एनोरेक्सिया नर्वोसा के लक्षण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 15, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Anorexia nervosa

एनोरेक्सिया नर्वोसा एक सामान्य खान-पान का विकार है। यह 1-5 प्रतिशत तक की जनसंख्या को प्रभावित करता है और यह 13 से 30 तक की उम्र के बीच की महिलाओं ( 90 से 95 प्रतिशत मामले ) में ज्यादा पाया जाता है। हालांकि यह समस्या आदमियों को भी किसी भी उम्र में प्रभावित कर सकती है।


एनोरेक्सिया नर्वोसा के लक्षण निम्न लिखित हैं –

  • जब आदमी को ज्यादा मोटा होने का डर रहता है ( कभी-कभी कम वजन मे भी ) ।
  • सामान्य लंबाई और उम्र के हिसाब से शरीर के वजन को न बनाए रख पाना ( 15 प्रतिशत या सामान्य वजन से कम ) भुखमरी तक होना ।
  • शरीर का वजन और शेप बिगडना, शरीर के वजन या आकार और वजन घटाने की गंभीरता को मानने से इनकार करना।
  • महिलाओं में कम से एक साथ 3 या उससे ज्यादा बार मासिक धर्म का न आना।

 

एनोरेक्सिया के शिकार व्यक्ति अपने आहार को कम कर देते हैं या तो खाने को फेंक देते हैं। एक शोध के अनुसार एनोरेक्सिया नर्वोसा के विकार से ग्रसित लगभग 50 प्रतिशत लोग खाना तो खा लेते हैं लेकिन वजन घटाने के लिए बाद में अपने पेट को साफ कर देते हैं। ऐसे लोग एक निश्चित समय में खाने की ज्‍यादा मात्रा का सेवन कर लेते हैं। पेट की शुद्धिकरण के लिए खाने के बाद जुलाब और एनीमा का प्रयोग करके खुद से वोमिटिंग करके खाने को बाहर निकाल देते हैं।


एनोरेक्सिया के विकार से ग्रस्त लोगों में अन्य लक्षण भी दिखाई देते हैं -

  • खाने के समय खाने के साथ विचित्र प्रकार का व्यवहार करते हैं जैसे- खाने को प्लेट में छोटे-छोटे टुकडों में काटना और प्लेट में उसे घुमाना।
  • खाने में कठोरता दिखाना।
  • खाने से बचना और खाने को छोडना।
  • अपने वजन को बार-बार तौलना।
  • भूख होने पर भी खाने से मना करना।
  • वजन कम होने पर भी खाने में पूरी तरह से नियम बरतना, कैलोरी और वसा की मात्रा कम रखना।
  • ज्यादा देर तक व्यायाम करना या व्यायाम करने में ज्यादा व्यस्त‍ रहना, मौसम खराब होने और बीमारी में भी व्यायाम करना।
  • खाने के तुरंत बाद बाथरूम जाना।
  • अन्य लोगों के साथ खाने से मना करना।
  • दैनिक क्रियाओं के लिए दवाओं जैसे- पेशाब करने के लिए ( पानी की गोलियां ), मल त्याग करने के लिए (जुलाब और एनीमा), भूख कम करने के लिए (आहार की गोलियों ) का सेवन करना।

 

एनोरेक्सिया के विकार से ग्रस्त लोगों के कुछ अन्य लक्षण –

 

  • त्वचा (मुहासें या पीली त्वचा) अस्‍वस्‍थ्‍य दिखना जो कि बाल से ढका गया हो।
  • विचारों में समानता न होना, कन्फ्यूज्ड या धीमी सोच का होना और दिमाग बहुत ही कमजोर होना।
  • हमेशा अवसाद में रहना या सुस्त फील करना।
  • मुंह सूखा होना।
  • हमेशा ठंडक का एहसास करना (ठंड से बचने के लिए कई कपडे पहनना)।
  • मांसपेशियों, शरीर और हड्डियों का कमजोर होना।

 

 

Read More Articles On Anorexia Nervosa In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1 Vote 11889 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • neetu26 Jun 2013

    एनोरेक्सिया के बारे में जानकारी देने के लिए बहुत-बहुत धन्‍यवाद। इस लेख से पता चला कि ज्‍यादातर एनोरेक्सिया के शिकार व्यक्ति अपने आहार को कम कर देते हैं। ऐसे लोग एक निश्चित समय में खाने की ज्‍यादा मात्रा का सेवन कर लेते हैं। पेट की शुद्धिकरण के लिए खाने के बाद जुलाब और एनीमा का प्रयोग करके खुद से वोमिटिंग करके खाने को बाहर निकाल देते हैं।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर