संस्कृति से भी जुड़ी है सेहत

By  ,  दैनिक जागरण
Jun 29, 2010
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

-संस्कृति पर निर्भर करती है दिमागी हालत
न्यूयार्क, एजेंसी : सेहत का साथ संस्कृति से भी है। इंसानी मस्तिष्क की कार्यप्रणाली काफी हद तक संस्कृति से प्रभावित होती है। ऐसे भी कह सकते हैं कि हमारी संस्कृति मस्तिष्क को नियंत्रित करने का भी काम करती है।
अपनी तरह की पहली ब्रेन इमेजिंग स्टडी के बाद एमआईटी के शोधकर्ता इस नतीजे पर पहुंचे हैं। इनका मानना है कि एक ही मुद्दे को अलग-अलग संस्कृतियों से जुड़े लोग अपने-अपने नजरिए से देखते-परखते हैं।
यह मनोवैज्ञानिक शोध इस नतीजे पर पहुंचता है कि अमेरिकी संस्कृति व्यक्तिवाद को महत्व देती है। इसी नजरिए से निजी स्वतंत्रता की हिमायत भी करती है। पूर्वी एशियाई समाज सामूहिकता की हिमायत करता है और इसी के दायरे में आंतरिक आजादी की वकालत करता है।
व्यवहार से जुड़े अध्ययन बताते हैं कि सांस्कृतिक वैभिन्नता इंसानी स्मृतियों, यहां तक कि समझ को भी प्रभावित कर सकती है। लेकिन क्या ये दिमागी गतिविधियों के तौर-तरीके में भी झलकती है? इसका जवाब तलाशने के लिए प्रो. जान गैब्रिएली के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने 10 ऐसे पूर्वी एशियाई लोगों से बात की, जो हाल ही में अमेरिका आए थे। इनके मुकाबले 10 अमेरिकी लोगों को भी रखा गया। इनसे फंक्शनल मैग्नेटिक रिसोनांस इमेजिंग (एफएमआरआई) स्कैनिंग के दौरान कुछ ऐसे मुद्दों पर बात की गई, ताकि इनकी बोधगम्यता की तीव्रता का आकलन किया जा सके।
प्रो. जान गैब्रिएली के सहयोगी ट्रे हेडेन का इस सबंध में कहना था- संस्कृति के क्षेत्र से हटकर पूछे गए सवालों पर दिमाग को चौकस रखने वाली प्रणाली किस हद तक विस्तारित व सक्रिय हो जाती है और दो सांस्कृतिक गुटों के बीच कितनी व्यापक भिन्नता पाई जाती है, यह देखकर हम हैरत में पड़ गए।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES3 Votes 11563 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर