आहारीय मैग्नेशियम करे डाइबिटीज़ से बचाव

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 04, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

aahaariya magnesium kare diabetes se bachav

भोजन में मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा आपको डायबिटिज के खतरे से बचाती है। हाल में हुए रिसर्च में भी यह बात साबित हुई है कि जिन लोगों के भोजन में मैग्नीशियम की मात्रा अधिक होती है, उनमें कम मैग्नीशियम लेने वालों की तुलना में डायबिटिज होने की आशंका आधी रह जाती है।

मैग्नीशियम युक्त आहार लेने से टाईप 2 डायबिटिज होने का खतरा 10 से 34 प्रतिशत तक कम हो जाता है। रिसर्च में शामिल किए गए लोगों ने पाया गया कि जिन लोगों ने मैग्नीशियम युक्त आहार लिए उनमें डायबिटीज के लक्षण नहीं पाए गए।


क्या है डायबिटिज

 

हमारे शरीर में हॉर्मोन्स या अन्तःस्त्रावी ग्रंथियों में बनने वाले स्त्राव की कमी या अधिकता से कई रोग उत्पन्नः होते हैं जैसे मधुमेह,थायरॉइड रोग, मोटापा आदि । इंसुलिन नामक हॉर्मोन की कमी या इसकी कार्यक्षमता में कमी आने से मधुमेह रोग या डायबिटिज रोग होता है।

 

क्या कहते हैं आंकड़ें

 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के सर्वे के मुताबिक साल 2025 में भारत में दुनिया के सबसे अधिक पांच करोड़, सत्त‍र लाख मधुमेह रोगी होंगे। विकसित देशों में इस  संख्या को बढ़ने से रोका जा रहा है। लेकिन विकासशील देशों में खासकर भारत में ये एक महामारी की तरह फैलता जा रहा है। हर साल विश्व में लाखों डायबिटीज रोगियों की अकाल मृत्युय या आकस्मि‍क देहांत हो जाता है,  जबकि जरा सी सावधानी व खान पान पर नियत्रंण के जरिए इन जिंदगियों को बचाया जा सकता है।

 

डायबटीज के खतरे को कैसे कम करता है मैगनीशियम

मैगनीशियम कई तरह से डायबिटिजके खतरे को कम करता है। हमारे शरीर में मौजूद इंजाइम मैग्नीशियम  के साथ मिलकी शरीर में ग्लूकोज बनाते हैं,  जिससे डायबटीज का खतरा कम होता है। इसके अलावा शोधकर्ताओं ने पाया कि मैग्नीशियम का सेवन करने वालों में, शरीर में इंसुलिन बनने की प्रक्रिया में कोई समस्या नहीं होती। इसके अलावा आहारीय मैगनीशियम का ठीक प्रकार से प्रयोग करने वालों में ब्लड शुगर लेवल ठीक रहता है।

 

मैग्नीशियम की मात्रा जरुरी

 

आपके शरीर के लिए मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा लेना बहुत जरुरी है।  मैग्नीशियम की कमी से आपको धमनी संबंधी रोग, डायबटीज, अर्थाराईटिस  जैसी समस्या हो सकती है। हमारे शरीर में होने वाली एंजाइम प्रतिक्रिया के लिए मैग्नीशियम जिम्मेदार है। इसकी कमी से शरीर की विभिन्न प्रक्रियाओं पर असर पड़ सकता है।


मैग्नीशियम के स्रोत

 

हरी पत्तेदार सब्जियां , साबुत अनाज, अखरोट, मूंगफली, बादाम, काजू, सोयाबीन, केले, खुबानी, कद्दू, दही, दूध, चॉकलेट और तुलसी में भी पाया जाता है।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES28 Votes 14761 Views 2 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर