एक्युप्रेशर और एक्युपंचर में अंतर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 07, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एक्यूप्रेशर से दर्द, थकान, सिरदर्द, तनाव का उपचार किया जाता है।
  • एक्यूपंक्चर बेहद गंभीर रोगों का इलाज करने में मदद करता है।
  • एक्‍यूपंक्‍चर के लिए आपको चिकित्‍सीय सहायता लेनी है जरूरी।
  • एक्‍यूप्रेशर को सामान्‍य जानकारी के बाद स्‍वयं भी किया जा सकता है।

 

मानव शरीर पर कुछ बिंदु होते है जो बायोइलेक्ट्रीकल आवेगों पर प्रतिक्रिया करते है और एनर्जी भी प्रदान करते हैं। जब इन बिंदुओं पर दबाव डाला जाता है, तब एंडोर्फिन नामक हार्मोन उत्पन्न होता है जो दर्द को कम करके खून और ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ाने मे सहायता करता है। एक्यूप्रेशर या एक्यूपंचर जैसी चिकित्सा में रक्त प्रवाह, ऑक्सीजन और उर्जा के माध्यम से बीमारियों का निदान होता है।

 

एक्यूप्रेशर और एक्यूपंचर थेरेपी हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है और मांसपेशियों को आराम देता है। एक्यूप्रेशर और एक्यूरपंचर द्वारा तनाव और चिंता से राहत में भी मदद मिलती है और शरीर संतुलित रहता है।

accupressure

 

एक्यूप्रेशर

एक्यूप्रेशर का उपयोग सामान्य बीमारी जैसे दर्द, थकान, सिरदर्द, तनाव के लिए किया जाता है। एक्यूप्रेशर एक घरेलू उपचार के समान है जिसको बिना किसी चिकित्सक की सलाह लिए ही किताब में पढकर किया जा सकता है। एक्यूसप्रेशर के लिए हाथ की उंगलियों द्वारा निश्चित प्वाइंट पर प्रेशर का इस्तेमाल किया जाता है। एक्यूप्रेशर एक बार में एक या दो प्वाइंट पर किया जा सकता है। एक्यूप्रेशर विधि एक्यूपंचर से बहुत पुरानी है।


एक्यूपंचर

एक्यूपंक्चर बेहद गंभीर रोगों का न सिर्फ इलाज करता है बल्कि रोगियों को इन बीमारियों से छुट्टी भी दिलाता है। इस उपचार को किसी कुशल डॉक्टर की देखरेख में ही किया जा सकता है। एक्यूपंचर में सूई का प्रयोग किया जाता है। एक्यूपंचर की सूई स्टेराइल धातु की बनी होती है जिसे उतकों और मांसपेशियों में निश्चित प्वाइंट पर चुभाया जाता है। एक्यूपंक्चर को अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी समय किया जा सकता है। एक्यूपंचर की सुई लगाने की प्रक्रिया पर किसी भी प्रकार के खाने या पेय पदार्थों का कोई भी असर नहीं पड़ता है। खाना खाने के ठीक बाद भी एक्यूरपंचर का उपयोग किया जा सकता है।


accupuntrue

एक्यूप्रेशर और एक्यूपंचर में अंतर

  • एक्यूप्रेशर और एक्यूपंक्चर समान सिद्धांतों पर आधारित हैं। इन दोनों उपचारों में यह फर्क है कि एक्यूप्रेशर का उपयोग रोगों से बचाव और सामान्य बीमारियों के लिए किया जाता है। जबकि एक्यूपंक्चर बेहद गंभीर रोगों का न सिर्फ इलाज करता है बल्कि रोगियों को रोगमुक्त भी कर देता है।
  • एक्यूप्रेशर में एक दबाव बिंदु के लिये केन्द्रीय प्वाइंट और ट्रिगर प्वाइंट होती हैं। जब एक खास बिंदु पर दबाव जोर से होता है तब केन्द्र बिंदु का प्रयोग किया जाता है और ट्रिगर बिंदु का प्रयोग बिंदु के पास में दबाव डालने के लिये किया जाता है। प्रत्येक बिंदु कई बीमारियों को ठीक करता है।
  • एक्यूप्रेशर एक घरेलू उपचार के समान है जिसे बिना किसी चिकित्सक की सलाह के भी दिया जा सकता है जबकि एक्यूपंक्चर उपचार सिर्फ चिकित्सकों की देखरेख में ही किया जा सकता है।
  • एक्यूपंक्चर सूई के भेदने की गहराई एक्यूपंक्चर बिंदु और रोगी के शारीरिक गठन पर निर्भर होती है। यदि मरीज़ का वजन अधिक है तब सूई गहराई तक ही जाती है। जबकि एक्यूप्रेशर हाथों, उंगलियों घुटने के प्रेशर द्वारा निश्चित बिंदु पर दबाव बनाकर किया जा सकता है।
  • एक बार में एक्यूप्रेशर विधि एक साथ एक या दो बिंदुओं पर किया जा सकता है जबकि एक्यूपंचर की सुई को एक साथ कई प्वाइंट पर चुभोया जा सकता है।

 

एक्यूपंचर पहले से भी प्रयोग की जा रही है। कानों के झुमके, बाली आदि मस्तिष्‍क के दोनों भागों के लिए एक्यूप्रेशर और एक्यूपंचर का काम करता है, इससे दिमाग के काम करने और रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है।

 

 

 

Read More Articles On Accupressure In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES13 Votes 15064 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • suman11 Feb 2013

    cervical problem plz help. send solution in Hindi.

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर