फोरआर्म्स को मजबूत बनाने वाले 4 कमाल के मूव्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 12, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कुहनों से हथेली तक के हिस्‍सों को फोरआर्म्‍स कहा जाता हैं।
  • आपके फोरआर्म्स शरीर में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • बाइसेप कर्ल एक्सरसाइज करने से बाजुओं की मसल्स टोन होती हैं।
  • फोरआर्म्स को मजबूत बनाने के लिये भुजंगासन भी कर सकते हैं।

मजबूत बाजू न केवल आपके पूरे शरीर का भार उठा सकते हैं बल्कि ये देखने वालों को भी आपके बलवान होने का संकेत देते हैं। लेकिन इनमें आपके  फोरआर्म्स बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। कुहनों से हथेली तक के हिस्‍सों को फोरआर्म्‍स कहते हैं, हाथों को मजबूत और लंबा बनाने वाले व्‍यायाम करते वक्‍त इनको नजरंअदाज न करें। तो अब जब आप जिम जायें और बाजुओं को मजबूत बनाने के लिए व्‍यायाम करें तो फोरआर्म्स की इन एक्सरसाइज को करना न भूलें।

 

Massive Forearms in Hindi

 


बाइसेप कर्ल

बाइसेप कर्ल एक्सरसाइज करने से बाजुओं की मसल्स टोन होती हैं और उनका लटका हुआ फैट कम होता है। बाइसेप कर्ल करने के लिए दोनों हाथों में समान भार के डम्बल ले लें। अब अपनी कुहनियों को कंधे की ओर मोड़कर दोबारा पहले वाली स्थिति में ले आएं। कुहनियों को कंधे की ओर लाने और फिर वापस ले जाने में बाइसेप्स पर जोर पड़ता है, जिससे वे मजबूत और शेप्ड बनती हैं।

लाइंग ट्राइसेप कर्ल

लाइंग ट्राइसेप कर्ल करने के लिए सबसे पहले बेंच पर कमर के बल लेट जाएं और डम्बलों को अपने सिर से ऊपर तक उठा लें। इसके बाद आपकी हथेलियां एक-दूसरे के सामने कर लें। अब केवल कोहनियों को मोड़ते हुए डमबलों को सिर से नीचे की ओर लेकर जाएं और डमबल्स को वापस पुरानी स्थिति में ले आएं। इस तरह एक लाइंग ट्राइसेप कर्ल पूरा होता है।

 

Massive Forearms in Hindi

 

बारबेल कर्ल

बारबेल कर्ल करने के लिये अपने पैरो व कंधो को सीधा करते हुए खड़े हो जाएं और फिर घुटनों को आराम से मोड़ें। धड़ को सीधा रखें, उदर और नितम्बों की मांसपेशियो को स्थायी स्थिति तक सिकोड़ें और हिलने डुलने से बचें। अब बारबेल को हाथो में कसकर पकड़ लें। बारबेल को कंधो की ओर उठाएं, फिर सामान्‍य स्थिति में लायें। इस प्रकार एक बारबेल कर्ल पूरा होता है।

चिन-अप  

चिन-अप करने के लिये हाथेलियों के बीच आधे से एक फुट की दूरी रखते हुए बार को पकड़ कर लटक जाएं, पैर थोड़े मोड़ लें और फिर पूरी ताकत से खुद को ऊपर की ओर खीचें वजोर से सांस बाहर छोड़ें। इसे चिन अप इसलिए कहते हैं क्योंकि इसमें आपकी ठोडी बार से ऊपर जाती है। आप चाहें तो बार को चूम कर भी वापस आ सकते हैं ये आपका ईनाम होगी। अपनी बॉडी को थामते हुए नीचें और इसी दौरान सांस खींचें। नीचे आने के बाद शरीर को पूरी तरह से ढीला कतई न छोड़ें नहीं तो आगे कसरत नहीं कर पाएंगे। थोड़ा सा खुद को रोके रखें और तुरंत फिर ऊपर की ओर जाएं। हमेशा रॉड की तरफ देखें और छाती को ऊपर की ओर रखें।


आप फोरआर्म्स को मजबूत बनाने के लिये भुजंगासन भी कर सकते हैं। भुजंगासन न सिर्फ आपके बाजुओं को मजबूत बनाता है बल्की उन पर मौजूद अतिरिक्त लटकी हुई चर्बी को भी कम करता है।



Read More Articles On Exercise & Fitness In Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES18 Votes 3582 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर