यौन स्वास्थ्य के लिए आयुर्वेद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 01, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

आयुर्वेदिक उपचार 5000 से अधिक वर्षों से भारत में इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेदिक उपचार आमतौर पर यौनविकारों से पीड़ित लोगों के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।

  • समयपूर्व फटना
  • नपुंसकता
  • सीधा होने के लायक़ रोग
  • कामेच्छा का कम हो जाना

आयुर्वेदिक उपचार आमतौर पर विभिन्न जड़ी बूटियों का मिश्रण होता है, जोकि यौन स्वास्थ्य औरसामान्य भलाई को बढ़ावा देने में जाना जाता है।

नपुंसकता के लिए आयुर्वेद: पुरुषों में नपुंसकतामहिलाओं में ठंडक के लिए तुलनीय होती है।नपुंसकता के कुछ लक्षण सेक्स एक्ट के प्रदर्शन या वरना अधूरा प्रदर्शन या संभोग के सुख तकपहुँचने में विफलता के लिए असमर्थता होती है।

 

आयुर्वेदिक चिकित्सा जो सेक्स की इच्छा बढाने के लिए या कामेच्छा के उपचार के लिए इस्तेमाल की जाती है, उसे “वाजिकर्माऊषाधीश” या “एफोरडिसिएक्स” कहते है।

  • आयुर्वेदिक उपचार:वैनारी गुटिका,मदन्नंदामोदक,वीर्या ,स्टार्नभा वटी,मकर्धवाज़ा,चन्द्रोदया रस,अपत्याकर स्वारस,शुक्राचार्य वल्लभ रस, कामेश्वर मोदक,गोखरु पाक,छुआरा हक,मुसाली पाक,बादाम पाक,कामदेव चूर्ण,गोखशुरद चूर्ण,नरसीघा चूर्ण,मदन प्रकाशचूर्ण,सतवर्यादी चूर्ण,म्रीतसंजीवनी सूरा,आदि नपुंसकता में फायदेमंद होतेहैं।
  • डाइटःस्वस्थआहार खायें,जिसमें उच्च प्रोटीन सामग्री,अंडे, मछली घी, मक्खन, सोयाबीन, हरीसब्जियां, फल, बादाम और अन्य सूखे मेवे भी शामिल होते है।
  • अन्य उपयोगी उपाय धूम्रपान और शराब कीखपत का परिहार, अपने आहार में वसाकीऔर कोलेस्ट्रॉलसीमितमात्रा रखना आदि होते है और नियमित शारीरिक व्यायाम करें।
  • कामेच्छा की कमी के लिए आयुर्वेदः  व्यस्त जीवन शैली,तनाव,परेशानी और थकान,कामेच्छा की कमी और असंतोषजनक यौन प्रदर्शन की कमी के लिए मुख्य कारण होते हैं।
  • नपुंसकता के लिए विभिन्नहर्बल उपचार अश्वगन्धारिष्ट,श्री गोपाल तेल हैं।
  • शराब पीने,धूम्रपान और मादक पदार्थों की लत से बचें,वजन कमकरे,नियमित व्यायाम और योगा करें।
  • पर्याप्त आराम लें और सोयें,आराम की तकनीक के साथ तनाव के स्तर को कम करना,और योगा करना।

सावधानीः विभिन्न हर्बल उपचारनपुंसकता में और अन्य यौन समस्याओं में लाभदायक होते हैं। लेकिन एक आयुर्वेदिक चिकित्सक से खुराक, अवधि, सुरक्षाउपायों, और आहार की आपूर्ति के संबंध में परामर्श करना चाहिए।

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES118 Votes 31176 Views 3 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर