आयुर्वेद से करें चिकनपॉक्स का इलाज

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 28, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • वरिसेल्ला ज़ोस्टर नामक विषाणु है चिकनपॉक्स का कारण।
  • इसमें शरीर में फुंसियों जैसी चक्तियाँ विकसित होती हैं।
  • अक्सर इसे ग़लती से खसरे की बीमारी समझी जाती है।
  • इस बीमारी को लघु मसूरिका के नाम से जाना जाता है।

चिकन पॉक्स होने का कारण होता है वरिसेल्ला ज़ोस्टर नाम का विषाणु। इस विषाणु के शिकार लोगों के पूरे शरीर में फुंसियों जैसी चक्तियाँ विकसित होती हैं। अक्सर इसे ग़लती से खसरे की बीमारी समझी जाती  है। इस बीमारी में रह रह कर खुजली करने का बहुत मन करता है, और अक्सर इसमें खांसी और बहती नाक के लक्षण भी दिखाई देते हैं। आयुर्वेद में इस बीमारी को लघु मसूरिका के नाम से जाना जाता है। यह एक छूत की बीमारी होती है और ज़्यादातर 1 से 10 साल की उम्र के बीच के बच्चे इस रोग के  शिकार होते हैं।


आयुर्वेद

चिकन पॉक्स के लक्षण:

 

  • चिकन पॉक्स की शुरुआत से पहले पैरों और पीठ में पीड़ा और शरीर में हल्का बुखार, हल्की खांसी, भूख में कमी, सर में दर्द, थकावट, उल्टियां वगैरह जैसे लक्षण नज़र आते हैं, और 24 घंटों के अन्दर पेट या पीठ और चेहरे पर लाल खुजलीदार फुंसियां उभरने लगती हैं, जो बाद में पूरे शरीर में फैल जाती हैं जैसे कि खोपड़ी पर, मुहं में, नाक में, कानों और गुप्तांगो पर भी। 
  • आरम्भ में तो यह फुंसियां दानों और किसी कीड़े के डंक की तरह लगती हैं, पर धीरे धीरे यह तरल पदार्थ युक्त पतली झिल्ली वाले फफोलों में परिवर्तित हो जाती हैं।
  • चिकन पॉक्स के फफोले एक इंच चौड़े होते हैं और उनका तल लाल किस्म के रंग का होता है और 2 से 4 दिनों में पूरे शरीर में तेज़ी से फैल जाते हैं।

 

चिकन पॉक्स के आयुर्वेदिक उपचार:

  • स्वर्णमक्षिक भस्म: 120 मिलीग्राम स्वर्णमक्षिक भस्म कान्च्नेर पेड़ की छाल के अर्क के साथ सुबह और शाम लेने से चिकन पॉक्स से राहत मिलती है।
  • इंदुकला वटी: बीमारी होने के दूसरे सप्ताह से सुबह शाम पानी के साथ 125 मिलीग्राम इंदुकला वटी के प्रयोग से भी लाभ मिलता है।
  • करेले के पत्तों के जूस के साथ एक चुटकी हरिद्रा पाउडर के प्रयोग से भी लाभ मिलता है। 
  • जइ के दलिये के दो कप दो लीटर पानी में डालकर उबाल लें, और इस मिश्रण को एक महीन सूती कपडे में बांधकर नहाने के टब में कुछ देर तक डुबोते रहें। जइ की  दलिया उस कपडे में से टब में रिसता रहेगा जिससे पानी पर एक आरामदेह परत बन जायेगी जिससे त्वचा को आराम मिलेगा और शरीर पर हुए चकते भी भरने लगेंगे। 
  • खुजली से राहत पाने के लिये गुनगुने पानी में नीम के पत्ते मिलाकर उस पानी का प्रयोग करें । 
  • जहाँ खुजली होती है उन जगहों पर कैलमाईन लोशन मलें। पर इसका प्रयोग चेहरे पर और आँखों के आसपास ना करें। 
  • मुंह में हुए छालों को ठीक करने के लिये एसटामिनोफिन नामक औषधि का प्रयोग करें । 
  • बीमारी की शुरुआत में दिन में 3 या 4 बार गुनगुने पानी से नहाना चाहिये। नहाने के लिए ओटमील से बने उत्पादन, जो आम तौर से बाज़ार में मिलते हैं, खुजली कम करने के लिए भी सहायक सिद्ध होते हैं। 
  • अगर आपका बच्चा चिकन पॉक्स से ग्रस्त है और उसे बार बार खुजली करने का मन करता है तो सोते समय उसके हाथों में दस्ताने या जुराबें डालकर रखें। अपने बच्चे की उँगलियों के नाखूनों को अच्छी तरह काट लें और उन्हें साफ़ रखें ताकि खुजाने से कोई विपरीत असर न पड़े । 
  • संतरे जैसे अम्लीय, खट्टे और नमकीन खानपान का सेवन न करें । 

 

चिकन पॉक्स का निवारण: 

  • चिकित्सक सलाह देते हैं कि चिकन पॉक्स के निवारण के लिये 12 से 15 महीनों की उम्र के बीच बच्चों को चिकन पॉक्स का टीका, और 4 से 6 वर्ष की उम्र के बीच बूस्टर टीका लगवा लेना चाहिये।
  • यह टीका चिकन पॉक्स के हल्के संक्रमण को रोकने के लिये 70 से 80 प्रतिशत असरदार होता है और गंभीर रूप से संक्रमण को रोकने के लिये 95 प्रतिशत असरदार होता है। इसीलिए हालांकि कुछ बच्चों ने टीका लगवा लिया होता हैं फिर भी उनमे इस रोग से ग्रसित होने के लक्षण सौम्य होते हैं, बनिबस्त उन बच्चों के जिन्होंने यह टीका नहीं लगवाया होता है।

 

Read more articles on Alternative therapy in Hindi.




Write a Review
Is it Helpful Article?YES671 Votes 44867 Views 12 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • shaista14 Jul 2015

    Chiken pox ke upchar ke liye apne jo tareeke bateye hain wo bahut hi kargar hain.

  • gulshan02 Mar 2013

    muzat chicken pox huey hai 5 din ho gay par wo phodyy abhi tak gai nahi hai plzz muzya kuch uupay batay..

  • monika sharma09 Dec 2012

    mughe cikenpox huey 6 7 mahine hoye abhi tak dag nai gye plz help me

  • nayan 08 Aug 2012

    mere bhai ko chiken pox hue 15 din hue the uske thik hote mjhe chiken pox ho gaya 4 din hue hai aur sir par kaafi zyada puriya ho gayi hai. aap plz mjhe koi gharelu upay bataye...

  • Kdbir26 Jul 2012

    Muje abhi chicken pox nikla hai or muje kya kya aboid karna chahiye or es ko thik hone main kitne din lagege ? Or daag kese jayege ?

  • niahi05 Jul 2012

    please chicken pox spot door karne key upay bataye

  • niahi05 Jul 2012

    please chicken pox spot door karne key upay bataye

  • niahi05 Jul 2012

    please chicken pox spot door karne key upay bataye

  • niahi05 Jul 2012

    please chicken pox spot door karne key upay bataye

  • RAHUL MEHRA03 Jun 2012

    i had chicken pox 2 year ago but black spot of that is still on my face . give me some advice to reduce this black spot

  • niki31 May 2012

    mere age 28 yr hai abhi mujhe chikenpox hua tha 15din hue hai per daag nahi jaa raha hai mei betnovate c lagati hoon aur medimex sope se nahati hoon .pure face aur body per daag hai plz mujhe bataye ki mera daag kaise jayega jaldi se,,,kya aur abb mere bhai ko bhi hoo gaya hai...aaj se hie plz bataye ki mere brother ko kya medicin do...

  • mohd 12 May 2012

    mujhe chikanpox rog hua h. Meri age 24 year h. Meri puri body par lal chkkte k nisaan jaise ubhar aaye h. Aap mujhe ya batae ki eska asar kab tak rahta h or eske gaaw kab tak bharte h.

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर