मैग्नीशियम के अद्भुत स्वास्थ्य लाभ और इसे बढ़ाने के तरीके

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 01, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पूरे शरीर का आधे से अधिक मैग्‍नीशियम हड्डियों में होता है।
  • मैग्‍नीशियम के सेवन से याददाश्‍त की शिकायत दूर होती है।
  • रक्‍तचाप के लिए भी बहुत जरूरी है, दिल को स्‍वस्‍थ रखता है।
  • गर्भावस्‍था में बच्‍चे के विकास के लिए जरूरी है मैग्‍नीशियम।

मैग्नीशियम एक प्रकार का रासायनिक तत्व है जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। यह कैल्शियम और बेरियम की तरह एक क्षारीय तत्व है। मैग्‍नीशियम आदमी के शरीर में पाए जाने वाले पांच प्रमुख तत्वों में से एक है।

पूरे शरीर का आधे से अधिक मैग्नीशियम हमारी हड्डियों में पाया जाता है जबकि बाकी शरीर में हाने वाली अन्‍य जैविक क्रियाओं में सहयोग करता है। आमतौर पर एक स्वस्थ खुराक में मैग्‍नीशियम की पर्याप्त मात्रा होनी अनिवार्य है। मैग्‍नीशियम की अधिकता से डायरिया और कमी से न्यूरोमस्कुलर की समस्या हो सकती है। यह हरी सब्जियों में के साथ सूखे मेवे में पाया जाता है। इस लेख में जानिए मैग्‍नीशियम के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बारे में।

Amazing health benefits of magnesium

याददाश्‍त के लिए

खाने में यदि मैग्‍नीशियम की पर्याप्‍त मात्रा है तो इससे याददाश्‍त मजबूत होती है। विज्ञान पत्रिका न्यूरॉन में छपे एक शोध के अनुसार, याददाश्त को बढ़ाने के लिए मैग्नीशियम की मात्रा बढ़ाना कारगर उपाय हो सकता है। मैग्नीशियम मस्तिष्क सहित शरीर के अनेक ऊतकों के सही ढंग से काम करने के लिए अनिवार्य है। इसलिए याददाश्‍त की क्षमता को बढ़ाने के लिए मैग्‍नीशियम का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए।

 

आस्टियोपोरोसिस से बचाव

यदि हड्डियों में मैग्‍नीशियम की कमी हो गई तो इसके कारण हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और ऑस्टियोपोरोसिस की संभावना भी बढ़ जाती है। पूरे शरीर का आधे से अधिक मैग्नीशियम हमारी हड्डियों में पाया जाता है। कई शोधों में भी यह बात सामने आयी है कि मैग्‍नीशियम हड्डियों की बीमारी खासकर आस्टियोपोरोसिस से बचाता है।

 

दिल के लिए

मैग्‍नीशियम दिल के लिए बहुत फायदेमंद है। कोरोनरी हार्ट डिजीज से बचाव के लिए मैग्‍नीशियम का सेवन कीजिए। यदि शरीर में मैग्‍नीशियम की कमी हो जाये तो दिल के दौरे का खतरा अधिक होता है। इसलिए दिल को मजबूत बनाने के लिए मैग्‍नीशियम का सेवन भरपूर मात्रा में कीजिए।

 

हाइपरटेंशन से बचाव

मैग्‍नीशियम रक्‍तचाप को विनियमित करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है, यह हाइपरटेंशन से बचाव करता है। इसलिए रक्‍तचाप को सुचारु करने के लिए ताजे फल और हरी सब्जियों का सेवन कीजिए।

 

मधुमेह से बचाव

एक शोध में यह बात सामने आयी है कि यदि शरीर में मैग्‍नीशियम की कमी हो जाये तो इसके कारण टाइप-2 डायबिटीज होने की संभावना अधिक होती है। इसलिए यदि मधुमेह जैसी खतरनाक बीमारी से बचना है तो मैग्‍नीशियमयुक्‍त आहार का सेवन अवश्‍य कीजिए।
health benefits of magnesium

 

सिरदर्द और अनिद्रा

मैग्‍नीशियम की भरपूर मात्रा न लेने से सिरदर्द, अनिद्रा, तनाव आदि की शिकायत हो सकती है। इसके अलावा यह मनोरोगों से भी बचाता है। इ‍सलिये तनाव और अवसाद से बचने के लिए मैग्‍नीशियम का भरपूर सेवन कीजिए।


गर्भावस्‍था के दौरान

गर्भवती महिला और उसके भ्रूण के लिए मैग्‍नीशियम बहुत जरूरी है। गर्भवती महिला के शरीर में पल रहे बच्‍चे के ऊतकों की मरम्‍मत के लिए 350-400 मिग्रा अतिरिक्‍त मैग्‍नीशियम की जरूरत होती है। यदि गर्भावस्‍था के दौरान मैग्‍नीशियम की कमी हो जाये तो भ्रूण के विकास में बाधा हो सकती है।

मैग्‍नीशियम बढ़ाने के तरीके

साबुत अनाज, मछली, हरी और पत्‍तेदार सब्जियों, सूरजमुखी के बीज, कद्दू के बीज, ब्राउन राइस, बादाम, पालक, दलिया, आलू, दही, बींस, डेयरी उत्‍पाद, चॉकलेट कॉफी, आदि मैग्‍नीशियम के अच्‍छे स्रोत हैं, इनका सेवन भरपूर मात्रा में कीजिए।


शरीर के सुचारु रूप से काम करने और हड्डियों के अच्‍छे से विकास के लिए मैग्‍नीशियम बहुत जरूरी है।

 

 

Read More Articles on Healthy Eating in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES10 Votes 4891 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर