1 महीने तक पीएं गाजर-नीम का जूस, फिर देखें कमाल!

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 24, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • नीम एक आयुर्वेदिक दवा है।
  • गाजर-नीम में फ्लेवोनोइड्स पाए जाते हैं।
  • 'विटामिन-ए' अच्छी मात्रा में पाया जाता है।

जरा सी तबियत खराब हुई नहीं कि फट से लगे दवा खाने। न जाने कितने लोग छोटी से छोटी बीमारी के लिए दवाओं का इस्‍तेमाल करते हैं। शायद वह इस बात से अंजान है कि लंबे समय तक दवा के सेवन स्‍वास्‍थ्‍य पर नकारात्‍मक प्रभाव हो सकता है। या वह सब कुछ जानने के बावजूद दर्द से बचने के लिए ऐसा करते हैं। खैर जो भी है! लेकिन अगर आप दवा का सेवन नहीं करना चाहते तो स्‍वस्‍थ रहने के लिए उपाय करने चाहिए और स्‍वस्‍थ रहने के लिए आपको बहुत ज्‍यादा मेहनत करने की जरूरत भी नहीं है। बस आपकी किचन और गार्डन में उपलब्‍ध कुछ चीजों को अपने आहार में शामिल करना होगा।

carrot juice in hindi

इसे भी पढ़ें : नीम के स्वास्थ्यवर्धक गुणों के बारे में जानें

जी हां आधुनिक दवाओं के आने के बाद हम प्राकृतिक और हर्बल दवाओं का सेवन शायद भूल ही गये हैं। हमें लगता है कि इन्‍हें खाकर हमें कोई फायदा नहीं मिलता है। लेकिन ऐसा नहीं है प्राकृतिक चीजें असर करती है। हां इतना जरूर है कि प्राकृतिक होने के कारण इन्‍हें असर करने में थोड़ा समय लगता है। स्‍वस्‍थ रहने के लिए नीम और गाजर के रस को मिलाकर पीएं फिर देखें असर। आइए जानें नीम और गाजर का रस मिलाकर पीने से हमें कैसे स्‍वस्‍थ रह सकते हैं।   

बनाने का तरीका

  • नीम के रस - 2 बड़े चम्मच
  • गाजर का रस - 4 बड़े चम्मच

 

नीम और गाजर का जूस

नीम एक आयुर्वेदिक दवा है, जिससे मिलने वाले फायदों की शायद हम गिनती भी नहीं कर सकते हैं। यह हमारी सेहत के साथ-साथ बालों और त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। साथ ही गाजर न सिर्फ स्वाद में अच्छी होती है बल्कि इसमें आपको तंदुरुस्त रखने के लिए बहुत सारे खास गुण होते हैं। और अगर दोनों को मिला दिया जाये तो इसके गुण कई गुणों बढ़ जाते हैं। इसे इस्‍तेमाल करने के लिए गाजर और नीम का रस मिलाये और 3 महीने तक इसे रोजाना सुबह नाश्ते के बाद पीएं और फिर देखें इसके चमत्‍कारी फायदे।

neem water in hindi


इसे भी पढ़ें : त्‍वचा के लिये गाजर के जूस के 8 फायदे

गाजर-नीम जूस के फायदे

  • गाजर-नीम के जूस में फ्लेवोनोइड्स पाए जाते हैं जिससे पाचन तंत्र अच्छा होता है और भूख बढ़ती है।
  • गाजर-नीम के जूस में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट से कोलेजन बनने लगता है जिससे त्वचा की कोशिकाएं फिर से जवां हो जाती हैं और रंगत भी साफ हाती है।  
  • इस जूस में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट के कारण आंतों से विषाक्त पदार्थ निकल जाते हैं। जिससे पेट संबंधी रोग नहीं होते हैं।
  • गाजर-नीम के जूस में पाये जाने वाले फाइबर के कारण ब्‍लड में अधिक कोलेस्ट्रॉल जमा नहीं हो पाता है।
  • इस जूस में 'विटामिन-ए' अच्छी मात्रा में पाया जाता है। जिससे ऑप्टिक नर्व मजबूत होती हैं और आंखों की रोशनी बेहतर होती है।
  • नीम-गाजर के जूस में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट लीवर से विषाक्‍त पदार्थों का साफ करता है, जिससे लीवर की कई सारी बीमारी से बचा जा सकता है।
  • एंटी-बैक्‍टीरियल गुणों के कारण यह संक्रमण फैलाने वाले कीटाणुओं को भी मारता है।


ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप


Image Source : Getty

Read More Article on Healthy Eating in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES4546 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर