खास कैमरा जो कैंसर की कोशिकाओं पर रखेगा नजर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 14, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

prevention of cancerकैंसर की सजर्री में बड़ी समस्या होती है कि कैंसर की कुछ कोशिकाएं शरीर में छूट जाती हैं और जिससे फिर से कैंसर का खतरा पैदा हो जाता है। हाल ही में जर्मन वैज्ञानिकों ने एक ऐसा कैमरा विकसित किया है जो कैंसर की सर्जरी में जबरदस्त बदलाव ला सकता है। जर्मनी के फ्राउनहोफर इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने एक ऐसा कैमरा तैयार किया है जो कैंसर की सूक्षम कोशिकाओं को आसानी से देख सकता है।

कैंसर के सेल रंगीन प्रकाश में इस कैमरे के सामने चमकते हुए दिखते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार यह कैमरा सर्जनों को कैंसर और स्वस्थ कोशिकाओं के बीच अंतर करने में मदद करेगा। सर्जरी के दौरान अक्सर यह समझ पाना मुश्किल होता है कि कौन सा स्वस्थ सेल है और कौन सा कैंसर वाला। कैंसर के मरीजों के इलाज में एक बड़ी दिक्कत यह भी होती है कि कई छोटे छोटे कैंसर सेल रह जाते हैं और वे फिर से शरीर में विकसित हो जाते हैं। लेकिन जब इतने सूक्ष्म सेल कैमरे की मदद से देखे जा सकेंगे तो उन्हें शरीर से बारीकी से पूरी तरह निकाला जाना भी संभव हो सकेगा। डेलियोलानिस इस कैमरे को तैयार करने वाली रिसर्च टीम के प्रमुख हैं।

ब्रेन ट्यूमर के मरीजों के इलाज में भी यह कैमरा काम का साबित हो सकता है। मस्तिष्क में कैंसर कहां से शुरू हो रहा है और किस जगह तक है, कहां से स्वस्थ कोशिकाएं शुरू हो रही हैं, यह कैमरे की मदद से देखा जा सकता है। ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी करने में इस बात का खास ख्याल रखना होता है कि सर्जन स्वस्थ कोशिकाओं को कम से कम हाथ लगाए। ब्रेन ट्यूमर में पहले से ही लाल डाई का इस्तेमाल किया जा रहा है। कैमरा इस लाल रंग को बड़ी आसानी से पकड़ लेता है। डॉक्टर ऑपररेशन वाले हिस्से में 5-अमीनो लेवुलिनिक एसिड डालते हैं। यह कंपाउंड मरीज की कोशिकाओं से क्रिया कर लाल रंग बनाता है।

 

Read More Health News In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES1029 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर