बढ़ रहे हैं एड्स रोगी

By  ,  दैनिक जागरण
Jul 29, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

AIDSचंदौली: जिले में एचआईवी पॉजीटिव (एड्स) मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसमें पुरुष ही नहीं बल्कि महिला रोगी भी शामिल हैं। इस वर्ष एड्स से ग्रसित दो गर्भवती महिलाओं ने जिला अस्पताल में बच्चों को जन्म भी दिया।

 

फिलहाल जच्चा व बच्चा दोनों सुरक्षित हैं। यदि समय रहते इस रोग पर लगाम नहीं लगाया गया तो आने वाले समय से इसके खतरे से निबटना आसान नहीं होगा। आंकड़ों पर गौर करें तो इस वर्ष मार्च से लेकर 12 नवम्बर तक की अवधि में एड्स रोगियों की संख्या 51 तक पहुंच गयी है। वैसे यह वर्ष पूर्ण होने में अभी चार महीने बाकी है। एड्स पीड़ित 42 मरीज एन्टी रेट्रोवायरल थेरेपी (एआरटी) की दवा का सेवन कर रहे है।



रेडजोन चिह्नित होने का खतरा



जनपद में जिस तरह से एचआईवी पीड़ित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। उससे इस बात की आशंका बढ़ गयी है कि आगे चल कर स्वास्थ्य महकमा कहीं इस इलाके को रेज जोन न चिन्हित कर दे।



जांच के लिए खुद आ रहे मरीज



जिला अस्पताल में स्थापित एचआईवी जांच केन्द्र के प्रभारी चन्द्रशेखर मजूमदार बताते हैं कि अमूमन वही मरीज आते हैं, जिनको चिकित्सक रेफर करते हैं। यहां पर जांच के लिए ज्यादातर मरीज खुद चल कर आ रहे हैं। इस वर्ष स्त्री पुरुष और बच्चे मिलाकर अब तक 2749 मरीजों की जांच की जा चुकी है।



एड्स पीड़ित महिलाओं की हुई डिलेवरी



सितम्बर और अक्टूबर महीने में एक-एक एड्स पीडि़त महिला को जिला अस्पताल में सुरक्षित तरीके से डिलवरी करायी गई।



जांच पूरी होने पर वाराणसी रेफर

जिला अस्पताल के इंट्रीग्रेटेड काउसिलिंग एण्ड टेस्टिंग (आईसीटीसी) में मरीज की रिपोर्ट एचआईवी पाजिटिव आने पर उनको बीएचयू भेज दिया जाता है। वहां पर उनका एआटी और बेस लाइन सीडी-4 टेस्ट होता है। यहां जांच के उपरान्त रिपोर्ट के मुताबिक उनका इलाज चलता है।



जिला अस्पताल में एचआईवी टेस्टिंग का चार्ट


वर्ष टेस्ट किये गये मरीज एचआईवी पाजिटिव



2003 137 02

2004 338 01

2005 322 08

2006 366 13

2007 894 22

2008 1400 37

2009 2275 55

2010 2749 51

Write a Review
Is it Helpful Article?YES12 Votes 44643 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर