अच्‍छी मसल्‍स चाहते हैं तो खाएं ये 5 बॉडीबिल्डिंग सप्‍लीमेंट्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 22, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एक अच्‍छी बॉडी बनाने के लिए एक अच्‍छे वर्कआउट जरूरत होती है।
  • अच्‍छा वर्कआउट हमारे डायट और न्‍यूट्रीशन पर निर्भर करता है।
  • अच्‍छे वर्कआउट के लिए न्‍यूट्रीशन की ज्‍यादा जरूरत होती है।

एक अच्‍छी बॉडी बनाने के लिए एक अच्‍छे वर्कआउट के साथ-साथ पोषक तत्‍वों की भी जरूरत होती है और अच्‍छा वर्कआउट हमारे डायट और न्‍यूट्रीशन पर निर्भर करता है। क्‍योंकि अच्‍छे वर्कआउट के लिए न्‍यूट्रीशन की ज्‍यादा जरूरत होती है। जो हमारे शरीर को एक्‍ट्रा पावर, स्‍ट्रेंथ, एंड्यूरेंस के साथ-साथ तेजी से मसल्‍स रिपेयर और रिकवरी की क्षमता चाहिए होती है। इन सब के लिए प्राइमरी डायट के अलावा फूड सप्‍लीमेंट की बहुत आवश्‍यकता होती है। आज हम आपको 5 अलग-अलग जरूरी सप्‍लीमेंट के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके अच्‍छी बॉडी पाने के सपने को पूरा करेंगे।

इसे भी पढ़ें : जिम करने के बाद जरूर खाएं ये 5 चीजें

supplement

क्रीटीन

यह सप्‍लीमेंट एक्‍ट्रा एनर्जी देने के साथ एक्‍ट्रा स्‍ट्रेंथ देने का काम करता है। इससे आप एक्‍ट्रा वर्कआउट सेट बिना थके कर पाएंगे। यह मसल्‍स को हाइड्रेटेड रखता है। इससे मसल्‍स बनने में मदद मिलती है। क्रीटीन को एक तरह का प्राकृतिक सप्‍लीमेंट माना जाता है।

इसे भी पढ़ें : बॉडी बिल्डिंग स्टेरॉयड दिल के लिए हैं खतरनाक

बीसीएए

बीसीएए यानी ब्रांच्‍ड चेन एमिनो एसिड ल्‍यूसीन, आइसोल्‍यूसीन और वलीन के कंबीनेशन को कहा जाता है। इन तीनों का मिश्रण बॉडी में मसल्‍स ब्रेकडाउन को रोकता है। मसल्‍स रिकवरी को प्रमोट करता है। शरीर में मौजूद उत्‍तेजित हार्मोन को रिलीज करता है। मसल्‍स के घाव को भरता है। एक्‍सरसाइज के दौरान एनर्जी देता है।

इसे भी पढ़ें : इन 3 कारणों से रात में भी करें वर्कआउट

व्‍हे प्रोटीन

व्‍हे प्रोटीन बहुत उच्‍च गुणवत्‍ता वाला प्रोटीन है जो आसानी से डाइजेस्‍ट हो जाता है। इसमें सभी जरूरी एमीनो एसिड्स मौजूद होते हैं। साथ ही बीसीएए के बेस्‍ट श्रोत में से एक है। इसकी यही खूबियां मसल्‍स रिकवरी और ग्रोथ में सहायता करती है।

ओमेगा 3

ओमेगा 3 फैट्स, कॉन्जुगेटड लिनोलेक एसिड और गामा लिनोलेनिक एसिड जैसे कुछ फैट होते हैं जो शरीर के हार्मोन्स में बदलाव कर भूख को कम करते हैं और डाइटिंग करने में भी मददगार होते हैं। ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन हार्ट अटैक के जोखिम को भी कम करता है। यह धमनियों के फैलने में सहायता करता है, जिससे उनमें रक्त प्रवाह ठीक ढंग से हो पाता है और एन्जाइम्स फैट को आसानी से शरीर में घुलने में सहायता करते हैं और उनका मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है। इससे जरूरत से अधिक चर्बी शरीर में जमा नहीं हो पाती।

मल्‍टीविटमिन और मिनरल्‍स

बॉडी बिल्डिंग के लिए विटमिन और मिनरल्‍स को इग्‍नोर नही किया जा सकता है क्‍योकि मसल्‍स ग्रोथ में इनका बहुत बड़ा रोल होता है। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को दुरूस्‍त करता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Sports & Fitness In HIndi




Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES3459 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर