यौन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए आयुर्वेद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 29, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

yaun swasthya ke liye ayurveda

भारत में आयुर्वेद उपचार का उपयोग ५००० वर्षों से भी अधिक समय से किया जाता है ! सेक्स से संबंधित विकारों से पीड़ित लोगों के लिए भी आयुर्वेदिक उपचार का उपचार किया जाता है ! आम तौर पर इन विकारों में शामिल हैं –

•    शीघ्रपतन
•    नपुंसकता
•    इरेक्टल डिस्फंगक्शन
•    कामेच्छा का अभाव


आम तौर पर आयुर्वेदिक उपचार अनेक प्रकार की जड़ी बूटियों का एक ऐसा मिश्रण होता है, जो कि व्यक्ति के सेक्सुअल हेल्थ और सामान्य स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है !

नपुसंकता के लिए आयुर्वेदिक उचार –

पुरुषों में नपुसंकता  की तुलना स्त्रियों में व्याप्त ठंडेपन के साथ की जाती है ! नपुंसकता के लक्षणों में से कुछ हैं – शारीरिक संबंध स्थापित करने में सक्षम न होना या पूर्ण रूप से संभोग स्थापित न कर पाना या संभोग करते समय ऑर्गैज़म (चरम आनंद) तक न पहुँच पाना !

कामेच्छा को बढाने के लिए उपयोग में लाई जानेवाली आयुर्वेदिक औषधियों को ‘वजीकर्म औषधि’ या ‘ऐफ्रोडीज़ीऐक’ के नाम से जाना जाता है।



•    आयुर्वेदिक उपचार -  वानरी गुटिका, मदानानंदा मोदक, वीर्य स्त्रन्भा वटी, मकरध्वज, चंद्रोदय रस, अपत्य्कार स्वरस, शुक्र वल्लभ रस, कामेश्वर मोदक, गोखरू पाक, छुहारा हक, मूसली पाक, बादाम पाक, कामदेव चूर्ण, गोख्शुराद चूर्ण, नर्सिघा चूर्ण, मदन प्रकाश चूर्ण, शत्वर्यादी चूर्ण, मृतसंजीवनी सुरा इत्यादि नपुसंकता के उपचार में लाभदायक होते हैं !
•    खुराक – एक पौष्टिक खुराक खाएं, जिसमे उच्च प्रोटीन का समावेश हैं, जैसे की अंडे, मछली, घी, मक्खन, सोयाबीन, हरी सब्जियां, फल, बदाम और अन्य मेवे !
•    अन्य उपयोगी सुझाव हैं – शराब और सिगरेट का सेवन नहीं करना चाहिए, अपने आहार में वसा और कोलेस्ट्रोल की मात्रा को घटा देना चाहिए और नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम करना चाहिए !



कामेच्छा को जगाने के लिए आयुर्वेद – वर्तमान युग में व्यस्त जीवनशली, बढते तनाव और थकान के कारण पुरुषों में कामेच्छा में कमी पाई जाती है ! साथ ही वे संभोग करने में सक्षम नहीं होते हैं !

•    नपुसंकता के लिए अनेक जड़ी बूटी उपचार हैं – जैसे की अश्वगंधारिष्ट, श्री गोपाल तेल !
•    शराब, सिगरेट और ड्रग्स का सेवन न करें, वज़न घटाएं, नियमित रूप से योग और व्यायाम करें !
•    पर्याप्त आराम करें, पर्याप्त नींद लें, योग के साथ अपने तनाव के स्तर को कम करें !



सावधानियाँ – नपुसंकता और अन्य सेक्सुअल समस्याओं के निदान के लिए अनेक जड़ी बूटी के उपचार उपयोगी साबित होते हैं ! लेकिन दवा की खुराक, अवधि, संरक्षण और डायटरी सप्लीमेंट के बारे में किसी आयुर्वेदिक वैद्य से अवश्य परामर्श ले लेना चाहिए !

 

Read More Articles on Ayurveda Treatment in Hindi

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES145 Votes 32053 Views 4 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर