अस्थानिक गर्भावस्था के लक्षण समान्य गर्भावस्था से होते हैं थोड़े अलग

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 25, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अस्थानिक गर्भावस्था में गुहा के बाहर ही प्रत्यारोपित हो जाता है गर्भ।
  • गर्भावस्था के पहले कुछ हफ्तों में ही होती है, अस्थानिक गर्भावस्था।
  • पेट के निचले हिस्से में तेज दर्द है अस्थानिक गर्भावस्था का लक्षण।
  • कंधे और गर्दन में लगातार दर्द भी है अस्थानिक गर्भावस्था का लक्षण।

अस्थानिक गर्भावस्था, गर्भावस्था का वह जटिल रूप है, जब गर्भधारण के दौरान गर्भ, गुहा के बाहर ही प्रत्यारोपित हो जाता है। अस्थानिक गर्भधारण के असामान्य होने के कारण यह एक जोखिम कारक भी है। इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि अस्थानिक गर्भावस्था के क्या लक्षण होते हैं।

अस्थानिक गर्भावस्था के लक्षणअस्थानिक गर्भावस्था, गर्भावस्था के पहले कुछ हफ्तों में होता है और ज्यादातर गर्भावस्था के आठ सप्ताह के अन्दर इसका पता लगता है। यह आमतौर पर फैलोपियन ट्यूब में होता है, और ट्यूबल गर्भावस्था के रूप में भी जाना जाता है।

 

जी मिचलाना और स्तनों में कोमलता गर्भावस्था के विशिष्ट लक्षण होते हैं। यही लक्षण अस्थानिक गर्भावस्था के प्रारंभिक चरण में भी मौजूद होते हैं। हालांकि, कुछ मामलों में अस्थानिक गर्भावस्था के प्रारंभिक चरण में ऐसे कोई भी लक्षण स्पष्ट नहीं होते। ऐसे मामलों में, मासिक धर्म न होने के एक सप्ताह बाद ही आप इसे नोटिस कर सकती हैं। आइए विस्तार से जानें कि अस्थानिक गर्भावस्था के लक्षणों के बारे में।

 

अस्थानिक गर्भावस्था के लक्षण

पेट या श्रोणि में दर्द

पेट के निचले हिस्से में दर्द गर्भावस्था के प्रारंभिक लक्षण है। यह दर्द पेट या श्रोणि क्षेत्र के एक तरफ होता है। दर्द की तीव्रता भिन्न-भिन्न होती है, लेकिन यह हमेशा अस्थानिक गर्भावस्था के होने पर ज्यादा महसूस होता है। इस लिए दर्द को पहचानने की कोशिश करें और अधिक दर्द होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। कहीं ऐसा भी ना हो कि आप इसे सामान्य गर्भावस्था का दर्द समझ लें और यह अस्थानिक गर्भावस्था के कारण हो रहा हो।


कंधे और गर्दन में दर्द

कंधे और गर्दन में दर्द भी अस्थानिक गर्भावस्था का एक लक्षण हैं। जब कंधे के दर्द अस्थानिक गर्भावस्था के अन्य लक्षणों के साथ मौजूद हों, तो आपको तुरंत सचेत हो जाना चाहिए। फैलोपियन ट्यूब के टूटने के कारण अग्रणी नसों में जलन होती है जिसके कारण कंधे और गर्दन में दर्द होता है। अस्थानिक गर्भावस्था एक गंभीर अवस्था है जो कभी-कभी घातक रूप ले लेती है।


चक्कर आना

चक्कर आना और कमजोरी गर्भावस्था के अन्य लक्षणों में से हैं। अस्थानिक गर्भावस्था में, खून की कमी के कारण चक्‍कर आने लगते हैं, इसलिए ऐसा होने पर तत्काल ध्यान दिया जाना चाहिए। इसकी अनदेखी आगे चलकर भारी पड़ सकती है। अगर आपको नियमित चक्कर आ रहे हैं तो यह अस्थानिक गर्भावस्था के कारण हो सकता है। यह भी संभव है कि आप किसी अन्‍य समस्या से जूझ रही हों जिसका आपको पता न हो। ऐसे में डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें।


योनि से खून बहना

योनि से खून बहना अस्थानिक गर्भावस्था के प्रारंभिक लक्षण है। आमतौर पर यह भूरे रंग का होता है, इसमें हल्के से भारी रक्तस्राव हो सकता है। अस्थानिक गर्भावस्था के मामले में रक्तस्राव सामान्य से ज्यादा होता है। जिसे आप आराम से पहचान सकती हैं।

 

निम्न रक्तचाप

निम्न रक्तचाप ज्यादातर अस्थानिक गर्भावस्था के साथ गर्भवती महिलाओं में पाया जाता है। निम्न रक्तचाप मुख्य रूप से आंतरिक अंडे के फटने के बाद रक्तस्राव के कारण होता है।


एचसीजी स्तर

एचसीजी गर्भावस्था के हार्मोन हैं, जिनका उत्पा्दन गर्भावस्था के प्रारंभिक दौर में होता है। सामान्य गर्भावस्था में एचसीजी के स्तर में तीव्र वृद्धि होती है। यानी यह हर 2 से 3 दिन में ही दोगुनी हो जाती है। इसके विपरीत, अस्थानिक गर्भावस्था में एचसीजी स्तर में वृद्धि धीमी गति से होती है। प्रारंभिक चरण में इसका पता और इलाज न हो पाये, तो अस्थानिक गर्भावस्था के लक्षण समय के साथ खराब हो सकते हैं।

 

हालांकि, त्वरित चिकित्सा उपचार फैलोपियन ट्यूब को फटने से बचाने और जटिलताओं की संभावना को कम कर सकती हैं। इसलिए अस्थानिक गर्भावस्था का कोई भी लक्षण दिखाई देते ही बिना देरी किये डॉक्टर से मिलना चाहिए।

 

Read More Article on Pregnancy-Symptoms in hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES21 Votes 51704 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर