मेनोपॉज के दौरान होने वाली घबराहट को कैसे दूर करें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 03, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एस्ट्रोजन के स्तर में गिरावट का अनुभव करती है।
  • घबराहट महिलाओं में होने वाली आम समस्‍या है।
  • गर्म पेय पदार्थों के सेवन से बचने की कोशिश करें।
  • बेडरूम को सहज और शांत बनाए रखना चाहिए।

रजोनिवृति के दौरान महिलाएं एस्ट्रोजन के स्तर में गिरावट का अनुभव करती है। इस दौरान वाहिका-प्रेरक लक्षण, जैसे गर्म चमक, रात में पसीना और धकधकी होना, मनोवैज्ञानिक लक्षण जैसे तनाव, चिड़चिड़ापन, मिजाज परिवर्तन, याददाश्त समस्या, और एकाग्रता में कमी होना आदि सामान्य लक्षण हैं। लेकिन घबराहट ज्‍यादातर महिलाओं में होने वाली आम समस्‍या है। यह समस्‍या रात के समय बहुत ज्‍यादा बढ़ जाती है। यहां कुछ सरल उपायों के द्वारा रात को होने वाली घबराहट को रोकने के तरीके बताए गए है। आइए जानें मेनोपॉज के दौरान होने वाली घबराहट को कैसे रोका जा सकता है।

menopause in hindi

स्‍वस्‍थ आहार का सेवन  

मेनोपॉज के दौरान आपको मसालेदार और अम्लीय खाद्य पदार्थो का सेवन नही करना चाहिए। तम्बाकू, कैफीन और शराब से दूर रहना भी रात में होने वाली घबराहट को कम करने में मददगार होता है। कुछ लोगो का मानना है कि डेयरी उत्पाद और मांस घबराहट के कारण रात को आने वाले पसीने के लिए दोषी हैं, लेकिन आप अपने पोषण के स्तर को अच्छी तरह से उच्च रखना चाहिए। विशेष रूप से, कैल्शियम महत्वपूर्ण है चूंकि रजोनिवृत्त महिलाएं ऑस्टियोपोरोसिस होने की संभावना होती हैं। संतुलित आहार के लिए एक पोषण विशेषज्ञ से परामर्श करें। इसके अलावा, रात में गर्म भोजन और पेय पदार्थों के सेवन से बचने की कोशिश करें।


विटामिन का सेवन

विटामिन बी और सी भी रात को घबराहट के कारण आने वाले पसीने को रोकने में मदद करता है। सुबह की धूप जो कि पर्याप्त विटामिन डी के साथ होती है, बेहद फायदेमंद है।


तनाव कम करें

रजोनिवृति के दौरान तनाव घबराहट के कारणों में से एक हो सकता है। मेडिटेशन क्रोध औऱ चिंता जैसे अरूचिकर भावनाओं के साथ निपटने में मदद करता है। आप व्यायाम के द्वारा भी तनावमुक्त हो सकते है, लेकिन किसी भी तीव्र और भार डालने वाली गतिविधि जोकि आपके शरीर के तापामान को बढ़ा सकती है, को करने से बचना चाहिए।


शांत रखें बेडरूम

आप अपने बिस्तर और बेडरूम को जहां तक संभव हो, सहज और शांत बनाए रखना चाहिए। कॉटन की चादरें का प्रयोग करें और यदि संभव हो तो कॉटन के गद्दे और तकिए भरवाएं। एयर कंडीशनिंग के बजाय, वेंटिलेशन और छत के पंखों के साथ कमरें में सोएं। ताजा हवा आपके शरीर के तापमान को विनियमित करने में मदद कर सकता है। काफी ठंडे पानी की एक बोतल रखें। यदि आप बिस्तर पर प्यासे(बिना पानी पिये) जाते है, तो आपको रात में घबराहट के कारण पसीना आने अधिक संभावना होती है।


सहज कपड़े पहनें

सहज कपड़े न केवल रात में पहने बल्कि दिन में भी पहने। मलमल और सफेद या हल्के रंगों में ढीले-ढाले सूती कपड़े सबसे अच्छा विकल्प हैं। सिंथेटिक फाइबर आपकी त्वचा को सांस लेने में परेशानी कर सकते है। इसके अलावा, सिंथेटिक कपड़े पसीने को सोखते ही है और यह रात में पसीना और हॉट फ्लश (गर्म फ्लश) को बढ़ाता है। ठंड के मौसम के दौरान आप को पॉलिएस्टर से अधिक प्राकृतिक ऊन स्वेटर का चयन कर सकते हैं।


कूल पेय

ताजा जूस और पानी का पर्याप्त सेवन दिन के दौरान आपके शरीर के तापमान को सामान्य रखने में सहायता करेगा। संतरा, नींबू, और मौसंबी जैसे सिट्रस विकल्प अधिक लाभदायक है। गाजर और अन्य सब्जियों के जूस भी फायदेमंद होते है।


एचआरटी(हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी)

रजोनिवृति के साथ निपटने के लिए रात में पसीने जैसी और इससे संबंधित समस्या थोड़ी विवादास्पद है। लंबे समय के लिए हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी पर विशेषज्ञों द्वारा चर्चा की जा रही है। कुछ लोग पूरी तरह से इसके पक्ष में है और इसे पूरा करने के पक्ष में हॉट फ्लश, नाइट स्वेत, मू़ड स्वींग, और अस्थि घनत्व की वृद्धि से पूरी तरह से उपचार जैसे कुछ उल्लेखनीय लाभ है। दूसरे दिल का दौरा पड़ने के खतरे में वृद्धि, अति रक्त के थक्के और स्तन कैंसर जैसे साइड इफेक्ट से चेतावनी देता है। हमेशा अपने डॉ़क्टर से परामर्श करें और रात को पसीने की देखभाल के लिए एचआरटी के चयन से पहले दोनो पक्षो पर अच्छी तरह से बात करें।


इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते है।

Image Source: Getty

Read More Articles on Woman's Health in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES14 Votes 16530 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर