डैमेज स्‍िकन में नई जान लाने के लिए अपनाएं कैमिकल पील

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 16, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सन डैमेज या एजिंग के कारण हुई त्वचा समस्याएं को दूर करने में उपयोगी।
  • अन्य कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट्स की अपेक्षा काफी हद तक सुरक्षित ट्रीटमेंट।
  • ट्रीटमेंट से पहले कुछ पूर्व सावधानियों को अपनाना बहुत जरूरी।  
  • नयी त्वचा अत्यधिक संवेदनशील होती है इसलिए ट्रीटमेंट के बाद धूप से बचें।

कैमिकल पील्स को अधिकतर कॉस्मेटिक कारणों से उपयोग किया जाता है क्योंकि यह त्वचा की बाहरी सतह को अच्छा और मुलायम बना देता है।

chemical peeling for damage skin

कैमिकल पील्स को डर्मा पीलिंग के रूप में भी जाना जाता है। इस प्रक्रिया में एक कैमिकल एप्‍लीकेशन का प्रयोग त्वचा पर किया जाता है जो मृत त्वचा की ऊपरी परत को हटाता है और क्रमिक रूप से पील कर देता है। त्वचा का रिजेनरेशन होता है और नयी बनने वाली त्वचा अधिक मुलायम और साफ होती है और पुरानी त्वचा के मुकाबले इसमें रिंकल्स काफी कम होते हैं। कैमिकल पील्स को एक बेहतर प्रक्रिया माना जाता है क्योंकि यह धूप में ओवरएक्सपोजर, पिगमेंटेशन, एक्ने और दाग आदि होने से डैमेज हुई त्वचा को ठीक करता है।


कोई व्यक्ति जो त्वचा की प्रीमेच्योर एजिंग या त्वचा समस्याओं के कारण आत्मविश्वास में कमी और मनोवैज्ञानिक समस्याओं का सामना कर रहा हो कैमिकल पील्स का ट्रीटमेंट करा सकता है। सन डैमेज या एजिंग के कारण हुई त्वचा समस्याएं जैसे फाइन लाइन्स और रिंकल्स, एक्सीडेंट के कारण बने दाग या एक्ने के दाग, असमान पिगमेंटेशन आदि को कैमिकल पील्स की सहायता से ट्रीट किया जा सकता है। डार्क त्वचा टोन वाले लोगों के बजाय गोरे रंग वाली त्वचा पर कैमिकल पील्स ज़्यादा कारगर होता है।

जोखिम

कैमिकल पील्स प्रक्रिया अन्य कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट्स की अपेक्षा काफी हद तक सुरक्षित ट्रीटमेंट है यदि इसे किसी सुयोग्य डॉक्टर द्वारा किया जाये लेकिन अन्य की तरह इससे भी कुछ जोखिम जुड़े रहते हैं। उपयोग किये गये कैमिकल पील के प्रकार और पील की शक्ति के आधार पर कुछ कांप्लकेशन्स प्रकट हो सकते हैं जिनमें ये शामिल हैं

  •     ट्रीट किये गये हिस्से का लाल होना।
  •     छाले।
  •     सूजन।
  •     छिलना या पपड़ी बनना।
  •     त्वचा पिगमेंटेशन में विभिन्नता जो अस्थायी या स्थायी हो सकती है।
  •     दाग रह जाना।
  •     इंफेक्शन।


हालांकि ज़्यादातर जोखिम या समस्याएं ट्रीटमेंट के कुछ दिनों के बाद खत्म हो जाती हैं लेकिन कुछ समस्याएं बनी रहती हैं जिनका ट्रीटमेंट ज़रूरी हो सकता है। यदि आपके साथ हर्पीज आउटब्रेक की कोई हिस्ट्री है या आपके साथ दाग रहने (केलॉयड्स) की संभावना अधिक है तो अपने डॉक्टर से सलाह लेकर उपयुक्त ट्रीटमेंट करायें। हृदय संबंधी बीमारियों की कोई हिस्ट्री भी कैमिकल पील्स ट्रीटमेंट कराने के दौरान कोई समस्या खड़ी कर सकती है।

कैमिकल पील्स से पूर्व सावधानियां

ट्रीटमेंट से पहले जिन कुछ पूर्व सावधानियों को अपनाया जा सकता है उनमें शामिल हैं- ट्रीटमेंट से पहले कम से कम पांच दिनों तक शेविंग, वैक्सिंग, ब्लीचिंग या किसी अन्य हेयर रिमूवल तकनीक द्वारा त्वचा को न छेड़ा जाये, त्वचा की स्क्रबिंग न की जाये। त्वचा पर कैमिकल पील्स ट्रीटमेंट के दौरान कोई सक्रिय इंफेक्शन नहीं होना चाहिये।

कैमिकल पील्स के बाद की सावधानियां

कैमिकल पील्स कराने के बाद डॉक्टर आपको फॉलो करने के कुछ गाइडलाइन्स देंगे या कुछ दवायें भी निर्धारित कर सकते हैं। प्रक्रिया के बाद अपनायी जाने वाली कुछ सावधानियां ये हैं- धूप में एक्सपोजर से बचना क्योंकि नयी त्वचा अत्यधिक संवेदनशील होती है और आसानी से सन बर्न का शिकार हो सकती है। हॉट शॉवर्स और खिंचाव उत्पन्न करने वाले व्यायाम से बचें। फ्लेकिंग त्वचा को खरोंचें नहीं क्योकि इससे दाग रह सकता है और ट्रीटमेंट का फायदा नहीं मिल सकता है।

उपयोग किये गये कैमिकल पील के प्रकार के अनुसार ऑफ्टरकेयर रूटीन प्रत्येक ट्रीटमेंट के लिये भिन्न हो सकते हैं। सुपरफिशियल कैमिकल पील्स को केवल बेसिक ऑफ्टरकेयर की ज़रूरत होती है जबकि डीप पीलिंग में ज़्यादा रिकवरी टाईम चाहिये होता है और ज़्यादा केयर करनी पड़ सकती है। हर एक कैमिकल पील्स के बाद कुछ बेसिक गाइडलाइन्स फॉलो करनी चाहिये जैसे सन एक्सपोजर से बचें क्योंकि त्वचा काफी संवेदनशील होती है। हीलिंग प्रक्रिया तेज करने के लिये त्वचा को सन एक्सपोजर से बचाना ज़रूरी है। ट्रीट की गयी त्वचा को नम रखें और ठंडे पानी से धोयें इसके बाद कोई सुझाया गया ऑयन्टमेन्ट लगायें। डीप पीलिंग कराने वाले पेशेन्ट्स को कुछ दिनों के लिये लिक्विड डाइट पर रहना पड़ सकता है।

 

 

 

Read More Articles On Beauty Treatment And Surgery

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES7 Votes 13836 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर