एड्स: जानकारी ही बचाव है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 18, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एक्वायर्ड इम्यूलनो डेफिसिएंशी सिंड्रोम है एड्स का पूरा नाम।
  • एड्स नामक यह बीमारी एचआईवी वायरस से होती है।
  • एड्स के मामले में जानकारी और सावधानी ही बचाव है।
  • एचआईवी पाजिटिव भी आम इन्सान की तरह जीवन जी सकता है।

एड्स का पूरा नाम है 'एक्वायर्ड इम्यूनो डेफिसिएंशी सिंड्रोम' है और यह बीमारी एचआईवी वायरस से होती है। यह वायरस मनुष्य की प्रतिरोधी क्षमता को कमज़ोर कर देता है। एड्स एचआईवी पाजिटिव गर्भवती महिला से उसके बच्चे को, असुरक्षित यौन संबंध से या संक्रमित रक्तस या संक्रमित सूई के प्रयोग से हो सकता है। चलिये विस्तार से जानें क्या है एड्स, इसके लक्षम और इससे बचाव - 

 

 [इसे भी पढ़ें : एड्स जानलेवा यौन रोग]

 

एचआईवी पाजी़टिव होने का मतलब


एचआईवी पाजिटिव होने का मतलब है, एड्स वायरस आपके शरीर में प्रवेश कर गया है, इसका अर्थ यहं नहीं है कि आपको एड्स है। एच.आई.वी. पाजिटिव होने के 6 महीने से 10 साल के बीच में कभी भी एड्स हो सकता है। एक स्वबस्थक व्योक्ति अगर एचआईवी पाजिटिव के संपर्क में आता है, तो वह भी संक्रमित हो सकता है। ऐसे में सबसे बड़ी समस्याय यह होती है, कि एक एचआईवी पाजि़टिव को इस बीमारी के पता तबतक नहीं चलता, जबतक कि इसके लक्षण प्रदर्शित नहीं होते।

 

 

एचआईवी के लक्षण


•    कई-कई हफ्तों तक लगातार बुखार रहना।
•    हफ्तों खांसी रहना।
•    अकारण वजन का घटना।
•    मुँह में घाव होना।
•    भूख खत्म  हो जाना।
•    बार-बार दस्त  लगना
•    गले या बगल में सूजन भरी गिल्टियों का हो जाना।
•    त्वचा पर दर्द भरे और खुजली वाले दोदरे या चकत्तेश हो जाना।
•    सोते समय पसीना आना।

[इसे भी पढ़ें : एड्स से संबंधी भ्रम और तथ्‍य]

 

एचआईवी से सुरक्षा के उपाय


•    अगर आप एचआईवी से संक्रमित हैं और गर्भधारण करना चाहती हैं, तो चिकित्सक से संपर्क करें।
•    असुरक्षित संबंधों से बचें।
•    डिस्पोज़ेबल सिरिंज या सूर्इ का ही प्रयोग करें।


 
हालांकि यह लक्षण सामान्य बीमारियों के हैं, इसलिए भी कुछ समय तक यह बीमारी चिकित्सकों को भी भ्रमित करने में सफल होती है। सकारात्मतक सोच के साथ अपने स्‍वास्‍थ्‍य पर थोड़ा ध्यान देकर एचआईवी पाजिटिव भी एक आम इन्सान की तरह जीवन यापन कर सकता है।

 

Image Source - Getty Images

Read More Articles on Aids in Hindi.

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES74 Votes 53548 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • vimal01 Dec 2011

    sir, im hiv positive . so advise me . how to enjoy in life

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर