वजन बढ़ाने वाले कैप्‍सूल इस्‍तेमाल करने से पहले इसके नफे-नुकसान के बारे में जानना जरूरी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 02, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • दिल पर पड़ सकता है इन कैप्‍सूल्‍स का बुरा असर।
  • वजन बढ़ाने वाले कैप्‍सूल्‍स बना सकते हैं आलसी।
  • आहार और व्‍यायाम का सही मेल होना भी जरूरी।
  • याद रखिए एक दिन में नहीं बढ़ेगा आपका वजन।

दवाओं के सहारे वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो पहले इसके सभी आयामों के बारे में जानकारी हासिल करनी जरूरी है। ये दवायें वजन तो बढ़ाती हैं, लेकिन इनके कुछ प्रतिकूल प्रभाव भी होते हैं।

weight gain capsulesवजन बढ़ाने वाले कैप्‍सूल इन दिनों आसानी से उपलब्‍ध हैं। किसी भी मेडिकल स्‍टोर पर आप इन्‍हें बड़े आराम से हासिल कर सकते हैं। इसके अलावा इंटरनेट तो है ही, जहां जरा सी खोज पड़ताल के बाद ही हजारों की तादाद में विकल्‍प मिल जाते हैं। लेकिन, अक्‍सर लोगों के जेहन में यही सवाल होता है कि क्‍या वजन बढ़ाने वाले कैप्‍सूल का इस्‍तेमाल करना सुरक्षित है। क्‍या इनका कोई दुष्‍प्रभाव भी होता है। क्‍या इन दवाओं के असर से आपकी सेहत को सिर्फ लाभ होता है या इनके कोई नुकसान भी हैं।

इसके प्रभावों को लेकर लोगों में मतभेद हैं। लेकिन, फिर भी जरूरी है कि इन दवाओं का सेवन शुरू करने से पहले इसके नफे-नुकसान के बारे में अच्‍छी तरह से पड़ताल कर ली जाए। बेहतर तो यही रहेगा कि बिना डॉक्‍टरी सलाह के इन दवाओं का सेवन न ही किया जाए।

 

कैसे काम करते हैं ये कैप्‍सूल

कुछ लोगों का वजन उचित आहार लेने के बाद भी नहीं बढ़ता। वे जो कुछ भी खा लें उनका वजन सामान्‍य से कम ही रहता है। वजन बढ़ाने वाले कैप्‍सूल उन लोगों के लिए मददगार साबित हो सकते हैं। सबसे पहले ये कैप्‍सूल व्‍यक्ति की भूख बढ़ाने में मदद करते हैं। जब व्‍यक्ति को अधिक भूख लगती है, तो वह अधिक भोजन करता है। लेकिन, इसका एक नुकसान यह भी है कि अधिक भूख को शांत करने के चक्‍कर में व्‍यक्ति कई बार जंक फूड और तैलीय भोजन भी कर लेता है। ये खाद्य पदार्थ अस्‍वास्‍थ्‍यकर होते हैं। जिनसे आपको कई स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी परेशानियां हो सकती हैं। इसलिए आपका लक्ष्‍य केवल वजन बढ़ाना ही नहीं, बल्कि खुद को सेहतमंद रखना भी होना चाहिए।

 

क्‍या है हकीकत

इन कैप्‍सूल को बनाने वाली कंपनियां बड़े-बड़े दावे करती हैं। लेकिन, क्‍या उनके दावे हकीकत के करीब होते हैं। कंपनियों की सभी बातों पर आंख मूंदकर भरोसा नहीं किया जा सकता और न ही किया जाना चाहिए। चलिए, हम जानते हैं कि कंपनियों के दावों और वास्‍तविकता में कितनी समानताएं अथवा असमानताएं हैं।

 

सही आहार से लाभ

बेशक ये दवाएं आपका वजन बढ़ाने में काफी मददगार होती हैं। लेकिन इनका पूरा फायदा हासिल करने के लिए कुछ जरूरी बातों का खयाल रखना जरूरी है। आपको चाहिए कि इन दवाओं के साथ पौष्टिक आहार और व्‍यायाम को भी शामिल करें। केवल गोलियों से आपको अपेक्षित लाभ मिलने की सम्‍भावना कम होती है। व्‍यायाम और आहार के सही तालमेल से आपको अपना वजन बढ़ाने में मदद मिलेगी। और इसके साथ ही सही स्‍वास्‍थ्‍य भी हासिल कर पाएंगे।

 

समय दें और धैर्य रखें

इस बात को स्‍वीकार करें कि वजन बढ़ाने वाले ये कैप्‍सूल अथवा गोलियों में किसी प्रकार का कोई जादू नहीं होता। ऐसा नहीं होता कि आपने आज गोली खायी और कल से आपका वजन बढ़ने लग गया। ये गोलियां अथवा कैप्‍सूल अपना असर दिखाने में कुछ समय लेती हैं। ऐसे में आपके लिए जरूरी है कि दिशा-निर्देशों का सही प्रकार से पालन करते हुए धैयपूर्वक इन दवाओं का सेवन करें। जल्‍दी परिणाम पाने के लिए हड़बड़ी न दिखायें।

 

मल्‍टी विटामिन तो नहीं

अगर देखा जाए तो कई वजन बढ़ाने वाली गोलियों में मल्‍टी-विटामिन गोलियों जितने ही पौष्टिक तत्‍व मौजूद होते हैं। यह भी सम्‍भव है कि इनकी निर्माता कंपनियां ज्‍यादा मुनाफे के लालच में मल्‍टी विटामिन गोलियों को ही वजन बढ़ाने वाली दवाओं के रूप में बेच रही हों। हालांकि कुछ लोगों को इन दवाओं के सेवन से फायदा हो सकता है, लेकिन यह भी सम्‍भव है कि कुछ लोगों को विटामिन की अधिक खुराक से नुकसान भी हो सकता है।

 

कुछ नुकसान


थकान की वजह

वजन बढ़ाने वाले कुछ कैप्‍सूल ऐसे भी हैं जो आपके मेटा‍बॉलिज्‍म की रफ्तार को धीमा कर देती हैं। इससे भी वजन बढ़ने लगता है। लेकिन, कई बार मेटा‍बॉलिज्‍म की धीमी गति कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं दे सकती है। इससे शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है और व्‍यक्ति को लंबे समय तक थकान का अनुभव होता है। किसी काम में मन नहीं लगता। और दिन भर आलस्‍य सा छाया रहता है। ऐसे में आपका वजन अनियंत्रित तरीके से भी बढ़ सकता है।


दिल के लिए खतरनाक

मेटबाबॉलिज्‍म की धीमी गति के चलते शरीर के कई अंगों को पर्याप्‍त मात्रा में ऑक्‍सीजन नहीं मिल पाती है। इसके कारण हमारे दिल पर भी अतिरिक्‍त दबाव पड़ता है। कई जानकार मानते हैं कि मेटाबॉलिज्‍म की जरूरत से ज्‍यादा धीमी रफ्तार हमारे दिल को नुकसान पहुंचा सकती है।


बीमारी को बढ़ा सकते हैं

अगर आप पहले से ही किसी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या से जूझ रहे हैं, तो ऐसे में वजन बढ़ाने वाले कैप्‍सूल लेना कितना सुरक्षित है। यह सवाल भी आमतौर पर कई लोगों के जेहन में आता है। हालांकि, अधिकतर जानकर ऐसा न करने की ही सलाह देते हैं। वजन बढ़ाने वाले अधिकतर कैप्‍सूल विटामिन, मिनरल और न्‍यूट्रीशियन से भरपूर होते हैं। उदाहरण के लिए, अगर आप किडनी की समस्‍या से जूझ रहे हैं, तो आपके लिए वजन बढ़ने वाले कैप्‍सूलों से दूरी बनाना अच्‍छा रहेगा क्‍योंकि इन कैप्‍सूलों में मौजूद सोडियम और पौटेशियम, जो सामान्‍य पर‍िस्थितियों में आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं, वे इन हालात में आपके लिए नुकसानदेह हो सकते हैं।


डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें

आपको वजन बढ़ाने के कैप्‍सूल चुनने से पहले अपने चिकित्‍सक से सलाह जरूर लेनी चाहिए। इसके साथ ही कैप्‍सूल चुनते समय उसके लेबल को भी ध्‍यान से पढ़ लेना चाहिए। इसके साथ ही अच्‍छा रहेगा अगर आप उसके पैकेट पर यह पढ़ लें कि उसमें किस तरह के पोषक तत्‍व मौजूद हैं, कहीं आपको किसी पोषक तत्‍व से एलर्जी तो नहीं। इसलिए यूं ही विज्ञापनों अथवा किसी के भी कहने से प्रभावित न हों और अपने लिए उचित कैप्‍सूल चुनें।

 

 

Read More Articles On Weight Gain Tips In Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES108 Votes 19637 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर