मस्तिष्क देगा संकेत

By  ,  दैनिक जागरण
Dec 20, 2010
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Brain cellलकवे के शिकार मरीजों के लिए उम्मीद की किरण जागी है। वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि उन्हें मस्तिष्क द्वारा बोलने के संकेत मिले हैं।


'द जर्नल ऑफ न्यूरल इंजीनियरिंग' में प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि उटाह विश्वविद्यालय के डॉक्टरों ने मस्तिष्क से मिले संकेतों को 16 माइक्रोइलेक्ट्रोड्स का प्रयोग कर उन्हें शब्दों में लिखा है। इन माइक्रोइलेक्ट्रोड्स को मस्तिष्क के ऊपरी हिस्से में लगाया गया था।


अध्ययन का नेतृत्व करने वाले वैज्ञानिक प्रोफेसर ब्रैडले ग्रेगर ने बताया, 'हम मस्तिष्क से मिले संकेतों को अपनी तकनीक का इस्तेमाल कर शब्दों में बदल सकते हैं। यह तकनीक लकवाग्रस्त मरीज को समझने में काफी मददगार साबित होगी। अभी इसमें और सुधार की जरूरत है।'


अध्ययन में वैज्ञानिकों ने बताया है कि मस्तिष्क द्वारा भेजे गए संकेतों को कम्प्यूटर की मदद से शब्दों में लिखा जा सकता है। वैज्ञानिकों ने इस तकनीक का परीक्षण मिरगी के शिकार एक मरीज पर किया। उन्होंने उसके मस्तिष्क के ध्वनि केंद्रों (मस्तिष्क का वह भाग जो बोलने की शक्ति को नियंत्रित करता है) पर छोटे माइक्रोइलेक्ट्रोड्स के ग्रिड्स लगाए।


अपनी सफलता से उत्साहित डॉक्टरों का कहना है कि इस तकनीक से यह पता चल सकेगा कि लकवा ग्रस्त मरीज क्या सोचता और क्या चाहता है? लेकिन अभी इस तकनीक का और विकास किया जाना है, ताकि मरीज के बारे में सटीक जानकारी प्राप्त की जा सके।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES11350 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर