अगर कैंसर के इलाज के दौरान वजन बढ़ने लगे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 09, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

कैंसर के मरीजों में इलाज के दौरान कई कई स्वास्‍थ्‍य समस्याएं शुरू हो जाती हैं। कैंसर के मरीजों में वजन बढ़ना भी एक ऐसी ही समस्या है।

agar cancer ke ilaaj ke dauran vajan badane lageकभी-कभी कैंसर के इलाज के दौरान मरीजों में मोटापे की समस्या होने लगती है। यह कैंसर का साइड इफेक्ट के कारण होता है। वजन बढ़ने के प्रमुख कारण कैंसर की दवाईयां, हार्मोन चिकित्सा, अथवा कीमोथेरेपी के कारण होता है। कैंसर की कुछ दवाओं के कारण शरीर में पानी की मात्रा बढने लगती है।

 

[इसे भी पढ़ें : कैंसर फोबिया क्‍या है]


कैंसर के दौरान वजन बढने से रोकने के लिए कुछ उपाय –

  • कैंसर के उपचार के दौरान फैट वाले मांस का प्रयोग बिलकुल मत कीजिए। रेड मीट खाने से बचिए। मछली और चरबी रहित मांस का प्रयोग कीजिए।
  • कम वसा वाले दूध के उत्पादों का प्रयोग कीजिए। कम वसा वाले डेयरी उत्‍पाद जैसे – दूध, पनीर, अथवा दही का प्रयोग कीजिए।
  • ज्यादा से ज्यादा मात्रा में फल और हरी सब्जियों का प्रयोग कीजिए। फल और सब्जियां खाने से शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं जिसके कारण शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • कैंसर के मरीज उपचार के दौरान अपने लंच और डिनर में अधिक वसा या ज्यादा कैलोरी युक्त खाद्य-पदार्थों का सेवन करने से बचें। अधिक कैलोरी वाले खाद्य-पदार्थ जैसे – चिप्स, कुकीज, कैंडी, चॉकलेट, आइसक्रीम को खाने से बचें।
  • अतिरिक्त वसायुक्त खाद्य-पदार्थों जैसे – मक्खन, सलाद तथा ग्रेवी का प्रयोग करने से बचें। कम वसा वाले खाद्य-पदार्थों का प्रयोग करें।
  • तले हुए, भुने हुए तथा भाप से पके हुए खाद्य-पदार्थों का प्रयोग करने से बचें। खाने में नॉन स्टिकिंग तत्वों का प्रयोग कीजिए, जिससे अतिरिक्त वसा की आवश्यकता न पडे़।
  • ज्याकदा से ज्यादा सक्रिय रहने के लिए नियमित रूप से व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल कीजिए।
  • कैंसर के इलाज के दौरान बढ़ रहे मोटापे को कम करने के लिए घरेलू नुस्खे बहुत कारगर होते हैं।

 

[इसे भी पढ़ें : जीवनशैली का नतीजा है कैंसर]


कैंसर के दौरान वजन बढने के कारण –

  • कैंसर के इलाज के दौरान मरीजों वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है। दवाओं के साइड-इफेक्ट के कारण वजन बढ़ता है।
  • कैंसर के मरीजों का वजन बढ़ाने के लिए कैंसर की थेरेपी – कीमोथेरेपी, हार्मोन थेरेपी और दवाइयां उत्तरदायी होती हैं।
  • कैंसर के उपचार के दौरान शरीर में अतिरिक्त पानी बनता है जिसके कारण मरीजों में मोटापा की समस्या होने लगती है।
  • कैंसर के मरीज को बार-बार खाने की इच्छा होती है। ऐसे में आदमी अपनी इच्छा से ज्यादा ही खा लेता है जिससे मोटापे होता है।
  • कैंसर के उपचार के दौरान थकान होने लगती है जिसके कारण आदमी को आलस आता है और वह कई बार जरूरत से ज्यादा आराम करता है जिसके कारण मोटापे की समस्या हो सकती है।



कैंसर के इलाज के दौरान अगर आपका वजन बढने लगे तो घबराने की जरूरत नहीं है। अपनी दिनचर्या और खान-पान में बदलाव करके आप मोटापे को नियंत्रित कर सकते हैं। लेकिन अपना डाइट चार्ट बदलने से पहले एक बार चिकित्सक से संपर्क जरूर कर लीजिए।

 

Read More Articles on Cancer in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES2 Votes 12221 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर