एरोबिक फिटनेस पाना चाहते हैं तो इन 10 आसान उपायों को आजमाएं

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 04, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • वजन नियंत्रित करने और ऊर्जावान रहने में मदद करते हैं एरोबिक्स व्यायाम।
  • रोजाना आधा घंटे तक तेज गति से पैदल चलने पर आप फिजिकली फिट रहते हैं।
  • डांस करने से एरोबिक फिटनेस बढ़ने के साथ ही आपका व्‍यायाम भी हो जाता है।
  • तैराकी और साइक्लिंग दोनों ही एरोबिक फिटनेस बढ़ाने के अच्‍छे विकल्‍प हैं।

एरोबिक्सि को अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल कर आप खुद को अधिक फिट और सेहतमंद रख सकते हैं। एरोबिक्स व्यायाम आपको एक सेहतमंद जिंदगी जीने में मदद करते हैं। इससे आपका वजन काबू में रहता है और आप अधिक ऊर्जावान महसूस करते हैं।

tips to boost aerobic fitnessफिटनेस और सेहतमंद रहने के लिए जरूरी है कि आप शारीरिक रूप से सक्रिय रहें। एरोबिक्स फिटनेस को बढ़ाने के लिए आपको बहुत ज्यादा कड़ी मेहनत करने की जरूरत नहीं है। और आप चाहें तो रोजाना थोड़ा-थोड़ा समय बढ़ाकर ही अपनी फिटनेस में इजाफा कर सकते हैं।


पैदल चलना

कहते हैं पैदल चलना सेहत के लिए उठाया जाने वाला सबसे ‘आसान’ कदम है। यह सुरक्षित है और हर किसी के लिए मुफीद भी है। इससे आप आसानी से अपनी फिजिकल फिटनेस और सेहत में इजाफा कर सकते हैं। रोजाना 30 मिनट तेज गति से चलना फायदेमंद होता है। आप धीरे-धीरे अपने चलने की गति में इजाफा करें। कुछ दिनों बाद आप खुद ही फर्क महसूस कर पाएंगे। अगर पैदल चलते हुए अपने हाथों को आगे-पीछे करें, तो इससे आपको और ज्‍यादा फायदा मिलेगा।

 

जॉगिंग/ दौड़

जॉगिंग और रनिंग भी आसानी से की जा सकने वाला व्यायाम है। इसके लिए भी किसी खास वक्‍त की दरकार नहीं होती। आप अपनी सहूलियत के हिसाब से कभी भी जॉगिंग कर सकते हैं। इससे आपकी एरोबिक्स फिटनेस में इजाफा होता है। जॉगिंग अथवा दौड़ने से आपकी टांगों की मांसपेशियां मजबूत होती हैं और इसके साथ ही आपको कई शारीरिक लाभ भी मिलते हैं। दौड़ने से आपके शरीर पर अधिक जोर पड़ता है, तो इसमें चोट लगने की आशंका पैदल चलने के मुकाबले अधिक होती है।

 

रस्सा कूदना

रस्सा कूदना महज खेल ही नहीं, बल्कि अच्छा व्यायाम भी है। फिटनेस बढ़ाने और सेहतमंद रहने के लिए रस्सा कूदने का इस्तेमाल काफी लंबे समय से किया जा रहा है। अच्छी बात यह है कि इसे करने में किसी प्रकार का कोई खास खर्चा भी नहीं होता। यह एक अच्छा कार्डियोवस्कुलर व्यायाम है जिसमें दोनों हाथों और पैरों की मांसपेशियों की कसरत होती है। इस व्यायाम में एक लय हासिल करने और इसमें महारत हासिल करने के लिए अभ्यास की आवश्य कता होती है।

 

सी‍ढि़यां चढ़ें

एरोबिक्स‍ फिटनेस पाने के लिए सीढि़यां चढ़ना भी अच्छा है। लिफ्ट अथवा स्वचालित सीढि़यों की बजाय यदि आप सामान्य सीढि़यों का इस्तेमाल करें तो इससे आपकी शारीरिक कार्यक्षमता बढ़ती है। लेकिन, इस बात का ध्यान रखें कि आप इसे अधिक लंबे समय तक न करें क्योंकि इसका विपरीत प्रभाव आपके जोड़ों पर पड़ सकता है।

 

झूमकर नाचें

नाचना भी एक प्रकार की गतिविधि है जिससे आप अपनी एरोबिक फिटनेस बढ़ा सकते हैं। डांस करने से आप आनंदित तो होते ही हैं साथ ही आपके पूरे शरीर का व्यायाम भी हो जाता है। अगर आप सही प्रकार से डांस करें तो यह आपको मनपसंद फिटनेस पाने में मदद कर सकता है।

 

एरोबिक अथवा कार्डियो क्लास

कार्डियो क्लास में कुछ वार्म-अप एक्सरसाइज भी होती हैं। इसमें स्ट्रेचिंग और एरोबिक मूवमेंट शामिल होती हैं। इसके साथ ही इसमें मांसपेशियों को टोन करने योग्य व्यामयाम भी होते हैं। आमतौर पर ये व्यायाम किसी विशेषज्ञ की देखरेख में ही किए जाते हैं।

 

तैराकी

अगर आपको तैरना पसंद है तो आपके पास अपनी फिटनेस बढ़ाने का अच्छा मौका है। तैराकी से पूरे शरीर की मांसपेशियों का व्यायाम हो जाता है। तैरने से कमर, कंधे और भुजाओं की मांसपेशियों का विशेष रूप से व्यायाम होता है। इसके साथ ही तैरने से शरीर में लचीलापन बढ़ता है।

 

साइक्लिंग

साइक्लिंग एक लाजवाब एरोबिक व्यायाम है। इससे टांगों की मांसपेशियों की कसरत होती है और उन्हें ताकत मिलती है। इसके साथ ही कूल्हें की मांसपेशियां भी मजबूत बनती हैं। अगर आप बाहर साइकिल चलाना पसंद नहीं करते, तो आप घर के अंदर ऐसा कर सकते हैं।

 

खेलें और सेहतमंद बनें

एरोबिक फिटनेस बढ़ाने के लिए आप टीम स्पोर्टस का सहारा ले सकते हैं। फुटबॉल और बास्केटबॉल जैसे खेल आपकी फिटनेस बढ़ाने में बेहद मददगार साबित हो सकते हैं। ऐसे खेलों से आपकी क्षमता तो बढ़ेगी ही साथ ही आपकी मांसपेशियां भी सही आकार में रहेंगी और उन्हें शक्ति मिलेगी।

 

इंटरवल ट्रेनिंग

एरोबि‍बक फिटनेस पाने के लिए इंटरवल ट्रेनिंग एक और उपाय है। इसमें कड़ी और हल्की वैकल्पिक ट्रेनिंग होती है। उदाहरण के लिए इस व्यायाम में पहले बहुत तेज भागना होता है और उसके बाद थोड़ी देर आराम से चलना होता है।

 

 

 

Read More Articles On Sports Fitness In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES12 Votes 3325 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर