बैक्टीरिया करेगा सर्दी का इलाज

By  ,  दैनिक जागरण
Dec 20, 2010
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

वह दिन दूर नहीं जब हमें फ्लू और सर्दी से बचने के लिए दवाएं नहीं खानी पडें़गी। एक बैक्टीरिया (जीवाणु) इन बीमारियों का इलाज करेगा। जी हां, बैक्टीरिया से इलाज का यह तरीका खोजा है बेल्जियम के वैज्ञानिकों ने।

 

उन्होंने दही में पाए जाने वाले लाभदायक बैक्टीरिया, लैक्टोबैसिलस को फ्लू और सर्दी के खिलाफ इस्तेमाल किया है। इस बैक्टीरिया को चांदी के अति-सूक्ष्म 'नैनो कणों' के कैप्सूल में तब्दील कर दिया है। वैज्ञानिकों के अनुसार इस बैक्टीरिया को चांदी के नैनो कणों में लपेट देने से उनमें सर्दी और फ्लू के लिए जिम्मेदार वाइरस से लड़ने के लिए गजब की मारक क्षमता आ जाती है।

 

वैज्ञानिकों ने इन कैप्सूलों का परीक्षण नोरोवाइरस के खिलाफ किया, जो आंत्रशोथ जैसी बीमारी के 90 फीसदी मामलों में जिम्मेदार है। विशेषज्ञों का मानना है कि यह तकनीक इंफ्लूएंजा और सर्दी के मामलों में भी कारगर सिद्ध हो सकती है।

 

दल का नेतृत्व कर रहे प्रो. विली वर्सट्रेट का कहना है कि बैक्टीरिया को नाक के स्प्रे के साथ, पानी के फिल्टर और हाथ धोने के समय इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे फ्लू और सर्दी के वाइरस को फैलने से रोका जा सकेगा।

 

उन्होंने कहा, 'हम चांदी के नैनों कणों का इस्तेमाल कर रहें हैं। ये कण फ्लू और सर्दी के वाइरस के इर्द-गिर्द एक घेरा बना लेतें हैं, जिससे उनको फैलने से रोका जा सकता है। हम जानते हैं कि चांदी के नैनो कण इंसान के शरीर में नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसीलिए हमने उन्हें बैक्टीरिया की सतह के साथ जोड़ दिया है। इससे चांदी के नैनो कण शरीर में मुक्त रूप से घूम नहीें पाएंगे।'

 

गौरतलब है कि लैक्टोबैसिलस नाम का यह लाभदायक बैक्टीरिया सामान्य तौर पर दही में पाया जाता है और पाचन में सहायक होता है।


Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES13 Votes 12699 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर