकाबलें जल्दी ही अपने बच्चे की कि‍क को महसूस कर लेती हैं।
  • पहली बार जब भ्रूण कि‍क मारता है तो आपको सनसनाहट जैसा महसूस होता है, जैसे कोई सरसराती चीज आपको छूती हुई निकल गई,जैसे एक मछली आसपास घूमती है, यानी संचलन जैसा आभास आप महसूस करेंगी।
  • कई बार भूख लगने और पेट में गैस भी बनती है जो कि आपको लगता है आपका बच्चा पैर मार रहा है लेकिन धीरे-धीरे आप बच्चे के किक मारने के अनुभव को सहजता से महसूस करने लगेंगी।
  • पहली बार किक में और दूसरी बार की किक में बच्चा थोड़ा समय लेता है और इसका अनुभव भी अलग होता है लेकिन जब आप प्रतिदिन बच्चे की किक महसूस करेंगी तो यह आपके पहले दिन के अनुभव से एकदम अलग होगा, यानी जरूरी नहीं कि बच्चे की किक के दौरान आपको हर बार एक जैसा ही महसूस हो।
  • अकसर गर्भवती महिलाओं के मन में बच्चे की किक को लेकर सवाल उठते हैं लेकिन इन सवालों के जवाब में यदि आप गौर करेंगी तो अपने बच्चे की दिनभर में मारी गई किक को आप आराम से नोट कर सकती हैं।
  • बीसवे हफ्ते तक ज़्यादातर महिलाओं को फीटल किक्स के बारे मे पता चल जाता है बल्कि इस समय तक एक माँ को अपने बच्चे के सोने और जागने की साइकिल का भी पता लग जाता है ऐसा कई महिलाओं मे देखा गया है की उन्हे पहले फेटल किक का एहसास करीब चौबीस हफ्ते बाद होता है लेकिन यह बिल्कुल सामान्य है।
  • बत्तीसवे से चौबीसें हफ्ते तक फिटल किक काफ़ी ज़्यादा होने लगते हैं, लेकिन उसके बाद धीरे-धीरे इसमे कमी आने लगती है क्योंकि बच्चे का पूरी तरह से विकास हो जाता है और ज़्यादा हिलने के लिए उसके जगह नही रहती, इन कारणों से बच्चे को हिलने डुलने मे भी मुश्किल होती है।
  • दिन के चौबीस घंटो के अंतराल के दौरान आपको किक, ट्विस्ट, टर्न मिलाकर कम से कम दस बार फील होना चाहिए। फीटल किक ना महसूस हो तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर को दिखाइए।

 

जैसा की हम ऊपर जान ही चुके हैं कि फीटल किक पूरी तरह सामान्य प्रक्रिया है। लेकिन इसके बारे में जानकारी होना, इसके अनुभव और आनंद को बढ़ा देता है। तो अपने गर्भावस्था के इस अनुभव का आनंद लें और खान-पान और सेहत का अच्छी तरह खयाल रखें, ताकी आप और आपका होने वाला शिशु दोनों स्वस्थ रहें।

 

 

Read More Articles on Pregnancy Care in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES49 Votes 51885 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर