सुरक्षित सेक्स क्या है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 06, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

सुरक्षित या प्रोटे‍क्टेड सेक्स  को ऐसी लैंगिक गतिविधि (सेक्सुअल एक्टिविटी) के रूप में समझा जा सकता है, जिसमें सभी सुरक्षात्मतक और निरोधात्मक उपायों को इंफैक्शन, सेक्सुअली ट्रांसमिंटेड डिजीजेज (एसटीडी) दूर रखने और गर्भधारण से बचाव हेतु अपनाया जाता है। यह आपकी अपनी भलाई और आपके पार्टनर के स्वास्थ्य  के लिए सही है। विभिन्न  बैक्टीरियल, फंगल और वायरस सम्बन्धी संक्रमण (इंफेक्शन) असुरक्षित सेक्स  से फैल सकते हैं। हालांकि इनमें से ज़्यादातर संक्रमणों का उपचार किया जाना संभव है लेकिन दूसरी बीमारियां जैसे कि एचआईवी (एड्स उत्पन्न करने वाला वायरस) का कोई उपचार नहीं है और यह जानलेवा हो सकता है।

 

लैंगिक प्रसारित बीमारियां (सेक्सुअल ट्रांसमिंटेड डिजीजेज)

 

सेक्सुअली ट्रांसमिंटेड डिजीजेज (एसटीडी) प्रजनन अंगों, मुंह और गुदा आदि के लैंगिक सम्पर्क के ज़रिए फैलती हैं। एसटीडी से ग्रस्त गर्भवती महिलाओं से उनके बच्चें में जन्म से पूर्व या जन्म के समय संक्रमण फैल सकता है। सुरक्षित सेक्स में विभिन्न विधियाँ और निरोधक उपाय शामिल हैं।


 

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES85 Votes 60188 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर